प्रशासनिक लापरवाही के कारण खतरे में लोगों की जिंदगी

0

पटना : बिहार में कोरोना का कहर कम होने का नाम नहीं ले रहा है। राज्य में आम से लेकर खास लोग अब इस वायरस के चपेट में आ चुके हैं। इस वायरस के बढ़ते संक्रमण के रोकथाम को लेकर राज्य सरकार द्वारा एकबार फिर राज्य में 31 जुलाई तक लॉकडाउन किया गया है।

कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद भी इलाके को नहीं किया गया कंटेंटमेंट ज़ोन घोषित

बिहार में अबतक 21558 मरीज कोरोना संक्रमित हो चुके हैं। वहीं राज्य की राजधानी पटना से एक ख़बर निकल कर सामने आ रही है। पटना के पूर्वी गांधी मैदान जज कोर्ट रोड स्थित स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (अंटा घाट) के मुख्य ब्रांच में 40 से अधिक कोरोना पॉजिटिव मरीज मिलने के बावजूद भी इस इलाके को पटना जिला प्रशासन द्वारा कंटेंटमेंट ज़ोन घोषित नहीं किया गया है। इसके साथ ही साथ बैंक के ब्रांच को सनीटाइज करने के भी बंद नहीं किया गया है। इस ब्रांच में आम दिनों की तरह ही बैंक में लोग पहुंच रहे हैं।

इस इलाके में रहने वाले लोगों में दहशत का माहौल है। स्थानीय लोगों से पूछताछ करने पर उन्होंने बताया कि उनके द्वारा नजदीकी थाना को सूचित किया गया था उसके बावजूद भी प्रशासन द्वारा कोई मदद नहीं पहुंचाई गई है। मालूम हो कि राज्य में राज्य में पिछले 24 घंटे के भीतर 1385 नए संक्रमित लोगों की पहचान की गई है। वहीं बिहार में अब तक कोरोना से 157 लोगों की मौत हुई है। सबसे ज्यादा राजधानी पटना में 23 लोगों की मौत हुई है।

बिहार स्वास्थ्य विभाग की ओर से जो नियमित अपडेट जारी किया गया है उसके मुताबिक राज्य में अबतक 13533 संक्रमित मरीज अबतक स्वस्थ होकर अपने अपने घर लौट चुके हैं।राज्य में ठीक होने वाले मरीजों का औसत 67.08% हो गया है।पिछले 24 घंटे में राज्य में 514 कोरोना संक्रमित मरीज स्वस्थ हुए हैं।

swatva

Leave a Reply