बिहार में कोविड-19 की मौजूदा स्थिति से अवगत हुए केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे

0

पटना : केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्यमंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे से बातचीत की और कोविड 19 की मौजूदा स्थिति से अवगत हुए। उन्होंने कहा कि बिहार का रिकवरी रेट लगातार बेहतर हो रहा है।इसके साथ ही उन्होंने कहा कि पूरे देश में प्रतिदिन ढाई लाख औसतन टेस्ट किए जा रहे हैं। मौजूदा समय में देश में सरकारी 786 एवं निजी 314 टेस्टिंग लैब में कोरोना की जांच की जा रही है। देश में 5 जुलाई की सुबह 8:00 बजे तक 97 लाख 89 हजार 066 टेस्ट हो चुके थे। चार लाख से अधिक कोरोना पॉजिटिव मरीज ठीक हो चुके हैं।

बिहार में बढ़ी टेस्टिंग क्षमता

केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री चौबे ने बताया कि बिहार में टेस्टिंग क्षमता काफी बढ़ी है। आरएमआरआई पटना में अत्याधुनिक मशीन से टेस्टिंग की जा रही है। इस मशीन से 14 से 15 सौ के बीच टेस्टिंग की क्षमता है। केंद्र सरकार द्वारा हर संभव मदद उपलब्ध कराया जा रहा है। यथाशीघ्र शेष बचे वेंटिलेटर की आपूर्ति की जाएगी। अभी सौ वेंटिलेटर केंद्र ने राज्य को उपलब्ध कराया है। देश व बिहार का रिकवरी रेट में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। मौजूदा समय में देश का रिकवरी रेट लगभग 61 फ़ीसदी है। उन्होंने कहा कि कोरोनावायरस से घबराने की जरूरत नहीं है। देश में 1184 कोविड-19 डेडीकेटेड अस्पताल है। 2581 डेडीकेटेड कोविड-19 सेंटर है। इसमें भी प्रतिदिन बढ़ोतरी हो रही है। किसी भी तरह की सुविधाओं की कमी नहीं छोड़ी जा रही है।

विधान परिषद के कार्यकारी सभापति के स्वास्थ्य की भी ली जानकारी

केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री चौबे ने बिहार विधान परिषद के कार्यकारी सभापति अवधेश नारायण सिंह के स्वास्थ्य की भी जानकारी ली। हाल ही में बड़ी संख्या में विभिन्न राजनीतिक दलों के नेता, सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधि व बड़ी संख्या में लोग कोरोना की चपेट में आए हैं। इस पर चिंता व्यक्त करते हुए उन्होंने सभी से अपील की है कि केंद्र एवं राज्य सरकार के दिशा निर्देशों का हर हाल में पालन करें। जिला प्रशासन को सहयोग करें। मास्क नियमित रूप से लगाएं। 2 गज की दूरी का ध्यान रखें। कोरोनावायरस के विरुद्ध जंग में धैर्य, संयम एवं अनुशासन बहुत बड़ा हथियार है। इससे कोरोना के विरुद्ध जंग को जीतने में आसानी होगी।

swatva

Leave a Reply