जदयू: चिराग का त्याग!

0

143 सीटों पर अड़ते हुए लोजपा ने खोल रखा है मोर्चा

लोजपा के मिनी सुप्रीमों चिराग पासवान के तल्ख बयानों से जद-यू को तिलमिलाने लगा है। प्रवक्ता केसी त्यागी ने कहा है कि चिराग को जो मन में आएं, करें पर, गलत बयानबाजी से बाज आएं।

पिछले एक महीने से चिराग ने एक फायरब्रांड नेता की तरह नीतीश कुमार के साथ मोर्चा खोल दिया है। उन्हें कई मोर्चे पर विफल बताते हुए कहा है कि बिहार की जनता में शासन के प्रति एकरसता आ गई है। चिराग कभी सड़क, पुल, तो कभी स्वास्थ्य के मसले पर सरकार को घेरते रहे हैं।

दिल्ली में आयोजित संसदीय कमिटी की बैठक में उन्होंने कहा कि बिहार के युवा एक नया नेतृत्व की मांग कर रहे हैं। छात्र-नौजवानों की हालत बहुत खराब है और बेरोजगारी चरम पर है। संसदीय कमिटी के चेयरमैन राजू तिवारी ने कहा कि उनकी पार्टी 143 सीटों पर प्रत्याशी देने को तैयार है।

चिराग ने अपने पिता से की मंत्रणा

चिराग ने अपने दिग्गज पिता रामविलास पासवान से मंत्रणा कर चुके हैं। मंत्रणा के बाद उन्होंने खुल कर कहा कि बिहार अब नये नेतृत्व की तलाश कर रहा है। दूसरी ओर जद-यू की वर्चुअल रैली में नरसंहारों की चर्चा के बाद तेजप्रताप और राबड़ी देवी फार्म में आ गये हैं। दोनों ने एक साथ हमला बोलते हुए मुजपफरपुर बालिका कांड के सरंक्षणकर्ता के रूप में उन्हें नवाजते हुए कहा है कि उस तोंद वाला अंकल को कहां दिया दिया है, जदयू ने। सृजन घोटाले के कर्ताधर्ता को किसने टिकट दिया? क्यों दिया? वे पांच आईएएस को किसने छिपा रखा है।

तेजप्रताप लगाएंगे बेरोजगार महापंचायत

तेजप्रताप ने शिक्षा, रोजगार और अपराध के इश्यू पर कहा कि वे तुरंत ही बुलाएंगे बेरोजगार महापंचायत। अब फैसला हो जाएगा। उहोंने कहा कि सृजन घोटाला बनेगा मसला। कहां गया-2200 करोड़ रूपया? उन्होंने कहा कि इसमें कौओं को दबोच लिया गया और बाज को मुक्त कर दिया गया। घोटाले के सभी बाज नीतीशजी द्वारा पोसे-पाले जा रहे हैं।

swatva

Leave a Reply