नहीं रहे प्रो. वीपी वर्मा, कुलपति को पितृशोक

0

मुंगेर : मुंगेर विश्विद्यालय के कुलपति प्रो रंजीत कुमार वर्मा के पिता प्रो विश्वनाथ प्रसाद वर्मा का 90 वर्ष की आयु में हृदय गति रुकने के कारण सोमवार को निधन हो गया।

जानकारी हो कि प्रो विश्वनाथ प्रसाद प्रख्यात रसायन शास्त्री और वह गया कॉलेज में रसायन शास्त्र विभागाध्यक्ष भी थे। इनके बारे में विशेष जानकारी देते हुए मुंगेर विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर रंजीत कुमार ने बताया कि उनके पिता ने साठ और असित के दशकों में अपने विश्वविद्यालय में किसी प्रकार का कदाचार नहीं होने देते थे। इन्होंने कदाचार के आरोप में लगभग हजारों छात्रों का निष्कासन किया था। इसके साथ ही यह भारत विकास परिषद के अविभाजित बिहार प्रांत के अध्यक्ष रहे थे।

इसके साथ ही प्रो विश्वनाथ प्रसाद वर्मा ने ही गया में रोटरी क्लब की स्थापना 1956 में अधिवक्ता धनेश प्रसाद के साथ मिलकर किया था। इन्होंने रसायन शास्त्र विभागाध्यक्ष के अपने कार्यकाल में भारत के 27 में वार्षिक रसायन सम्मेलन को विभाग में आयोजित किया था। बिहार में पहली बार आयोजित इस पांच दिवसीय सम्मेलन में शास्त्रों में शोध पत्र पढ़े गए और 500 व्यक्तियों की सहभागिता वाले इस विश्वविद्यालय को आज भी प्रथम अकादमिक अधिवेशन के रूप में याद किया जाता है।

इनके बारे में कहा जाता है कि मगध का क्षेत्र और खासकर गया- बोधगया की धरती पर इनकी छवि एक अतुलनीय और प्रख्यात शिक्षाविद की रही है। कहा जाता है कि मगध विश्वविद्यालय की स्थापना हेतु भूभाग के दान के लिए दान कर्ताओं को तैयार करवाना या फिर गया कॉलेज के लिए अतिरिक्त भूभाग का प्रयास सभी में इनका योगदान रहा है।

swatva

Leave a Reply