बिहार में नहीं थम रहा अपराधियों का आतंक, मोकामा में दो लोगों की हुई हत्या

0

मोकामा : बिहार में एक तरफ कोरोना वायरस का संक्रमण लगातार बढ़ता ही जा रहा है ।वहीं दूसरी तरफ इस लॉक डाउन में भी बिहार में अपराध काम होने का नाम नहीं ले रहा । लॉक डाउन के दौरान अपराधी बेहद आसान तरीके से अपने मंसूबे को अंजाम दे रहे हैं। राज्य में महज कुछ ही घंटे के भीतर अपराधियों ने 9 लोगों की हत्या कर दी है। जिसमें पटना, बेगूसराय, मधेपुरा, सीवान, गोपालगंज और कैमूर में अपराधियों ने कई बड़ी वारदातों को अंजाम दिया। मालूम हो कि सूबे के अलग-अलग इलाकों में हुई 3-3 डबल मर्डर होने से पुलिस महकमे की नींद उड़ गई है।पुलिस इन मामलों की छानबीन में जुटी हुई है।

घोसवारी निवासी है मृतक

बिहार के पटना जिला अंतर्गत मोकामा टाल के घोसवरी के मधवा खंदा में गला दबाकर और पीट-पीट कर दो महादलित युवक की हत्या कर दी गयी है।मोकामा टाल से दोनों युवकों की डेड बॉडी को पुलिस ने बरामद किया है।दोनों के शव को पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए भेजा है।घटनास्थल पर पहुंचकर खुद ग्रामीण एसपी द्वारा खुद इस मामले में तफ्तीश भी किया गया है।

घटना की गुत्थी सुलझाने में लगी हुई है पुलिस की टीम

सूत्रों की माने तो यह घटना आपसी विवाद को लेकर हुआ है लेकिन पुलिस प्रशासन द्वारा अभी तक इस पर कोई सफाई नहीं दी गई है की घटना का मुख्य कारण क्या कुछ है। गौरतलब है कि शुक्रवार की मध्यरात्रि में रामनगर मुसहरी निवासी देवव्रत मांझी और सोल्जर मांझी अपने किसी निजी कार्य से बाहर गए हुए थे और टाल के रास्ते अपने घर को वापस आ रहे थे इसी दौरान कुछ लोगों द्वारा उनके साथ हाथापाई की गई जिसके बाद बदमाशों द्वारा लाठी-डंडे से पीटकर और गला दबाकर उनकी हत्या कर दी गई।हत्या की इस घटना के बाद महा दलित समुदाय में भारी आक्रोश है।

दैनिक मजदूरी करता था युवक

दोनों युवक दैनिक मजदूरी कर अपने परिवार चलाते थे।डबल मर्डर की इस घटना का कारण अभी तक पुलिस द्वारा नहीं बताया गया और ना ही किसी पर नामजद पर प्राथमिकी दर्ज करवाई गई है। बस कुछ स्थानीय लोगों द्वारा कयास लगाया जा रहा है कि एक विशेष तबके के  लोगों द्वारा जमीन विवाद को लेकर यह हत्या की गई है।

swatva

Leave a Reply