23 जनवरी : मुजफ्फरपुर की मुख्य खबरें

0

आम लोगों से मुलाकात कर समस्याओं का ऑन द स्पॉट किया गया निष्पादन

मुजफ्फरपुर : जिलाधिकारी ने आज अपने कार्यालय कक्ष में आम लोगों से मुलाकात की एवं उनकी समस्याओं से रूबरू हुए। साथ ही जिलाधिकारी के द्वारा दर्जनों मामलों का त्वरित निष्पादन ऑन द स्पॉट किया गया। कई आवेदनों को संबंधित विभागों के अधिकारियों को शीघ्र निष्पादन करने के दृष्टिगत उपलब्ध कराया गया और निर्देश दिया गया कि दिए गए आवेदनों के विरुद्ध त्वरित कार्रवाई करना सुनिश्चित किया गया जाए।

जनता दरबार में सुरेश प्रसाद सिंह मोतीपुर, सोनू कुमार -कुढ़नी,मोहम्मद इम्तियाज अहमद मुजफ्फरपुर, रामपुकार दास औराई ,नुनुवा देवी कांट, अनीता कुमारी मुसहरी, सत्येंद्र प्रसाद कुशवाहा-मीनापुर, सलोनी कुमारी मुजफ्फरपुर, महेश महतो काजी मोहम्मदपुर, रीता कुमारी, ललिता देवी अपने आवेदन के साथ सैंकड़ों लोग जनता के दरबार में पहुंचे।

ज्यादातर मामले वृद्धा पेंशन, भूमि विवाद ,पीएमजीपी लोन, जमीन का सीमांकन ,ट्राई साइकिल,आयुष्मान कार्ड आईसीडीएस और आपदा प्रबंधन, नल जल, कन्या उत्थान, वासगीत पर्चा से संबंधित थे। कुछ दिक्कत भूमि विवाद, अनुग्रह अनुदान, विधुत आपूर्ति इत्यादि से सम्बंधित थे।

गोली मारकर हत्या करने का किया गया प्रयास

मुजफ्फरपुर : जिले के कांटी थाना क्षेत्र में एक व्यक्ति को गोली मारकर हत्या करने का प्रयास किया गया है। घटना के संबंध में बताया जाता है कि क्षेत्र स्थित भेड़िया चौंक रतनपुरा, साइन का केशव कुमार, अरविनद मिश्रा साईकिल से घर लौट रहा था कि बाइक सवार दो युवक आ कर उसे पटक कर पैर में गोली मारकर भाग गया जिससे केशव घायल हो गया। घटना के संबंध में बताया जाता है कि यह घटना आपसी दुश्मनी में बताया जाता है। पुलिस द्वारा जांच शुरू कर दी गई है। ज्ञात हो कि केशव के पिता अरविंद मिश्रा पारू प्रखंड में गांव सेवक है।

जब्त शराब को नष्ट कर, गाड़ियों की नीलामी में तेजी लाने का निर्देश

मुजफ्फरपुर : जिलाधिकारी मुजफ्फरपुर प्रणव कुमार की अध्यक्षता में मद्य निषेध की समीक्षात्मक बैठक उनके कार्यलय कक्ष में हुई। जिलाधिकारी ने समीक्षा के क्रम में केसों के निष्पादन में तेजी लाने का निर्देश दिया। वहीं जब्त शराब के विनष्टी करण एवं जब्त गाड़ियों के नीलामी की प्रक्रिया में तेजी लाने का निर्देश दिया। केसों के निष्पादन एवं राज्यसात के मामले में तेजी से कार्रवाई करने का निर्देश दिया।

उन्होंने कहा कि मध निषेध को लेकर गंभीरता पूर्वक अपने दायित्व का निर्वहन करना सुनिश्चित करें ।इसमें किसी भी तरह की कोताही पर जिम्मेदारी तय की जाएगी। वही बैठक में उपस्थित उत्पाद अधीक्षक ने बताया कि मद्द निषेध विभाग मुजफ्फरपुर के द्वारा कार्य योजना तैयार कर शराब माफियाओं के द्वारा प्रयुक्त किए जाने वाले वाहन एवं स्थलों पर सघन छापामारी कर उनके विरूद्ध सख्त कार्रवाई की गई है।

उन्होंने कहा कि विभिन्न राजमार्गों में सक्रिय शराब माफियाओं के विरुद्ध छापेमारी की गई है, एवं माफियाओं के संरचनाओं को ब्रेक किया गया है। उन्होंने कहा कि 1 अप्रैल 2016 से 31 दिसंबर 2020 तक कुल 8029 अभियोग दर्ज किये गए तथा कुल 10160 व्यक्तियों को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेजा गया। इस अवधि में कुल 1171748 लीटर अवैध शराब को जप्त किया गया एवं 1143997 लीटर शराब को विनिष्ट किया गया।शेष की विनिष्टिकरण की कार्रवाई की जा रही है। मुजफ्फरपुर जिले में शराबबंदी अभियान के तहत मद्य निषेध विभाग मुजफ्फरपुर के द्वारा इस अवधि में अब तक कुल 41 वाहनों की नीलामी की गई है।

संसाधन एवम् जोखिम मानचित्र बनाने पर दिया गया प्रस्तुतीकरण

मुजफ्फरपुर : आज जिला आपदा प्रबंध प्राधिकरण मुजफ्फरपुर एवम् नेहरू युवा केंद्र मुजफ्फरपुर के संयुक्त तत्वाधान में राष्ट्रीय युवा स्वयंसेवकों की बहू आपदा जोखिम न्यूनीकरण विषयक प्रशिक्षण कार्यक्रम का दूसरे दिवस के कार्यक्रम का आयोजन जिला सभागार, समाहरणालय मुजफ्फरपुर में किया गया।

इस द्वितीय दिवस के प्रथम सत्र में प्रथम दिवस का पुर्वनोलोकान किया गया जिसमें प्रतिभागियों द्वारा चर्चा कि गई। द्वितीय सत्र में श्री मो० साकिब खान, कंसलटेंट/डीएम प्रोफेशनल, जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण मुजफ्फरपुर द्वारा मुजफ्फरपुर द्वारा बाढ़ प्रबंधन में विभिन्न विभागों, हितभगियों व एजेंसियों की भूमिका एवम् इंसिडेंट रेस्पॉन्स सिस्टम विषय पर युवा को जागरुक किया गया।

तृतीय सत्र में परिवहन विभाग के अमरेन्द्र कुमार एवम् मोटर यान निरीक्षक रंजीत कुमार द्वारा सड़क दुर्घटना के कारण एवम् रोकथाम के उपाय के साथ साथ युवा स्वयंसेवकों की सड़क सुरक्षा में भूमिका पर चर्चा की गई। राष्ट्रीय युवा स्वयंसेवकों के इस क्षमता वर्धन प्रशिक्षण कार्यक्रम में श्री मो० साकिब खान कंसलटेंट/डीएम प्रोफेशनल, जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण मुजफ्फरपुर द्वारा ग्राम आपदा प्रबंधन एवम् न्यूनीकरण योजना पर सूचनाओं को प्रविष्ट कर योजना का निर्माण करना तथा संसाधन एवम् जोखिम मानचित्र बनाने पर प्रस्तुतीकरण दिया गया।

श्री राकेश कुमार, प्रोग्रामर जिला आपातकालीन संचालन केंद्र, मुजफ्फरपुर द्वारा पूर्व चेतावनी प्रणाली, आपातकालीन प्रबंधन के साथ-साथ आपदा प्रबंधन में तकनीकी की बढ़ती भूमिका के बारे में प्रस्तुतीकरण दी गई ।श्री चंदेश्वर सिंह टीम कमांडर एस डी आर एफ मुजफ्फरपुर द्वारा विभिन्न आपदाओं जैसे बाढ़,भूकंप के समय में क्या करना चाहिए एवम् क्या नहीं करना चाहिए संबंधी एक मॉकड्रिल कराया गया। द्वितीय दिवस के अंतिम सत्र में श्री सत्येन्द्र निरीक्षक एस. डी. आर. एफ मुजफ्फरपुर द्वारा बेसिक मेडिकल रेस्पॉन्स तथा सुरक्षित निष्कासन की प्रमुख विधियों के बारे में बताया गया। तत्पश्चात धन्यवाद ज्ञापन बाद सत्र का समापन किया गया।

पीड़ित परिवार को त्वरित न्याय मिले : अजीत कुमार

मुजफ्फरपुर : रोनोजीत पासवान के हत्यारों की शीघ्र गिरफ्तारी, सरकारी घोषणा के अनुरूप परिवार के एक सदस्य को नौकरी एवं शेष बचे मुआवजा की राशी का भुगतान के मांग को लेकर शुक्रवार को सामाजिक कार्यकर्ताओं का एक प्रतिनिधि मंडल पूर्व मंत्री अजीत कुमार के नेतृत्व में जिलाधिकारी प्रणव कुमार से मिला एवं उन्हें एक ज्ञापन सौंपा।

जिलाधिकारी को शौपे गए ज्ञापन में अभी तक फरार अपराधियों को गिरफ्तार करने, मुआवजा का बचे पांच लाख रुपया का शीघ्र भुगतान कराने एवं सरकार की घोषणा के अनुरूप परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने के साथ ही परिवार को पूर्ण सुरक्षा मुहैया कराने की मांग प्रमुख हैं। जिलाधिकारी से मिलने के बाद पूर्व मंत्री अजीत कुमार ने बताया की जिलाधिकारी ने सारी मांगों को गंभीरता से लेते हुए शीघ्र कार्रवाई करने का आश्वासन दिया है।

उन्होंने कहा कि पीड़ित परिवार को त्वरित न्याय मिले, आगे अजीत कुमार ने कहा कि यदि न्याय मिलने में विलंब होगी तो हम सड़क पर उतरेंगे जिलाधिकारी से मिलने वालों में मृतक के पिता शिवजी पासवान, एलजेपी के जिला अध्यक्ष अजय कुमार सिंह, अजय चौधरी, सुधीर सिंह,मोहम्मद शमीम, नरेंद्र कुमार सिंह, धर्मेंद्र मिश्रा, मुन्नू सिंह, राहुल कुमार, राकेश कुमार सिंह आदि प्रमुख थे।

swatva

Leave a Reply