‘ रामचंद्र’ का अवैध पर नीतीश को जवाब, निराधार है आरोप

0

पटना : पूर्व केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह की मुश्किलें बढ़ती हुई नजर आ रही है। उनकी पार्टी जदयू ने उन्हीं के खिलाफ भ्रष्टाचार का नोटिस जारी कर स्पष्टीकरण मांगा है। आरसीपी सिंह से यह मांग पार्टी के बिहार प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा ने की है। अब इस मामले में आरसीपी सिंह ने अपना जवाब दिया है।

पूर्व केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह ने कहा कि जमीन की खरीद कई टुकड़ों में हुई थी कुछ मामला जमीन के बदले जमीन का भी है शहर की तुलना में गांव की जमीन सस्ती होती है जमीन खरीदने में उनके बैंक एकाउंट से एक रुपए का भी लेन- देन नहीं हुआ है। इसलिए हमारे ऊपर जो भी आरोप लगाए जा रहे हैं वो निराधार है।

swatva

मालुम हो कि, जदयू के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह को उनकी पार्टी के तरफ से नोटिस जारी कर लिया पूछा गया था कि 2013 से लेकर 2022 के बीच उन्होंने इतनी संपत्ति कैसे बनाई। जिसका जवाब देते हुए पूर्व केंद्रीय मंत्री अजित सिंह ने कहा कि उनकी एक बेटी आईपीएस है और दूसरी बेटी अधिवक्ता है। वर्ष 2010 में ही दोनों बेटियां इनकम टैक्स रिटर्न दाखिल करती आ रही है। मेरे पिता भी सरकारी नौकरी में थे। उन्होंने अपनी पूरी संपति हमारी दोनों बेटियों के नाम कर दी थी।

गौरतलब हो कि, नालंदा के दो जदयू कार्यकर्ताओं की शिकायत आई थी जिसमें कहा गया था कि आरसीपी सिंह ने 2013 से 2022 तक कई जमीन खरीदा है और अकूत संपत्ति बनाई है। बहरहाल, अब अपने ऊपर लगाए गए आरोपों को तो भले ही आरसीपी सिंह ने निराधार बताया है। ऐसे में यह यह देखना है कि अब जदयू के तरफ से उनको लेकर क्या निर्णय लिया जाता है।

Leave a Reply