प्रवासी मजदूरों से हालचाल पूछना उचित नहीं समझते हैं तेजस्वी: अरविन्द सिंह

0

पटना: भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता अरविन्द कुमार सिंह ने कहा कि नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव पिछले वर्ष मई 2019 के लोकसभा चुनाव में अपना बहुमूल्य वोट देने बूथ पर नहीं गए। तेजस्वी ने वोट न देकर किस तरह लोकतंत्र का मखौल उड़ाया है, बिहार की जनता देखी थी।

भाजप प्रवक्ता ने तेजस्वी से सवाल करते हुए कहा कि तेजस्वी बताएं कि लोकतंत्र का मतलब क्या है? बूथ पर आम जनता मजदूर वर्ग लाइन में लगे होते हैं, तो कहीं उनको मजदूरों से और छोटे तथा गरीब वर्ग के वोटर से परहेज तो नहीं था ? गरीब वोटरों के गंदे कपड़े और धूल मिट्टी लगे हाथों से उनको अपना हाथ गंदा होने का डर तो नहीं था ?

वैसे नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव 14 दिनों के लिए अपने को क्वारंटाइन किए हुए का एक बहुत अच्छा बहाना है, पार्टी के महत्वपूर्ण लोगों से वहीं पर मिलना हो जाता है। जब की आज भी दूसरे राज्य से आए हुए हमारे गरीब मजदूर भाइयों से ना तेजप्रताप प्रताप यादव ना उनके परिवार के कोई और कहीं मिले हैं। ना उनका खैरियत पूछने का काम किया है। सिर्फ अपने वोट बैंक की चिंता की है, सिर्फ राजद की सदस्यता का काम के लिए ट्विटर और फेसबुक तथा समाचार चैनलों के माध्यम से बयान देने का काम किया है।

भाजपा प्रवक्ता कहा कि तेजस्वी यादव ने ना तो किसी प्रवासी मजदूरों से मिलने का काम किया ना किसी का हालचाल पूछने का काम किया है, इससे साफ़ जाहिर होता है कि सारे विपक्ष सिर्फ वोट बैंक की राजनीति के लिए जनता को उकसाने और बरगलाने और सरकार को हतोत्साहित करने का काम कर रहे हैं।

swatva

Leave a Reply