आर्यन्स बिजनेस स्कूल में द नेक्स्ट इमर्जिंग एमबीए डेस्टिनेशन विषय पर वेबिनार का आयोजन

0

पटना : आर्यन्स बिजनेस स्कूल, राजपुरा और यूनिवर्सिटी कनाडा वेस्ट, कनाडा ने ‘‘कनाडा: द नेक्स्ट इमर्जिंग एमबीए डेस्टिनेशन’’ पर संयुक्त रूप से एक वेबिनार का आयोजन किया। इस वेबिनार की अध्यक्षता आर्यन्स ग्रुप के चेयरमैन डॉ. अंशु कटारिया ने किया। वहीं दीपांशु सिंगला ने बिजनेस डव्लपमेंट मैनेजर, यूनिवर्सिटी कनाडा वेस्ट ने आर्यन्स के मैनेजमेंट, इंजीनियरिंग, कानून, नर्सिंग, फार्मेसी, शिक्षा और कृषि के विद्याॢथयों और फैकल्टी मैबर्स को सबोधित किया।

सिंगला ने विद्यार्थियों के साथ बातचीत करते हुए कहा कि आसानी से वर्क परमिट हासिल करने के कारण कनाडा लंबे समय से विदेशी एमबीए छात्रों के लिए एक आकर्षक अध्ययन स्थल रहा है, लेकिन अब इसकी मांग आसमान छू रही है। एमबीए प्रोग्राम से स्नातक, पोस्ट-ग्रेजुएट वर्क परमिट के साथ तीन साल तक काम करने के लिए कनाडा में रह सकते हैं।

सिंगला ने आगे कहा कि कई अन्य देशों की तुलना में, एमबीए के बाद कनाडा की वीजा नीतियां काफी उदार हैं क्योंकि पिछले साल 10,950 पूर्व अध्ययन परमिट धारक कनाडा के स्थायी निवासी बन गए थे। कनाडा उद्यमिता के लिए दुनिया में 7 वें स्थान पर है और सर्वश्रेष्ठ देशों के अनुसार व्यापार के लिए खुला है। कनाडा के बिजनेस स्कूल एक बड़े विदेशी भर्ती अभियान पर हैं।

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि विद्यार्थी आर्यन्स ग्रुप ऑफ कॉलेजिस के माध्यम से केनेडियन विश्वविद्यालयों में शामिल हो सकते हैं। विद्याॢथयों को पात्रता मानदंड को पूरा करने की आवश्यकता है जैसे कि आईलैटस स्कोर और न्यूनतम शैक्षणिक आवश्यकता। ग्रेजुएट मैनेजमेंट एडमिशन काउंसिल के अनुसार, केनेडियन बिजनेस स्कूलों ने पिछले साल आवेदनों में 7.7 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की है।

प्रभात रंजन शाही

 

swatva

Leave a Reply