नीतीश कैबिनेट की बैठक खत्म , बिहार आकस्मिकता निधि को 30 मार्च 2022 तक बढ़ी

0

पटना : राजधानी पटना के मुख्य सचिवालय में चल रही नीतीश कैबिनेट की बैठक खत्म हो गई है। बैठक में कुल 9 एजेंडों पर मुहर लगी है। साथ ही सीतामढ़ी के वरीय उप समाहर्ता नरेंद्र नाथ मिश्रा को नौकरी से बर्खास्त कर दिया गया है।

सोमवार को मुख्य्मंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में हुई मंत्रिपरिषद की इस अहम बैठक में कुल 9 एजेंडों पर मुहर लगी है। मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में आयोजित कैबिनेट मीटिंग में सभी मंत्री वर्चुअल माध्यम से जुड़े। सभी मंत्री विभागीय सचिव के कक्ष से वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक में शामिल हुए।

इस कैबिनेट बैठक में नालंदा के राजगीर में नेचर सफारी ओपी का सृजन एवं उसके संचालन के लिए 96 पदों के सृजन की स्वीकृति दी गई है। साथ ही बिहार आकस्मिकता निधि को 30 मार्च 2022 तक बढाकर अस्थायी रूप से इसे 8732.10 करोड़ कर दिया गया है। साथ ही मुख्यमंत्री एससी/एसटी और ओबीसी उद्यमी योजना में संसोधन के प्रस्ताव पर मुहर लगी है।

इसके साथ ही सामान्य प्रशासन विभाग के प्रशासनिक नियंत्रण अधीन सभी जिलों में अवस्थित सरकारी अतिथि गृहों के सुगम संचालन के लिए परिचारी रसोईया के 151 पदों के सृजन की स्वीकृति दी गई है। महिलाओं के बीच स्वरोजगार को बढ़ावा देने के उद्देश्य से मुख्यमंत्री महिला उद्यमी योजना की स्वीकृति के साथ वित्तीय वर्ष 2021-22 में इस योजना हेतु 200 करोड रुपए की स्वीकृति दी गई है।

साथ ही गाड़ियों की मनपंसद नंबर लेने के लिए बिहार मोटरगाडी (यथासशोधित) नियमावली, 1992 के नियम-64 के उपनियम 4 में संसोधन के प्रस्ताव पर मुहर लगी है।

swatva

Leave a Reply