वैश्विक महामारी के समय प्राकृतिक आपदा का आना बहुत ही दुखदाई – पप्पू वर्मा

0

पटना : पूरे देश में वर्तमान में कोरोना वायरस एक महामारी के तौर पर फैल चुका है। हर कोई इस वायरस से जल्द से जल्द निजात पाना चाहता है। वहीं इस वायरस का कहर कम होने का नाम ही के रहा है।वहीं इस बीच भारत के कुछ राज्यों में एक और प्राकृतिक आपदा के कारण लोगों में उथल-पुथल सी मच गई है। देश के कुछ राज्यों में कुछ दिन पूर्व सुपर चक्रवात अम्फान ने तबाही मचा कर रख दिया है। इस तूफान से सबसे अधिक प्रभावित राज्य पश्चिम बंगाल और उड़ीसा रहा। जिसके बाद इन दोनों राज्यों में देश के प्रधानमंत्री ने दोनों राज्यों के मुख्यमंत्री से बातचीत कर खुद हवाई सर्वेक्षण भी किया।

प्रधानमंत्री ने चक्रवात में तबाह हो चुके लोगों को विश्वास दिलाने का किया काम

वहीं इस बीच पटना विश्वविद्यालय के सिंडिकेट सदस्य पप्पू वर्मा ने कहा कि सुपर चक्रवात अम्फन के कारण उड़ीसा,पश्चिम बंगाल, में बड़े पैमाने पर जान-माल की क्षति हुई है। इस प्राकृतिक आपदा से कई राज्यों में जनजीवन पूरी तरह से प्रभावित हुआ है। वर्मा ने कहा कि वैश्विक महामारी के समय प्राकृतिक आपदा का आना बहुत ही दुखदाई है और उन राज्यों के जनता के लिए अत्यंत कष्टप्रद है। लेकिन देश के प्रधानमंत्री ने इन सभी कष्टों के बावजूद भी चक्रवात से प्रभावित राज्यों का तुरंत दौरा कर चक्रवात में तबाह हो चुके लोगों को विश्वास दिलाने का काम किया है की वर्तमान केंद्र की सरकार हर समय हर परिस्थिति में आपको मदद करने के लिए आपके दुखों के साथ खड़ा है। प्रधानमंत्री ने दोनों राज्यों का दौरा कर पश्चिम बंगाल सरकार को 1000 करोड़, और उड़ीसा को 500 करोड़ मदद देने की घोषणा भी किया है।

मुसीबत के समय पूरा देश एक साथ

आज पूरा देश चक्रवात से प्रभावित इन राज्यों के लोगो के दुखों से दुखी है और इस मुसीबत के समय उनके साथ संवेदना रखती है। अब दोनों राज्यों के सरकारों का फर्ज बनता है कि आपदा में अपनी जान माल गवा चुके प्रभावित उन लोगों को जल्द से जल्द राहत मुहैया कराते हुए राजनीति से परे हटकर केंद्र सरकार के साथ पुनर्निर्माण हेतु एकजुटता के साथ मिलकर वैश्विक महामारी के समय दोगुनी मार झेल रहे पीड़ित लोगों को मदद के लिए शीघ्र से शीघ्र कदम उठाएं।

swatva

Leave a Reply