बूस्टर डोज नहीं तो वेतन नहीं, इस जिले के DM ने जारी किया आदेश

0

समस्तीपुर : बिहार में कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर ने रफ्तार पकड़ ली है। इससे बचाव के लिए वैक्सीनेशन अभियान भी लगातार चलाया जा रहा है। इन सबके के साथ ही फ्रंटलाइन वर्कर्स को कोरोना का बूस्टर डोज भी दी जा रही है। लेकिन इसके बाबजूद भी कुछ ऐसे भी सरकारी कर्मचारी हैं, जो बूस्टर डोज नहीं ले रहे हैं।

दरअसल, कोविड के खिलाफ वैसे सभी फ्रंटलाइन वर्कर और हेल्थ वर्कर को बूस्टर डोज लेना है, जिनका दूसरा टीका लेने के नौ माह की अवधि पूरा हो गया हो। बूस्टर डोज को लेकर बिहार के तमाम जिले में 10 और 11 जनवरी को विशेष अभियान शिविर आयोजित भी किया गया था, इसके बावजूद समस्तीपुर जिले के चिन्हित लाभार्थी, जिसमें 10 हजार 480 स्वास्थ्य कर्मी व 3028 फ्रंटलाइन वर्कर्स ने बूस्टर डोज नहीं लिया है।

इसी के मद्देनजर समस्तीपुर जिलाधिकारी योगेंद्र सिंह ने टीका नहीं लेने वाले इन लोगों के जनवरी माह के वेतन पर रोक लगा दिया है वंही संबंधित सभी विभागों के वरीय अधिकारियों को अगले तीन दिनों के अंदर लाभार्थी कर्मियों को टीका दिलवाने के निर्देश दिया है।

बता दें कि, कोरोना संक्रमण के थर्ड वेब को देखते हुए केंद्र व राज्य सरकार ने बूस्टर डोज को लेकर गाइडलाइंस जारी किया है इसके तहत पहले फेज में हेल्थ वर्कर, फ्रंटलाइन वर्कर और 60 वर्ष से ऊपर बीमार लोगों को यह बूस्टर डोज लेना है।

इसको लेकर समस्तीपुर डीएम ने पुलिस अधीक्षक, अपर समाहर्ता, उप विकास आयुक्त, सिविल सर्जन, डीआरडीए निदेशक, गृह रक्षा वाहिनी जिला समादेष्टा, सभी एसडीओ, सभी डीसीएलआर, वरीय कोषागार अधिकारी, जिला पंचायत राज अधिकारी, नगर आयुक्त नगर निगम, डीईओ, डीएओ, आईसीडीएस डीपीओ, मंडल कारा अधीक्षक, नगर परिषद रोसड़ा, दलसिंहसराय, पटोरी एवं ताजपुर के ईओ, सभी बीडीओ, सभी सीओ, सभी सीडीपीओ के अलावे जिला अंतर्गत सभी तकनीकि एवं गैर तकनीकी कार्यालय के प्रधान को पत्र लिखा गया है।

 

 

 

 

swatva

Leave a Reply