VIP को विप में चाहिए 4 सीट, वरना एनडीए के खिलाफ उतारेगी उम्मीदवार

0

पटना : बिहार में पंचायत चुनाव की समाप्ति के उपरांत विधान परिषद चुनाव की तैयारी शुरू हो गई है। स्थानीय निकाय के 24 सीटों पर होने वाले चुनाव को लेकर सभी राजनीतिक पार्टियों में गहमागहमी शुरू हो चुकी है। एक तरफ जहां 24 सीटों को लेकर राजद कांग्रेस में कुश्ती का माहौल है तो, वहीं राज्य में सत्तारूढ़ दल भाजपा और जदयू , हम और वीआईपी भी स्थिति इससे इतर नहीं दिख रही है। इसी कड़ी में एनडीए में शामिल विकासशील इंसान पार्टी ने अब अपना रंग दिखाना शुरू कर दिया है। मुकेश सहनी ने एनडीए गठबंधन में 24 में से 4 सीट देने की मांग कर दी है।

एक दैनिक अखबार को साक्षात्कार देते हुए विकासशील इंसान पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुकेश सहनी ने कहा कि उनको बिहार विधान परिषद स्थानीय निकायों के 24 सीटों पर होने वाले चुनाव में एनडीए कोटे में से 4 सीट चाहिए। मुकेश सहनी ने कहा कि यदि भाजपा और जदयू उनको 4 सीट नहीं देती है तो वह अकेले मैदान में उतरेंगे।

swatva

बिहार विधान परिषद चुनाव में विकासशील इंसान पार्टी अपना उम्मीदवार उतारेगी

वहीं, इसके अलावा विकासशील इंसान पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता बिहार के न्यूज पोर्टल को इंटरव्यू देते हुए कहा कि उनकी पार्टी चाहती है कि बिहार विधान परिषद चुनाव को लेकर एनडीए में शामिल सभी दल एक साथ बैठ कर बात करें। उन्होंने कहा कि बिहार विधान परिषद चुनाव में विकासशील इंसान पार्टी अपना उम्मीदवार उतारेगी यह बिल्कुल सत्य है। उन्होंने कहा कि हम चाहते हैं कि एनडीए की बड़ी पार्टियां हमसे भी बात करे। साथ ही यदि ऐसा नहीं होता है तो फिर भी हम तैयार हैं। हम अपना उम्मीदवार उतारेंगे। उन्होंने कहा कि वीआईपी बीजेपी और जेडीयू के खिलाफ भी उम्मीदवार उतारने को तैयार है। यह स्वाभाविक बात है।

बीजेपी और जेडीयू के बीच 50-50 पर हो रही बात

बता दें कि, इससे पहले एनडीए में शामिल हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के तरफ से भी इस बात का ऐलान किया गया है कि उनके पार्टी बिहार विधानसभा चुनाव में 2 सीटों पर उम्मीदवार उतारेगी।वहीं, दूसरी तरफ एमएलसी चुनाव को लेकर बीजेपी और जेडीयू के बीच 50-50 पर बातचीत की खबर चल रही है। लेकिन बीजेपी के नेता इस बात को मानने को तैयार नहीं हैं। इसको लेकर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल सीधे तौर पर कह चुके है कि भाजपा की केंद्रीय संसदीय समिति इस मुद्दे पर अंतिम निर्णय लेगी।

बहरहाल, देखना यह है कि एनडीए में उठी इस घमासान को गठबंधन में शामिल दो बड़े दल के नेता किस प्रकार शांत करते हैं क्योंकि सीटों को लेकर सारा फैसला इन्हीं दो दलों पर मुख्य रूप से है। क्योंकि इससे पहले, बिहार विधान परिषद सीटिंग की बात करें तो इसमें से 13 सीट पर बीजेपी, आठ सीट पैर जेडीयू, दो सीट पर राजद और एक सीट पर कांग्रेस का कब्ज़ा था।

 

Leave a Reply