बांका मदरसा विस्फोट पर सेकुलरिज्म का पाठ पढ़ाने वाले बुद्धिजीवियों की बोलती बंद क्यों- BJP

0

पटना : बिहार के बांका जिले के मुस्लिम बहुल नवटोलिया गांव के मस्जिद में धमाका होने के बाद मदरसा पूरी तरह ध्वस्त हो गया था। इस घटना के बाद गांव के अधिकांश लोग फरार हैं। जानकारी के मुताबिक घायलों और मृतकों को घटनास्थल से गायब कर दिया गया है। इस मामले पर टिप्पणी करते हुए भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता अरविन्द कुमार सिंह ने कहा कि बांका मदरसा विस्फोट पर सारे के सारे सेकुलरिज्म के सर्टिफिकेट बांटने वालों और सेकुलरिज्म तथा नैतिकता के पाठ पढ़ाने वाले बुद्धिजीवी सेकुलरों की बोलती क्यों बंद है?

भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि वहां पर इमाम की मौत हुई है, मदरसा गिरा है, विस्फोट हुआ है, इस पर उनकी बोलती क्यों बंद है? क्यों उनकी राजनीतिक कुर्सी यानी सियासत उनको बोलने की इजाजत नहीं दे रही है? अरे भाई कुछ तो शर्म करो कुछ तो मानवता के लिए बोलो?

अरविंद सिंह ने कहा कि जहां लव जिहाद का मामला हो, वहां पर आपका अच्छा अनुभव है, जबरन निकाह करा देना किसी दलित बच्ची का उस पर तो आप बोलते हैं कि यह प्रेम प्रसंग का मामला है, जिसका आपको अनुभव बहुत अच्छा है। लेकिन, आप मदरसों में विस्फोट पर भी कुछ बोलें। उन्होंने सेकुलरिज्म का राग अलापने वालों से पूछा कि कहां से इतने विस्फोटक पदार्थ पहुंचे, कौन इसको रखा, यह सब पुलिस जांच कर रही है, इसमें कोई दोषी बचेंगे नहीं, इस पर आपकी बोलती नहीं बन रही है। ऐसी दोगली राजनीति कब तक करेंगे? कब तक आपलोग कुर्सी पकड़ और सत्ता लोलुपता की राजनीति करेंगे।

भाजपा नेता अरविन्द सिंह ने कहा कि सत्ता लोलुपता की सोच से ऊपर उठकर के राज्य के विकास और राज्य की भलाई के लिए आपलोग कब काम करेंगे? सिर्फ नकारात्मक राजनीति, जो आपलोग करते हैं, जात-पात, धर्म, दंगे की राजनीति करते हैं और कहीं ना कहीं विशेष कमजोर वर्गों को आप टारगेट करके उनका मनोबल गिराते हैं।

भाजपा नेता ने कहा कि अपराधी की कोई जात नहीं होती, कोई धर्म नहीं होता, कोई अपराधी हिंदू मुसलमान, सिख, ईसाई नहीं होता है। अपराधी, अपराधी होता है, आप नकारात्मक राजनीति करिए, लेकिन अपराधी को अपराधी रहने दीजिए। कोई जाति और धर्म हिंदू और मुसलमान नहीं बनाईए, आपसे बिहार की जनता यह उम्मीद नहीं करती है।

swatva

Leave a Reply