10% विधायकों ने नहीं लिया वैक्सीन, विस अध्यक्ष ने डीएम से मांगी रिपोर्ट

0

पटना : बिहार में आगामी 26 जुलाई से विधानसभा सत्र शुरू होने जा रहा है। इस बार के सत्र के दौरान विधानसभा परिसर में प्रेवश करने वाले हर एक को कोरोना टीका का सर्टिफिकेट दिखना अनिवार्य होगा।

मालूम हो कि काविड से सुरक्षा के लिए वैक्सिन लगना अनिवार्य है। केंद्र व राज्य सरकार के साथ ही विभिन्न सामाजिक संगठनों ने इसका प्रचार-प्रसार भी किया गया है।लेकिन इसके बावजूद अभी भी बिहार विधानसभा के 10 प्रतिशत संदस्य ऐसे है जिनके वैक्सिन लेने की सूचना अब तक नहीं है।

वहीं इस बीच बिहार विधानसभा के अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा ने इसको लेकर ऐसे सभी मानिनियों के क्षेत्र के जिला अधिकारियों को पत्र लिख कर उनके वैक्सिनेसन से संबंधित सूचना मांगी है।

गौरतलब है कि बिहार विधानसभा में फिलहाल 243 स्थान है। इसमें दो रिक्त है। कुल सदस्यों में से 172 विधायकों का वैक्सिनेशन हो चुका है। वहीं 21 सदस्य मंत्री के रूप में सरकार में शामिल है। एक सदस्य जेल में है वहीं 22 विधायकों ने विधानसभा को वैक्सिनेशन न होने की जानकारी दी है।

जानकारी हो की बिहार विधानसभा के बहुत सारे सदस्य कोरोना पाॅजेटिव हो चुके थे और नियम के अनुसार पॉजिटिव व्यक्ति को निगेटिव होने के को तीन माह बाद ही वैक्सिन दिया जा सकता है। वहीं विधानसभा के कुछ सदस्य ने गंभीर रोग से पिड़ित होने के चिक्तिसकों की सलाह पर अब तक वैक्सिन नहीं लिया है। वहीं 23 सदस्य ऐसे है जिनके वैक्सिनेशन की सूचना विधानसभा को नहीं है।

 

 

 

swatva

Leave a Reply