जीना है तो सुधरिए

0

मुंबई में रहते हुए कोरोना की भयावहता को महसूस करना मेरे लिए कठिन नहीं है। वह भी जब कोविड का नया सेंटर महाराष्ट्र बना हुआ है। सिनेमा और खेल जगत की कई हस्तियां कोरोना पाजिटिव हो चुकी हैं। ये ऐसी हस्तियां हैं जो अपनी फिटनेस का बहुत अधिक ख्याल रखती हैं। यह सभी हस्तियां योग, ध्यान और प्राणायाम करती हैं और साथ ही कोविड के सभी नियमांे का पालन करती हैं। कोविड के कारण अस्पताल मेें भर्ती भारतरत्न सचिन तेंदुलकर ने कहा कि हम कोरोना नियमों का अक्षरशः पालन कर रहे थे तब भी हम कोरोना पाजिटिव हो गये अतः सभी लोग अत्यधिक सावधानी और सतर्कता बरतें। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने यह बात स्वीकार की है कि जनमानस में लापरवाही बहुत अधिक बढ़ गयी है। यह केवल महाराष्ट्र नहीं, बल्कि देश भर की स्थिति है। शादियों व पार्टियांें में बहुत अधिक भीड़ हो रही है, तब लोग सवाल करते हैं कि जिन राज्यों में चुनाव चल रहे हैं और बड़ी-बड़ी रैलियां हो रही हैं, क्या वहां पर कोरोना नहीं होगा? इस कुतर्क से अपना ही नुकसान होगा।

खबरों से पता चला कि बिहार सरकार ने जब अप्रैल के प्रथम सप्ताह में स्कूल, काॅलेज व कोचिंग संस्थानों को बंद करने का आदेश दिया, तो समाज ने विरोध शुरू कर दिया। अभिभावकों व छात्रों का एक बहुत बड़ा वर्ग यह कह रहा था कि कोविड के नियमोें का पालन करते हुए शैक्षणिक संस्थान को खोलना चाहिए

कोरोना रूपी राक्षस से बचने के लिए समाज को ही आगे आना होगा। अब तो हमारे पास दुनिया की सबसे अच्छी वैक्सीन भी आ गयी है। अब हम सभी को वैक्सीनेशन और अधिक से अधिक शारीरिक दूरी के नियमों का पालन करना होगा। मास्क लगाना होगा। हालांकि इस बात की कोई गारंटी नहीं है कि मास्क आपको शत-प्रतिशत कोरोना से बचा ही लेगा। लेकिन, अगर सभी लोग अपनी आदतें सुधार लें, तो कोरोना के संक्रमण से लड़ाई काफी आसान हो सकती है। कोरोना महामारी को एक वर्ष से अधिक समय बीत चुका है। लेकिन, अभी भी कई लोग ऐसे मिल जाएंगे जिन्होंने आज तक मास्क लगाया ही नहीं। देश के हजारों लोग इतनी भयानक महामारी के तेज फैलाव के बीच भी सुधरने के लिए तैयार नहीं हैं। यह चिंता की बात है।

इस बार कोरोना की रफ्तार पिछले वर्ष के मुकाबले चार गुना अधिक है। इसलिए आपको आज ही मास्क वाला टाक्स अपनाना चाहिए, आप खुद भी माक्स लगाएं और किसी को बिना मास्क देखें, तो उससे भी मास्क लगाने का विनम्र निवेदन करें। आप मास्क से अपने नाक और मुंह को सही तरक से ढकें। मास्क के साथ मजाक बिल्कुल न करें, क्योंकि ऐसा करने से आप सरकार के जुर्माने से तो बच जाएंगे। लेकिन, कोरोना के संक्रमण से नहीं बच पाएंगे।

अजीत ओझा
उद्यमी एवं समाजसेवी

swatva

Leave a Reply