‘राष्ट्रीय स्वैच्छिक रक्तदान दिवस पर एक अक्टूबर को रक्तदाताओं का होगा सम्मान समारोह’

0

पूरे माह तक प्रत्येक जिले में चलेगा रक्तदान अभियान

पटना : स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि राज्य में स्वैच्छिक रक्तदान को बढ़ावा देने के लिए स्वास्थ्य विभाग प्रतिबद्ध है। प्रदेश में रक्त की उपलब्धता कम न हो और रक्तदाताओं को प्रोत्साहित किया जाए इसके लिए एक अक्टूबर को राष्ट्रीय स्वैच्छिक रक्तदान दिवस मनाया जा रहा है। इस अवसर पर रक्तदाताओं व इससे जुड़ी संस्थाओं को सम्मानित कर उन्हें प्रोत्साहित किया जाएगा। वहीं इस दिन से पूरे माह तक प्रत्येक जिले में अलग-अलग दिन रक्तदान शिविर आयोजित किया जाएगा। मौजूदा दौर में राज्य में 95 ब्लड बैंक संचालित किए जा रहे हैं। उनमें 39 सरकारी, 3 रेडक्रॉस व 53 प्राइवेट बल्ड बैंक हैं।

पांडेय ने कहा कि रक्तदान दिवस के अवसर पर राजधानी में वृहद पैमाने पर एक कार्यक्रम पटना के होटल मौर्या में आयोजित है, जहां रक्तदान में महत्ती भूमिका अदा करने वाले लोगों व संस्थाओं को सम्मान देकर प्रोत्साहित किया जाएगा।

इस अवसर पर एक अक्टूबर से लेकर 31 अक्टूबर की अवधि में राज्य के सभी चिकित्सा महाविद्यालय अस्पतालों, जिला अस्पतालों के सभी रक्त अधिकोषों, मॉडल ब्लड सेंटर कंकड़बाग पटना, आईजीआईएमएस, पटना, अखिल भारतीय आर्युविज्ञान पटना के माध्यम से स्वैच्छिक रक्तदान शिविर आयोजित किया जाना है। इससे जुड़ी स्वंयसेवी संस्थाओं को भी लोगों के बीच जागरुकता लाने के कार्य में लगाया गया है। लोगों को रक्तदान के लिए प्रेरित करने को लेकर प्रत्येक जिलों में बैनर व पोस्टर के जरिये जागरुकता लाया जा रहा है।

पांडेय ने कहा कि प्रदेश में रक्त की उपलब्धता बनी रहे, इस बावत ऐसे लोगों को सम्मान देना आवश्यक है। विभाग ने राज्य भर में संचालित सरकारी व गैर सरकारी ब्लड बैंकों से संपर्क स्थापित कर लोगों का लिस्ट तैयार किया है। जिन लोगों ने साल में तीन या चार बार ब्लड डोनेट किया। ऐसे पुरुष जो साल में चार बार रक्तदान कर चुके हैं और ऐसी महिला जो साल में तीन बार रक्तदान की हैं।

हमने लगभग 60 महिला व पुरुषों को मिलाकर लिस्ट तैयार की है, जो सम्मान के हकदार हैं। बिहार में 14 जून 2018 से इसकी शुरुआत की गयी है। पहली बार 2017-18 का जब सम्मान दिया गया, उसमें केवल एक आदमी ही इसके हकदार थें। उसके बाद 2018-19 में 12 लोग हो गये आगे चलकर 2019-20 में इसकी संख्या बढ़कर 17 हुए। अब इस साल ये संख्या लगभग 60 तक पहुंच गई है।

swatva

Leave a Reply