बिहार लॉक डाउन में NHAI ने जारी किया काम करने का पत्र

0

पटना :   एक तरफ पूरे बिहार में कोरोना वायरस के कारण लॉक डाउन है  किसी भी व्यक्ति को बिना किसी जरूरी काम के घर से बाहर ना जाने को बोला जा रहा है ।बिहार सरकार ने बैंक,पोस्ट ऑफिस,मीडिया के ऑफिस को छोड़ कर सारे कार्यालय को बंद करने का आदेश जारी कर दिया है । वहीं दूसरी और मोकामा प्रखण्ड के हाथीदह और मराँची थानाक्षेत्र में निर्माणाधीन NHAI का सिक्स लेन ब्रिज के लिये NHAI ने पत्र जारी कर कॉन्ट्रैक्टर को काम जारी रखने का आदेश दिया है।जो ना सिर्फ कानूनन अपराध है बल्कि सरकार के आदेश की अवहेलना भी है। गौरतलब है कि इस कार्यस्थल पर सैकड़ो मजदूर और तकनीशियन एक साथ काम करते हैं। स्थानीय लोगों ने बताया कि यहां के मजदूरों को बीती रात दो बजे तक काम करवाया गया है।

वेलस्पन कंपनी को दिया गया है काम

NHAI ने ये काम वेलस्पन कंपनी को दिया है और वेलस्पन ने एस पी सिंघला को। वहीं एस पी सिंघला स्थानीय और बाहरी लोगों से कार्य करवा रही है। सरकारी आदेश के अनुसार लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर आई पी सी की धारा 269/271 और 277 के तहत प्राथिमिकी दर्ज कर करवाई का आदेश जारी किया गया है।इसके बाबजुद इसके NHAI ने पत्र जारी कर काम करने का आदेश दिया है ।NHAI ने पत्र में यह हवाला दिया है कि हमे किसी सरकार के द्वारा काम रोकने का आदेश प्राप्त नही हुआ है। अगले आदेश तक काम जारी रखें।

23 मार्च को NHAI ने जारी किया पत्र

यह पत्र कल यानी 23 मार्च को NHAI के DGM घनश्याम कुमार के द्वारा जारी किया गया है। जबकी NHAI को ये पता होना चाहिये कि सरकार ने सिर्फ राशन, दूध, सब्जी, दवा की दुकान, पेट्रोल पंप , सी एन जी, एल पी जी के अलावा सभी तरह के प्रतिष्ठानों को बंद रखने का आदेश दिया है। इसके बाबजूद इन सभी में से खुद को स्पेशल मानते हुये NHAI और उसकी मातहत कंपनियां और ठेकेदारों ने काम जारी रखा है।

काम नहीं करने पर नहीं मिल रहा मजदूरी

मजदूरों ने बताया कि एस पी सिंघला के प्रोजेक्ट इंचार्ज रवि शंकर सिंह खुद पटना में बैठकर मजदूरों को काम करने का आदेश देते हैं और काम बंद होने पर पैसा काट लिये जाने की बात करते हैं। जबकी सरकार ने किसी के वेतन नही काटने के आदेश जारी किया है। स्थानीय बाहुबलियों का दबदबा होने के कारण इसके खिलाफ कोई शिकायत भी नहीं कर पा रहा है।

तेजप्रताप शर्मा

swatva

Leave a Reply