पड़ोसी देशों में पोलियो मरीज मिलना भारत के लिए चिंता का विषय

0

23 से 27 जनवरी तक चलेगा पल्स पोलियो राष्ट्रीय टीकाकरण अभियान

पटना : स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि पड़ोसी देशों में पोलियो वायरस का मौजूद होना भारत के लिए चिंता का विषय है। क्यांकि जब तक विश्व में कहीं भी पोलियो का संक्रमण जारी रहता है, तो भारत में पोलियो वायरस के पुनः आने की संभावना बनी रहती है। इस खतरे की संभवना को ध्यान में रखते हुए राज्य में भारत सरकार के निर्देशानुसार 23 से 27 जनवरी तक पल्स पोलियो राष्ट्रीय टीकाकरण अभियान को सफल बनाने को लेकर स्वास्थ्य विभाग आवश्यक तैयारी कर रहा है।

मंगल पांडेय ने कहा कि 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस होने के कारण स्थानीय स्तर पर सुविधानुसार एक दिन अभियान को आगे बढ़ाया जा सकता है। सभी स्तर पर कोरोना से बचाव हेतु जारी निर्देश का पूर्णतः अनुपालन सुनिश्चित कराते हुए इस अभियान का संचालन किया जायेगा। अभियान के दौरान शत-प्रतिशत आच्छादन लक्ष्य को प्राप्त करने की कोशिश की जायेगी। मालूम हो कि 2020 में पाकिस्तान में जहां 84 मरीज मिले थे, वहीं अफगानिस्तान में 56 मरीज मिले थे। 2021 में पुनः दोनों देशों में एक-एक मरीज मिलने की पुष्टि हुई है।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि संक्रमण से बचाव हेतु उच्च गुणवत्ता के पल्स पोलियो अभियान चला नियमित टीकाकरण के टीके को शत-प्रतिशत लाभार्थियों तक पहुंचाना आवश्यक है। टीकाकरण अभियान को सफल बनाने को लेकर राज्य के सभी जिलाधिकारियों को चक्र प्रारंभ होने से 10 दिन पूर्व जिला टास्क फोर्स की बैठक कर चक्र संबंधित तैयारियों की समीक्षा एवं कार्य की गुणवत्ता बनाये रखने हेतु उचित कार्रवाई करने आदेश जारी किया गया है। प्रखंडों में भी प्रखंड टास्क फोर्स बैठक में बीडीओ एवं सीडीपीओ की सहभागिता सुनिश्चित कर दलकर्मियों को पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन की उपलब्धता सुनिश्चित कराने को कहा गया है।

पांडेय ने कहा कि अभियान के दौरान नवजात शिशुओं को पोलियो की खुराक पिलाये जाने पर विशेष ध्यान दिया जायेगा और खुराक पिलाने के बाद नियमित टीकाकरण के ड्यू लिस्ट में इन्हें समाहित किया जायेगा। बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन और चौक-चौराहों आदि जगहों पर प्रशिक्षित टीकाकर्मियों को प्रतिनियुक्त कर वहां से गुजरने वाले सभी लक्षित बच्चों को पोलियो की खुराक पिलाकर आच्छादित किया जायेगा। अभियान के दौरान किसी भी परिस्थिति में किसी भी क्षेत्र के बच्चे पोलियो की खुराक लेने से वंचित नहीं रहें, इसके लिए निगरानी दल गठित कर शत-प्रतिशत बच्चों को खुराक पिलाना सुनिश्चित किया जायेगा।

swatva

Leave a Reply