लॉकडाउन में ममता की मदद करने कार्गो फ्लाइट से कोलकाता पहुंचे पीके, भाजपा हुई आक्रमक

1

पटना : कोरोनावायरस चीन के वुहान से निकलकर आज पूरे विश्व को अपनी चपेट में ले चुका है। इस विकट वैश्विक महामारी से निपटने के लिए भारत सरकार ने दो चरणों में लॉकडाउन की घोषणा की, जो कि इससे निपटने की एकमात्र कारगर कदम है। कोरोना के बढ़ते प्रकोप को कम करने के लिए भारत में अभी दूसरे चरण का देशव्यापी लॉकडाउन जारी है। इस वैश्विक संकट से निपटने के लिए सरकार का सहयोग करते हुए जिम्मेदार लोग अपने घरों से बाहर नहीं निकल रहे हैं।

राज्यपाल ने भी खड़े किये सवाल

देश की सारी राज्य सरकारें केंद्र की मोदी सरकार के साथ मिलकर इस वैश्विक संकट से निपटने के लिए कर्त्तव्यनिष्ठ है। अधिकांश राज्य सरकारें केंद्र के नियमों का पालन कर रही है। लेकिन, पश्चिम बंगाल की सरकार पर बीते कुछ दिनों से ये आरोप लगातार लग रहे हैं कि वह राज्य में वायरस को नियंत्रित करने के लिए केंद्र का सहयोग नहीं कर रही है। राज्य के अंदर लॉकडाउन का ठीक से पालन नहीं हो रहा तथा सैंपल भी कम जांचे जा रहे हैं।

मोदी सरकार की ओर से राज्य में लॉकडाउन की स्थिति का जायजा लेने के लिए इंटर-मिनिस्ट्रियल सेंट्रल टीम्स (IMCT) पहुंची हुई है। विपक्षी पार्टी के द्वारा ममता सरकार यह आरोप लगातार लगाया जा रहा है कि कोरोना संकट से निपटने के लिए ममता सरकार तनिक भी सहयोग नहीं कर रही है। पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने कहा कि राज्य में लॉकडाउन का सही से पालन नहीं हो रहा है, धार्मिक आयोजन किए जा रहे हैं।

भाजपा के सवालों से ममता सरकार काफी परेशान है !

ममता सरकार के द्वारा किये जा रहे इस प्रकार के कार्यों को लेकर भाजपा काफी आक्रमक रवैया अपनायी हुई है। मीडिया चैनल्स, सोशल मीडिया के माध्यम से भाजपा के सवालों से ममता बनर्जी की सरकार काफी परेशान है। ममता के तरफ से काउंटर करने के लिए उनके पास कोई राजनीतिक व्यापारी किस्म का व्यक्ति नहीं है।

इस चीज से परेशान होकर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मार्गदर्शन के लिए राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर को कोलकाता बुलाई है। इंडिया टुडे की रिपोर्ट मानें तो देशव्यापी लॉकडाउन को लेकर सरकार पर तमाम तरह के आरोप लगाने वाले प्रशांत किशोर कार्गो फ्लाइट से कोलकाता पहुंचे हैं।

मार्गदर्शन करने के लिए बुलाया प्रशांत किशोर को

बताया जाता है कि प्रशांत किशोर ममता सरकार की लापरवाही और सरकार की नाकामी को छुपाने के लिए एक टिमटियार करेंगी, जो मीडिया चैनल्स तथा सोशल मीडिया माध्यम से विपक्षी पार्टी आरोपों का जवाब देगी। इसीलिए ममता बनर्जी ने इस टीम का मार्गदर्शन करने के लिए प्रशांत किशोर को दिल्ली से कोलकाता बुलाई है।

प्रशांत किशोर किस चीज का एक्सपर्ट है दीदी

प्रशांत किशोर के कोलकाता पहुँचने की खबर मिलते ही बिहार भाजपा के प्रवक्ता निखिल आनंद ने ममता सरकार और प्रशांत किशोर पर जमकर हमला बोला है। निखिल आनंद ने कहा कि पश्चिम बंगाल कोरोना के खिलाफ लड़ाई में पूरी तरह असफल है। कोरोना के मद में केंद्र से मिले सहयोग का पश्चिम बंगाल सरकार उपयोग भी नहीं कर पा रही है और भद पीट रही है। केंद्र व राज्य सरकार के स्वास्थ्य कर्मियों, शासन-प्रशासन, पुलिस पर भरोसा न करना उनका अपमान है। राजनीतिक दलाल प्रशांत किशोर कार्गो फ्लाइट में छुप कर दिल्ली से कोलकाता गया है। ममता जी! ये वक्त मेडिकल एक्सपर्ट, शासन- प्रशासन से विशेषज्ञ लोगों को कमान देने का है, झूठा इमेज मेकओवर का नहीं। प्रशांत किशोर किस चीज का एक्सपर्ट है दीदी।

swatva

1 COMMENT

Leave a Reply