नानक के जीवनादर्शों से एकता, बंधुता व सद्भावना की मिलती है सत्प्रेरणा: राज्यपाल

0

पटना: राज्यपाल फागू चौहान ने सिखों के आदिगुरू गुरू नानक देव की जयन्ती के सुअवसर पर सभी देशवासियों व बिहारवासियों को अपनी बधाई एवं शुभकामनाएँ दी है। इस मौके पर राज्यपाल ने कहा कि गुरू नानक देव जी के संदेश आत्मिक शांति, भक्ति, समर्पण, तपस्या और भाईचारा की ओर मानवता को उन्मुख करते हैं। उनके जीवनादर्शों से सबको देश व समाज में एकता, बंधुता, समता और सद्भावना कायम रखने की सत्प्रेरणा मिलती है।

राज्यपाल ने अनुरोध किया है कि ‘गुरू नानक जयन्ती’ शांति, सौमनस्य और प्रेमपूर्वक मनायी जानी चाहिए। साथ ही राज्यपाल फागू चौहान ने ‘कार्तिक पूर्णिमा’ के सुअवसर पर भी बिहारवासियों व देषवासियों को शुभकामनाएँ दी है।

ज्ञातव्य हो कि कार्तिक पूर्णिमा के दिन देव दीपावली भी मनायी जाती है। इस तिथि को ही महादेव ने त्रिपुरासूर नामक राक्षस का संहार किया था। इससे प्रसन्न होकर देवताओं ने गंगा में दीप दान किया था। इसलिए इस तिथि पर गंगा में दीप जलाकर देव दीपावली मनायी जाती है। बनारस में कार्तिक पूर्णिमा पर देव दीपावली मनायी जाती है।

कार्तिक पूर्णिमा पर ही भीष्म पंचक व्रत का समापन, हरिहर क्षेत्र मेला का शुभारंभ होगा। ऐसी मान्यता है कि इसदिन सभी देवी-देवता भी जाग जाएंगे। कार्तिक मास स्नान का भी समापन होगा। कार्तिक मास का कल्पवास भी कार्तिक पूर्णिमा के दिन संपन्न होगा। प्रयाग,काशी, सिमरिया में श्रद्धालु एक महीने तक गंगा तट पर ही रहते हैं। वहीं प्रात:काल गंगा में स्नान व ध्यान करते हैं।

swatva

Leave a Reply