मांझी की आखिरी पारी, विधानसभा अध्यक्ष को धमकी तो नहीं दे रहे तेजस्वी!

0

पटना : बिहार विधानमंडल के मानसून सत्र के दौरान बिहार सरकार के पूर्व मुख्यमंत्री और सरकार में सहयोगी दल हिदुस्तानी अवाम मोर्चा के राष्टीय अध्यक्ष जीतन राम मांझी विधानसभा में विधायकों की पिटाई के मसले पर भावुक हो गए हैं।

जीतन राम मांझी नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के बाद सदन में अपनी बातों को रखने के लिए खड़ा हुए। जीतन राम मांझी ने कहा कि 23 मार्च की घटना पर मुझे गहरा अफसोस है। मांझी ने कहा कि मैंने संसदीय जीवन देखा है। इस दौरान सदन में कई तरह की घटनाएं भी देखी है। लेकिन 23 मार्च को सदन में जो कुछ हुआ वह वाकई उसके पहले कभी देखने को नहीं मिला।

इसके अलावा मांझी ने कहा कि यह शायद उनकी आखिरी पारी है। विधानसभा में शायद अगली बार वह ना हो लेकिन उन्हें इस बात पर अफसोस है कि कुछ विधायकों के आचरण से सदन कलंकित हुआ।

इसके साथ ही मांझी ने कहा कि विपक्षी विधायकों के साथ-साथ सत्ता पक्ष के भी कुछ लोगों ने हंगामे में भूमिका निभाई है। हालांकि उन्होंने कहा कि तेजस्वी यादव अगर सदन में यह कह रहे हैं कि विपक्षी विधायकों पर कार्रवाई करने की बजाय उन पर कार्रवाई की जाए। तो यह भी गलत है।मांझी ने कहा कि तेजस्वी ऐसा बयान देकर कहीं न कहीं विधानसभा अध्यक्ष को ही धमकी दे रहे हैं।

swatva

Leave a Reply