बिहार में जेल के अंदर ही बन रहे अपहरण और रंगदारी की योजनाएं – संजय पासवान

0

पटना : अपने बयानों को लेकर सुर्खियों में रहने वाले भाजपा एमएलसी संजय पासवान ने एक बार फिर से अपने ही सरकार पर जोरदार हमला बोला है। संजय पासवान ने कहा है कि, पहले जेल सुधार गृह हुआ करता था लेकिन अब यह अपराधी बनाने की फैक्ट्री बन गई है।

संजय पासवान ने बिहार की जेलों पर निशाना साधते हुए कहा है कि अब जेल सुधारगृह की जगह अपराधी बनाने की फैक्ट्री बन गए हैं। संजय पासवान ने कहा कि हमलोगों ने विधान परिषद में भी आग्रह करके जेलों में सुधार पर चर्चा की है और यह सबकी प्राथमिकता होनी चाहिए। इसके लिए बिहार विधानमंडल में एक कमिटी भी बनी है। संजय पासवान ने कहा कि जेलों को स्थिति सुधारने के लिए भारत सरकार और नीति आयोग को भी पहल करनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि बिहार में अब जेल में अपराधियों के बदले आम लोगों को कैदी बनाकर लाया जा रहा है। इसके बाबजूद ऐसा माहौल मिलता है कि वह बाहर एक अपराधी बन कर निकलते हैं। उन्होंने कहा कि राज्य में से ऐसे कम ही मामले हैं जिसमें सही मायने में जो आरोपी है उसे सजा भी मिली हो। ऐसे में बिहार के जेलों की स्थिति सुधारना अति आवश्यक है।

बिहार में तीन तरह के जेल

संजय पासवान ने कहा कि बिहार में तीन तरह के जेल है सेंट्रल जेल, स्टेट जेल और ओपन जेल। बक्सर के ओपन जेल में दिन भर कैदी बाहर काम करते हैं और शाम को लौट आते हैं, इससे कैदी जेल पर बोझ नहीं बन रहे हैं और जेल की कमाई भी बढ़ रही है। एलएलसी ने यह भी कहा कि हमलोगों का प्रयास है कि जेलों को मॉडल जेल बनाया जा सके। देश मे कई मॉडल जेल भी हैं। लक्ष्यद्वीप के जेल में कोई कैदी नहीं है, जो कि एक मॉडल जेल है।

उन्होंने कहा कि बिहार के तिहाड़ जेल में दिल्ली के अपेक्षा भीड़ तो कम है लेकिन इसके बावजूद यहां के जेल में उत्पन्न कुव्यवस्था के कारण यहां की जेल अपराध की फैक्ट्री बनती जा रही है। बिहार के जेलों में ही रंगदारी, अपहरण की योजना बन रही है। उन्होंने कहा कि बिहार में वर्तमान में सुशासन की सरकार है इसलिए इस सरकार को जेलों की स्थिति सुधारने की कोशिश करनी चाहिए।

swatva

Leave a Reply