बेगूसराय में अनशनकारी पीड़ित महिला को बीडीओ नें दी कानूनी कार्रवाई की चेतावनी

0

बेगूसराय : बिहार के बेगूसराय जिला अंतर्गत बछवाड़ा प्रखंड स्थित अरबा गांव के मुखिया नें अपने गुर्गों के साथ मिलकर पुरानी दुश्मनी का बदला लेने के उद्देश्य से ग्रामीण बौआ यादव एवं पप्पू यादव को रस्सी से बांध कर बेरहमी से मारपीट कर अधमरा कर दिया था। जिसके बाद पीड़ित परिवार की महिला ने आमरण अनशन करने का फैसला किया। लेकिन लॉकडाउन होने के कारण बछवाड़ा बीडीओ द्वारा आमरण अनशन की अनुमति नहीं दिया गया।

बिना अनुमति अनशन करने पर अनशनकारियों पर कानूनी कार्रवाई

बछवाड़ा बीडीओ नें अमरन अनशन की अनुमति नहीं देते हुए क़ानूनी कार्रवाई करने की बात भी कही गई है। मालूम हो कि बीडीओ डॉ विमल कुमार नें अपने पत्रांक 549/2020 जारी किया है। जिसमें बीडीओ नें स्पष्ट रूप से लिखा है कि लाॅकडाउन के क्रम में घरों से निकलने में भी मनाही है तो फिर प्रखंड मुख्यालय पर किसी प्रकार का कोई आमरण अनशन , धरना,प्रदर्शन आदि की अनुमति नहीं दी सकती है। अनुमति के बिना कि प्रखंड मुख्यालय पर अमरन अनशन करने के स्थिति में अनशनकारियों पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

न्याय से कोसों दूर पीड़ित परिवार

गौरतलब है कि इस घटनाक्रम की सुचना पाकर घटना स्थल पर पहुंचे गांव के सरपंच एवं बछवाड़ा थाने के एसआई अरूण कुमार सिन्हा बंधे पड़े घायल युवकों को इलाज में भेजने के बजाय मुखिया जी के साथ चाय पानी करते देखे गए।

जिसके बाद पीड़ित परिवार की एक महिला कुमारी दयारानी जब इस मामले के शिकायत के लिए थाना गई तो पुलिस नें उल्टी कार्रवाई करते हुए दोनों घायल युवकों को हीं जेल भेज दिया है। साथ हीं पीड़िता ने बताया कि पुलिस के कर्तव्यहीन पक्षपात पूर्ण रवैए से छुब्ध होकर आमरण अनशन करने का फैसला लिया। उक्त अनशन की तिथि 16 मई सुनिश्चित है। मगर इसी बीच बीडीओ के द्वारा जारी किए गए नोटिस के बाद अनशन कार्यक्रम रद्द कर दिया गया ।जिसके बाद पीड़िता न्याय से कोसों दूर है।इस मामले से जुड़े की विडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल है । बावजूद इसके पुलिस नें कोई कार्रवाई नहीं की है।

swatva

Leave a Reply