स्वतंत्रता दिवस : पेयजल से पाकिस्तान तक व सेना से लेकर जनसंख्या तक पर बोले पीएम मोदी

0

नई दिल्ली : भारत के 73वें स्वतंत्रता दिवस पर गुरुवार को लाल किले की प्राचीर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को संबोधित किया। प्रधानमंत्री ने कुल 92 मिनट के अपने संबोधन में स्वच्छता से लेकर अनुच्छेद 370 तक और सेना से लेकर तीन तलाक तक पर बातें की। भारत की बढ़ती जनसंख्या पर वे चिंतित भी दिखे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसी के साथ पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के बाद पहले ऐसे गैर-कांग्रेसी प्रधानमंत्री बन गए, जिन्होंने स्वतंत्रता दिवस पर लगातार 6 बार लाल किले से तिरंगा फहराया हो और देश को संबोधित किया हो।

निशाने पर कांग्रेस

कांग्रेस पर निशाना साधते हुए पीएम ने कहा, ‘अनुच्छेद 370 के पक्ष में कुछ लोग बोलते हैं, उसकी वकालत करते हैं, उनसे देश पूछ रहा है कि अगर यह अनुच्छेद इतना जरूरी था, उसी से भाग्य बदलने वाला था तो 70 सालों से बहुमत होने के बावजूद इसे स्थायी क्यों नहीं किया।’

अब चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सेना को लेकर बड़ा ऐलान किया। उन्होंने कहा है कि अब चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ का नया पद बनाया जाएगा, जो जल, थल और वायु तीनों ही सेनाओं का चीफ होगा। प्रधानमंत्री मोदी का यह ऐलान भारतीय सेना के इतिहास में एक बेहद ही महत्वपूर्ण कदम है।

पाकिस्तान को घेरा

प्रधानमंत्री मोदी ने पड़ोसी देशों का जिक्र करते हुए उन्हें आतंकवाद से पीड़ित बताया। पीएम ने पाकिस्तान पर परोक्ष रूप से हमला बोलते हुए कहा, ‘बांग्लादेश, अफगानिस्तान, श्रीलंका सब आतंकवाद से जूझ रहे हैं। हम जब आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई लड़ते हैं तो इस पूरे भूभाग के लिए लड़ते हैं। चार दिन बाद अफगानिस्तान आजादी का जश्न मनाएगा। यह उसकी आजादी का 100वां साल है। उन्हें शुभकामनाएं देता हूं। कुछ लोगों ने सिर्फ भारत को ही नहीं, पड़ोस के देशों को आतंकवाद से तबाह करके रखा है। बांग्लादेश, अफगानिस्तान आतंकवाद से जूझ रहा है। श्रीलंका में भी चर्च में निर्दोषों को मार दिया गया।’

पेयजल पर पीएम

पानी की कमी पर बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा, ‘पीने का पानी नहीं है, माता बहनों को किलोमीटर दूर जाना पड़ता है। जीवन का बड़ा हिस्सा पानी में खप जाता है, इसको बदलने की योजना बनाई जा रही है। जल जीवन मिशन पर काम करेंगे। संत तिरूवल्लूर ने कहा था कि जब पानी समाप्त हो जाता है तो प्रकृति का काम रुक जाता है, यानी विनाश हो जाता है।’

स्वच्छता पर जोर

पीएम मोदी ने स्वच्छता के महत्व की बात करत हुए कहा, ‘साल 2014 में मैंने लाल किले से स्वच्छता पर जोर की बात कही। अब देश खुले में शौच से मुक्त हो रहा है। सभी ने इसके लिए जन आंदोलन किया। देश में अब सिंगल यूज प्लास्टिक का इस्तेमाल बंद होना चाहिए। चलिए 2 अक्टूबर से इसकी शुरुआत करें। दुकानदार दुकान के बाहर लिख दें कि हमसे प्लास्टिक की थैली की मांग न करें, कपड़े का थैला लेकर आएं। वर्ना वे खुद ही कपड़े का थैला बेचना शुरू कर दें।’

जनसंख्या विस्फोट पर चिंता

देश की लगातार बढ़ती जनसंख्या पर चिंता व्यक्त करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, ‘हमारे यहां बेतहाशा जो जनसंख्या विस्फोट हो रहा है, यह जनसंख्या विस्फोट हमारी आने वाली पीढ़ियों के लिए अनेक संकट पैदा करता है। यह बात माननी होगी कि देश में एक जागरूक वर्ग है, जो इस बात को भली भांति समझता है। वह अपने घर में शिशु को जन्म देने से पहले भली भांति सोचता है कि मैं उसके साथ न्याय कर पाऊंगा।’

भ्रष्टाचार और भाई-भतीजावाद से खतरा

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘भ्रष्टाचार, भाई-भतीजावाद देश के लिए खतरा है। यह दीमक की तरह देश में घुस गया है। इसे निकालने की कोशिश की जा रही है, लेकिन यह बीमारी अंदर तक है और गहरी है। इसके लिए कई बार कोशिश करनी होगी, यह एक बार में खत्म होनेवाली चीज नहीं है।’

इंफ्रास्ट्रक्चर पर बड़ा बयान

देश के इंफ्रास्ट्रक्चर पर बात करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘आज देश में 21वीं सदी की आवश्यकता के मुताबिक आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर का निर्माण हो रहा है। देश के इंफ्रास्ट्रक्चर पर 100 लाख करोड़ रुपए का निवेश करने का फैसला किया गया है। पहले लोग पूछते थे कि पक्की सड़क कब आएगी, आज कोई मिलता है तो कहता है, फोर लेन रोड बनेगा या फिर 6 लेन वाला। सिर्फ पक्की सड़क तक वह सीमित नहीं है। अब लोग ट्रेन के बारे में नहीं बल्कि वंदे भारत ट्रेन के बारे में पूछते हैं।’

अर्थव्यवस्था

भारतीय अर्थव्यवस्था पर बोलते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, ‘5 ट्रिलियन की अर्थव्यवस्था कई लोगों को मुश्किल लग सकती है, मानता हूं चुनौती बड़ी है लेकिन सोचेंगे नहीं तो देश कैसे चलेगा, हम आगे कैसे बढ़ेंगे। हमारा सपना बड़ा होना चाहिए। आजादी के 70 सालों में देश 2 ट्रिलियन इकनॉमी तक पहुंचा। फिर 2014 से 19 तक हम लोग 2 से 3 ट्रिलियन तक पहुंच गए।’

Leave a Reply