चीनी ऐप बंद होने से चीन के विस्तार वादी मानसिकता को लगा करारा झटका – पप्पू वर्मा

0

पटना : भारत-चीन तनाव के बीच मोदी सरकार ने 59 चीनी ऐप पर प्रतिबंध लगा दिया है। टिक टॉक ,वी मेट, शेयर इट, सहित 59 चाइनीज ऐप पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। इस बीच पटना विश्वविद्यालय के सिंडीकेट सदस्य पप्पू वर्मा ने कहा कि 59 चाईनीज एप पर मोदी सरकार द्वारा भारत में प्रतिबंध लगाने से चीन के विस्तार वादी मानसिकता को करारा झटका लगा है।

भारतीय यूजर्स की डेटा को चुरा रहा था चाइनीज ऐप

युवा नेता पप्पू वर्मा ने कहा कि काफी समय से इन सभी चाइनीज एप के खिलाफ शिकायतें आ रही थी । इन एप्स का इस्तेमाल कर रहे हैं भारतीय यूजर्स की डेटा को चाइना कलेक्ट कर रही है जिससे साइबर सिक्योरिटी के क्षेत्र में खतरा बढ़ गया था। इन सभी ऐप को बंद करके भारत सरकार ने देशवासियों की सुरक्षा की दृष्टि से ऐतिहासिक और बड़ा कदम उठाया है। इस ऐतिहासिक और सराहनीय फैसला को भारत के प्रत्येक नागरिकों ने सराहना किया है।

चीन के विस्तार वादी मानसिकता को करारा झटका

पप्पू वर्मा ने कहा कि देश और देशवासियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए मोदी सरकार द्वारा 59 चाईनीज एप को भारत में प्रतिबंधित करने से चीन के विस्तार वादी मानसिकता को करारा झटका लगा हैं। मोदी सरकार के ऐतिहासिक फैसला से चीन को भारी कीमत चुकानी पड़ेगी।

लगातार चीन द्वारा इन सभी एप्स के माध्यम से राष्ट्रीय सुरक्षा से खिलवाड़, भारत की संस्कृति को विकृति की ओर धकेलने वाले,व भारत में बड़े पैमाने पर अपने कारोबार फैलाकर अनुचित मुनाफा कमाकर भारत के खिलाफ ही उसका उपयोग कर रहे चीन एवं चीन निर्मित सामग्रियों का विरोध भारत की जनता काफी समय से करती आ रही है। आज भारत की तमाम जनता के जन भावनाओं को ध्यान में रखते हुए मोदी सरकार द्वारा इन चीनी एप्स को भारत में प्रतिबंध लगाकर ऐतिहासिक और साहसिक निर्णय ले ही लिया। वही इस शानदार फैसले से भारत की जनता का मनोबल भी बढ़ा है।

चीनी ऐप के माध्यम से चीन द्वारा भारत में बड़े पैमाने पर अश्लीलता फैलाने कि हो रही थी कोशिश

वर्मा ने मोदी सरकार के प्रशंसा करते हुए कहा कि भारत सरकार की प्रशंसा जितनी भी की जाए वह कम है, चीनी ऐप के माध्यम से चीन द्वारा भारत में बड़े पैमाने पर अश्लीलता फैलाया जा रहा था, टिक-टॉक के माध्यम से कई पाकिस्तानी यूजर्स छोटे-छोटे वीडियो के माध्यम से भारत के खिलाफ षड्यंत्र रचने का काम कर रहा था।

कई प्रकार के ऐप्स भारत की संस्कृतियों को नष्ट करते हुए अश्लीलता परोस रहा था इन सभी प्रकार के चीनी एप्सो पर प्रतिबंध लगने से भारत सरकार के आत्मनिर्भर भारत अभियान को काफी मजबूती मिलेगा। भारत निर्मित एप्स के माध्यम से लोकल से वोकल अभियान को भी रोजगार के क्षेत्र में क्रांतिकारी परिवर्तन आएगा।

swatva

Leave a Reply