प्राचीन योग भारत का अमूल्य उपहार व धरोहर – पप्पू वर्मा

0

पटना : पूरे देश में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर आज सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए योग दिवस मनाया गया। वहीं इस अवसर पर उपस्थित युवाओं को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की बधाई देते हुए पटना विश्वविद्यालय के सिंडिकेट सदस्य पप्पू वर्मा ने कहा कि प्राचीन योग भारत का अमूल्य उपहार व धरोहर है।वैश्विक महामारी के इस दौर में मन को शांत रखने में योगाभ्यास सहायक सिद्ध होगा।

योग हमारे तन, मन, जीवन ,आत्मा के शुद्धीकरण का विशेष मार्ग

युवा नेता पप्पू वर्मा ने कहा कि योग हम सभी प्राणियों में आत्मविश्वास लाता है योग हमारे तन, मन ,जीवन ,आत्मा के शुद्धीकरण का विशेष मार्ग है। हम लोग जीवन को योग से जोड़ने का संकल्प सिद्ध कर चुके हैं। योग हमें स्वस्थ भी रखता है और स्फूर्ति भी प्रदान करता है।काम और जीवन के बीच संतुलन बनाकर चलने में बहुत मुश्किलों का सामना करना पड़ता है मानव जीवन को संतुलित रखने के लिए योग अति आवश्यक है।

मानसिक तनाव एवं अन्य प्रकार की शारीरिक समस्याओं को मुक्त रखता है योग

वर्मा ने कहा कि मानसिक तनाव एवं अन्य प्रकार की शारीरिक समस्याओं को मुक्त रखने के लिए योग अत्यंत लाभकारी है । हम लोगों को योग के माध्यम से जन जन तक संदेश पहुंचा कर स्वस्थ समाज और स्वस्थ राष्ट्र का निर्माण में सहभागी बनना होगा। वैश्विक महामारी को देखते हुए कम संख्या में ही योग दिवस मनाया गया।

इस अवसर पर विक्की शाह ,हरिओम दिनकर, पीयूष कुमार, सुजल कुमार ने योगाभ्यास में भाग लिया। मौके पर सभी लोगों ने संपूर्ण देशवासियों को योग दिवस की बधाई दिया।

swatva

Leave a Reply