5 से 17 सितम्बर तक मनाया जाएगा फिजियोथेरेपी पखवाड़ा- डॉ नरेंद्र कुमार सिन्हा

0

पटना : इंडियन एसोसिएशन ऑफ फिजियोथैरेपिस्ट (आई पी ए) की बिहार शाखा 18 सितंबर को फिजियोथेरपिस्ट दिवस के मुख्य कार्यक्रम का आयोजन कर रही है। इसके पूर्व 5 सितंबर से 17 सितंबर 2021 तक विश्व फिजियोथेरेपी पखवाड़ा मना रही है। इसके अंतर्गत सभी जिला  संयोजक एवं संस्थाएं को अपने क्षेत्र में विभिन्न कार्यक्रमो का संचालन करेंगे।

“कोविड  एंड रिहैबिलिटेशन ” है इस बार का थीम

आई पी ए,बिहार के अध्यक्ष डॉ नरेंद्र कुमार सिन्हा ने बताया कि इस बार विश्व फिजियोथेरेपी दिवस का थीम  “कोविड  एंड रिहैबिलिटेशन ” है। उन्होंने कहा कि फिजियोथेरेपी दिवस वर्ष 1996 में 8 सितंबर को नामित किया गया था। फिजियोथेरेपी मेडिकल साइंस का महत्वपूर्ण हिस्सा है। आज फिजियोथैरेपिस्ट कई तरह की बीमारियों में मरीजो  को ठीक करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। फिजियोथैरेपिस्टो की इस सेवा भाव का सम्मान करने के लिए दुनिया भर में उनके प्रति जागरूकता फैलाने के लिए विश्व भौतिक चिकित्सा दिवस मनाया जाता  है।

पूरी दुनिया इस समय कोरोना वायरस महामारी से लड़ रही है। महामारी के दौरान फिजियोथेरेपिस्ट ने फ्रंटलाइन  वर्कर के रूप में काम किया है और कई  कोविड (COVID) संबंधित जटिलताओं का इलाज करने में मदद की है। फिजियोथैरेपिस्ट COVID रोगियों के उपचार और पुनर्वास का अभिन्न अंग है। इस बार विश्व फिजियोथेरेपी दिवस का थीम  “कोविड  एंड रिहैबिलिटेशन ” है।

पखवाड़ा में विभिन्न कार्यक्रमों आयोजित होंगे

फिजिकल थेरेपी का उद्देश्य हमेशा से ही जरूरतमंद लोगों को  समर्थन देना और उन्हें जीवन की अच्छी गुणवत्ता के साथ सेहत के लिहाज से स्वस्थ हासिल करने में मदद करना है। 5 सितंबर से 17 सितंबर 2021 तक “विश्व फिजियोथेरेपी पखवाड़ा” मनाने के क्रम में अनेक कार्यक्रम होंगे, जिसमें पहला कोविड-19 रोगियों/ सामान्य समुदाय/वृद्ध व्यक्तियों के लिए शिविर का आयोजन और दूसरा स्थानीय कोविड-19 प्रोटोकॉल का ध्यान रखते हुए अस्पताल /क्लीनिक।/संस्थान/ कॉलेज में  लेक्चर/ कार्यशाला /संगोष्ठी आयोजित किये जायेंगे.

swatva

Leave a Reply