एक कवि से डर गए नीतीश कुमार, सोनपुर मेले में नहीं करने दिया काव्य पाठ

0

पटना : बिहार सरकार एक कवि से इस कदर खौफ में आ गई कि उसे सोनपुर मेले के मंच पर कविता पाठ से रुकवा दिया। वाकया ‘यूपी में बाबा’ गाने वाली अनामिका जैन के साथ घटित हुआ। पहले तो बिहार सरकार के पर्यटन विभाग ने अनामिका जैन और अन्य कवियों को सोनपुर मेले में अपने आयोजन में आमंत्रित किया। फिर जब मंच पर कविता पाठ करने की बारी आई तो अचानक सारण के एसडीएम वहां पहुंचे और उद्घोषक से बोले कि अनामिका जैन को छोड़कर बाकी कवि अपना कविता पाठ करेंगे। लेकिन अनामिका जैन कविता नहीं पढ़ेंगी।

अनामिका जैन ने गाया था यूपी में बाबा….

इसके बाद वहां बवाल मच गया और पर्यटन विभाग के अखिल भारतीय कवि सम्मेलन में हंगामा शुरू हो गया। फिर इस सम्मेलन में पहुंचे सभी कवियों ने सरकार के इस कदम को अपना अपमान कहते हुए पूरे कविता पाठ कार्यक्रम का ही बहिष्कार कर दिया। अनामिका जैन ने बताया कि उन्हें काव्य पाठ करने से रोक दिया गया, नतीजा यह हुआ कि इस सम्मेलन में शामिल होने आए बाकी कवि नाराज हो गए और उन्होंने कार्यक्रम का बहिष्कार कर दिया। इसके बाद वापस दिल्ली लौटने के दौरान अनामिका जैन ने पटना एयरपोर्ट के बाहर बताया कि दिनकर की धरती से बिना कविता पाठ किए लौटना अपमानजनक है। उन्होंने कहा बिहार सरकार इतना डर गई कि मुझे कविता का पाठ भी नहीं करने दिया।

swatva

मामलू हो कि यूपी विधानसभा चुनाव के दौरान ‘यूपी में का बा’ गाने के जवाब में अनामिका ने ‘यूपी में बाबा’ गाना गाया था। अनामिका का यह गाना काफी वायरल हुआ था।अनामिका ने इसमें यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ की उपलब्धियों की तारीफ की थी। अब बिहार में अनामिका को काव्य पाठ से रोकने को नीतीश सरकार के एंटी बीजेपी एंगल से ही देखा जा रहा है। लेकिन जब ऐसा ही था तब उन्हें आमंत्रित ही क्यों किया गया। अनामिका ने भी बाद में फेसबुक लाइव आकर कहा कि नीतीश सरकार डर गई है। एडीएम ने मंच पर आकर खुद कहा कि क्षमा करें। लेकिन क्या कर सकते हैं। ऊपर से ही अपको काव्य पाठ न करने देने का आदेश है।

Leave a Reply