बच्चों पर कोवैक्सीन के परीक्षण की मिली मंजूरी, 525 स्वस्थ स्वयंसेवियों पर होगा परीक्षण

0

पटना : केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्यमंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने कहा कि ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (डीसीजीआई) ने सजग पड़ताल के बाद विशेषज्ञ समिति की सिफारिशें पर 2 से 18 वर्ष आयु वर्ग के लोगों के लिए कोवैक्सीन के दूसरे व तीसरे चरण के परीक्षण को मंजूरी दे दी है। यह मंजूरी कोवैक्सीन निर्माता भारत बायोटेक लिमिटेड को प्रदान की गई।

525 स्वस्थ स्वयंसेवियों पर होगा परीक्षण

भारत बायोटेक इंटरनेशनल लिमिटेड, ने दो से 18 वर्ष आयु वर्ग के लोगों पर कोवैक्सीन के दूसरे व तीसरे चरण के परीक्षण का प्रस्ताव दिया था। यह परीक्षण 525 स्वस्थ स्वयंसेवियों पर किया जायेगा। स्वयंसेवियों को दो खुराक दी जायेंगी। दूसरी खुराक, पहली खुराक के 28वें दिन पर दी जायेगी।

चौबे ने कहा कि 18 से अधिक उम्र वालों के लिए सफलतापूर्वक सभी राज्यों में टीकाकरण अभियान जारी है। बिहार में टीकाकरण अभियान लगातार गति पकड़ रहा है। केंद्र एवं राज्य स्तर पर इसकी लगातार समीक्षा की जा रही है।

भारत का टीकाकरण कार्यक्रम दुनिया का सबसे तेज़ टीकाकरण कार्यक्रम

उन्होंने कहा कि भारत का टीकाकरण कार्यक्रम दुनिया का सबसे तेज़ टीकाकरण कार्यक्रम है। जिसके तहत गुरुवार की सुबह 8 बजे तक लगभग 18 करोड़ से अधिक डोज़ लगाई जा चुकी हैं। अमेरिका और चीन के बाद भारत सबसे अधिक डोज़ देने वाला देश है। यह सब राज्यों के सहयोग और सुप्रयासों का परिणाम है।

चौबे ने बताया कि देश में वैक्सीन का उत्पादन मई के महीने में करीब 8 करोड़ होने की संभावना है और जून में यह लगभग 9 करोड़ होगा। इसके उत्पादन को और गति देने के लिए केंद्र सरकार कंपनियों को हर संभव सहयोग दे रही है।

लॉकडाउन के नियमों का पालन करें

इसके साथ ही चौबे ने कहा कि बिहार सरकार ने 16 से 25 मई 2021 तक लॉकडाउन को विस्तारित किया है। सभी राज्यवासियों से अपील है कि लॉकडाउन के नियमों का पालन करें।

swatva

Leave a Reply