तेज का कड़ा प्रहार, कहा : छात्र और जनता ही मेरे लिए पार्टी

0

पटना : जेपी जयंती के अवसर पर लालू प्रसाद यादव के बड़े लाल और बिहार के पूर्व मंत्री तेजप्रताप यादव बड़े क्रांति का आगाज किया। उन्होंने राजधानी पटना के गांधी मैदान से जेपी आवास तक अपने समर्थकों के साथ पैदल मार्च करेंगे।

इस आंदोलन को लेकर तेजप्रताप ने कहा है कि जेपी जयंती से अच्छा मौका नहीं मिलता इसलिए भ्रष्टाचार, अशिक्षा, स्वास्थ्य व्यवस्था में गिरावट के खिलाफ हमने क्रांति का आगाज करने का निर्णय लिया है और नाम रहेगा एलपी मूवमेंट।

जो चाटुकार हैं वो खुद साइड हो जाएंगे

उन्होंने कहा कि पटना में होने वाले इस मार्च के लिए छोटे भाई तेजस्वी यादव समेत राजद नेताओं को भी इस शांति मार्च में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया है। वहीं तेजप्रताप ने लालू प्रसाद के आने के सवाल पर कहा है कि पिताजी पटना आएंगे तो साथ में ही रहेंगे और जो चाटुकार हैं वो खुद साइड हो जाएंगे।

इसके साथ ही तेजप्रताप यादव ने कहा कि लोकनायक जयप्रकाश नारायण की आज जयंती है और मैं उनको अपना आदर्श मानता हूं। उन्होंने कहा कि 1974 में जो संपूर्ण क्रांति हुई थी उस दौरान सभी दल के नेता एक थे। तेजप्रताप यादव ने कहा कि इस दौरान मेरे पिता जी सबसे आगे रहे और पटना विश्वविद्यालय के छात्र नेता भी चुने गए। उन्होंने इस दौरान छात्र नौजवानों को एकजुट करके जेपी आंदोलन में संपूर्ण समर्थन किया था।

इसके साथ ही उन्होंने बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और अपनी मां राबड़ी देवी से ना मिलने को लेकर कहा कि वह हमेशा अपने मां से आशीर्वाद लेते रहते हैं आज भी वह मां से आशीर्वाद लेकर आए हैं,इसके साथ ही उन्होंने राम तिवारी पर निशाना साधते हुए कहा कि वह भाजपा के एजेंट बन गए हैं। इसके साथ ही उन्होंने न कहा कि जिस तरह से जयप्रकाश नारायण में छात्र हितों के लिए लड़ाई किया था उसी तरह मैं भी साथ होता तो एलपी मोमेंट शुरू किया हूं। उन्होंने पार्टी को लेकर कहा कि छात्र और जनता ही मेरे लिए पार्टी है।

 

swatva

Leave a Reply