राम जन्मभूमि के अस्थाई मंदिर में विराजमान हुए रामलला

0

अयोध्या : 70 साल के लंबे इंतजार के बाद बुधवार तड़के सुबह गर्भगृह से पहली बार रामलाला को बाहर निकाल कर नए भवन के नए आसन पर विराजित किया गया।इस दौरान उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मंगलवार को देर रात में अयोध्या पहुंचे।रामलाला का नया सिंहासन साढ़े नौ किलो चांदी से बनवा कर अयोध्या राज परिवार के मुखिया विमलेंद्र मोहन प्रताप मिश्र ने राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट को समर्पित किया है।

पीतल की थाल पर बैठ नए भवन के लिए प्रस्थान किए रामलला

राम जन्म भूमि में विराजमान रामलला को पहली बार पीतल की थाल में चावल और फूलों के बनाए गए आसन पर बैठ कर किया। रामजन्म भूमि के गर्भ गृह में रामलाला के साथ उनके तीनों भाई भरत, शत्रुघ्न और शेषावतार लक्ष्मण जी के आलावा हनुमंत लला भी विराजमान है।

सुबह चार बजे प्रतिष्ठा उत्सव में भाग लिए योगी

रामजन्मभूमि परिसर में नवनिर्मित अस्थाई मंदिर में रामलला को स्थानांतरित करने के लिए बुधवार को प्रतिष्ठा उत्सव में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी शामिल हुए।सीएम योगी मंगलवार की शाम हेलीकॉप्टर से अयोध्या हवाई अड्डा पहुंचे।यहां से सर्किट हाउस के लिए रवाना हो गए। सीएम सुबह चार बजे ही नवनिर्मित अस्थाई मंदिर में रामलला को स्थानांतरित करने के लिए प्रतिष्ठा उत्सव में भाग लेने पहुंच गए।

लॉक डाउन के कारण एल एंड टी कंपनी के नेशनल हेड ने स्थगित किया दौरा

रामजन्मभूमि में विराजमान रामलला के नए भवन में स्थानांतरण के बाद मंदिर निर्माण की प्रक्रिया शुरू करने से पहले एल एंड टी कंपनी के नेशनल हेड कुलदीप गोयल का प्रथम दौरा प्रस्तावित था।मंदिर निर्माण ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने बताया कि कोरोना वायरस के चलते उत्तर प्रदेश समेत देश में लॉक डाउन की घोषणा के कारण उनको अपना दौरा स्थगित कर दिया गया है।

तेजप्रताप शर्मा

 

 

 

swatva

Leave a Reply