जाते-जाते तेज का प्रताप कम कर गए ब्रह्म बाबा!

0

पटना : राष्ट्रीय जनता दल को समुद्र और रघुवंश बाबू को एक लोटा पानी बताने वाले तेज प्रताप यादव को रघुवंश बाबू के निधन के बाद बड़ी फजीहत झेलनी पड़ रही है।

रघुवंश प्रसाद सिंह चल रहे थे राजद से नाराज

निधन से पहले रघुवंश प्रसाद सिंह राजद से नाराज चल रहे थे। उन्होंने अपने मृत्यु से तीन दिन पूर्व अपनी नारजगी को लेकर राजद सुप्रीमों लालू प्रसाद यादव को एक पत्र लिखा था। उनकी नाराजगी का मुख्य कारण तेज प्रताप द्वारा उनको एक लोटा पानी बोलना तथा पार्टी मीटिंग में बेरुखी से पेश आना बताया जाता है। हालांकि रघुवंश बाबू को नाराज होने के बाद नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने उनके खिलाफ कोई बयान नहीं दिया था। लेकिन तेज प्रताप यादव ने रघुवंश बाबू को लेकर जो बयान दिया था उससे लालू यादव भी नाराज हो गए थे। जिसके बाद आनन-फानन में आरजेडी सुप्रीमों ने तेज प्रताप को रांची रिम्स तलब किया था और उन्हें रघुवंश बाबू पर बयानबाजी नहीं करने की सलाह दी थी।

राजद कार्यालय तीन दिनों तक बंद

PNC RJD PATNA OFFICE – Patna Now – Local News Patna | Breaking News Patna | Patna Newsतेज प्रताप यादव अगले दो से 3 दिनों में कई लोगों को आरजेडी की सदस्यता दिलवाने वाले थे। तेज प्रताप यादव लगभग आधा दर्जन विधानसभा सीटों पर अपना कैंडिडेट दिलवाना चाहते हैं और इसीलिए उन्होंने लंबी चौड़ी प्लानिंग कर रखी थी। 2 दिन पहले उन्होंने जहानाबाद से आने वाले कमलेश शर्मा को आरजेडी की सदस्यता दी थी और अब ऐसे ही कई कैंडिडेट आरजेडी में तेज प्रताप के जरिए एंट्री मारने वाले थे। लेकिन अब आरजेडी कार्यालय तीन दिनों तक बंद कर दिया गया है। रघुवंश बाबू की शोक के कारण तेज प्रताप को उनकी तैयारी में बड़ा झटका लगा है।

ट्विटर पर बुरी तरह से ट्रोल

रघुवंश बाबू के निधन के बाद तेज प्रताप यादव ने शोक संवेदना प्रकट करते हुए कहा था कि हमारा सिरमौर हमारे बीच नहीं रहा, पूर्व केंद्रीय मंत्री और वरिष्ठ नेतृत्व करता आदरणीय नेताजी की मौत की खबर सुनकर मर्माहत हूं। भगवान उनकी आत्मा को शांति दें। आपका हम सबों को छोड़कर जाना मानो हमारे सिर से एक अभिभावक का साया हटने जैसा प्रतीत हो रहा है। तेज प्रताप यादव ने जब यह ट्वीट किया उसके बाद वे ट्विटर पर बुरी तरह से ट्रोल हो गए यूजर से उन्हें एक लोटा पानी वाले बयान की याद दिलाएं। तेजप्रताप ट्विटर पर खरी-खोटी सुनाते रहे कई लोगों ने यह भी याद दिलाया कि अब घड़ियाली आंसू बहाने से कुछ नहीं होने वाला।

तेज प्रताप यादव ने रघुवंश बाबू के मामले पर जो फजीहत कराई है, इसके बाद तेजस्वी यादव उसका डैमेज कंट्रोल करने में जुटे हुए हैं। तेजस्वी यादव रघुवंश बाबू का पार्थिव शरीर पटना लाए जाने के बाद उनके अंतिम दर्शन को भी पहुंचे थे। उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की और फिर उनकी अंत्येष्टि में भी शामिल होने जा रहे हैं। रघुवंश प्रसाद को लेकर तेजप्रताप यादव ने जो बयान दिया था अब रघुवंश प्रसाद सिंह के चले जाने के बाद राजद सुप्रीमों लालू प्रसाद यादव की नाराजगी इतनी बढ़ गयी है कि अब तेजप्रताप यादव को अस्थाई रूप से पार्टी ने राजनीति से अलग कर दिया गया है। तेजप्रताप यादव द्वारा टिकट दिलवाना तो दूर की बात है। अब एक भी नेता की एंट्री राजद में नहीं करवा पाएंगे।

swatva

Leave a Reply