पटना कॉलेज के बीएमसी छात्रों ने बनायी 40 मिनट की फिल्म, पहला प्रदर्शन विभाग में

0
फिल्म 'दी फ्लॉड हीरो' को देखते पटना विवि के छात्र-छात्रा व शिक्षक

पटना : पटना कॉलेज के स्नातक जनसंचार विभाग (बीएमसी) के छात्रों ने अपनी लगन से 40 मिनट लंबी फिल्म ‘दी फ्लॉड हीरो’ बना दी। गुरुवार को इसका पहला प्रदर्शन पटना कॉलेज के जनसंचार विभाग में किया गया। बीएमसी के तृतीय वर्ष के छात्र इशांत भारती ने कहानी व पटकथा लिखी तथा इसका निर्देशन किया है। वहीं इसके निर्माता बीएमसी के शिक्षक प्रशांत रंजन हैं। फिल्म प्रदर्शन के बाद परिचर्चा का भी आयोजन किया गया, जिसमें सैंकड़ों विद्यार्थियों ने भाग लिया।

फिल्म प्रदर्शन के बाद परिचर्चा में भाग लेते विद्यार्थी

‘दी फ्लॉड हीरो’ के निर्देशक इशांत भारती ने बताया कि करीब पौन घंटे लंबी यह फिल्म पूर्णत: मूक (साइलेंट) है। इस फिल्म में एक संघर्षरत उपन्यासकार की कहानी है। फिल्म में दिखाया गया है कि समय व परिस्थिति के अनुसार मुनष्य के मनोभावों, स्वभाव में परिवर्तन आता है। वे बताते हैं कि मूक फिल्म बनाना अपने आप में चुनौतीपूर्ण कार्य है।

फिल्म की पूरी शूटिंग पटना व इसके आसपास के क्षेत्रों में की गई है। एक-दो कलाकारों को छोड़कर फिल्म में सभी कलाकर बीएमसी के तृतीय वर्ष के छात्र-छात्रा ही हैं। मुख्य कलाकार वेद प्रकाश, सहायक कलाकार में सचिन मिश्र, मो. शाहिद, आदित्य कुमार जीवन, सौरभ झा, प्रिया शामिल हैं। ​फिल्म के तकनीकी सहयोग में सुमित, अमित के अलावा बीएमसी के पासआउट सीनियर कार्तिक कुमार का भी योगदान है।

फिल्म प्रदर्शन के बाद जनसंचार विभाग की समन्वयक डॉ. कुमारी विभा ने कहा कि सीमित संसाधन में छात्रों ने फिल्म बनायी है, इसके लिए वे बधाई के पात्र हैं। विभाग का प्रयास है कि फिल्म, टीवी, रेडिया, मीडिया के क्षेत्र में बच्चे आगे बढ़ें, इसमें विभाग व कॉलेज सहयोग के लिए तैयार है।

गुरुवार को हुए ‘दी फ्लॉड हीरो’ के पहले प्रदर्शन में में पटना कॉलेज, दरभंगा हाउस के विभिन्न सत्रों के विद्यार्थी उपस्थित थे। प्रदर्शन के दौरान पटना कॉलेज की हिंदी विभागाध्यक्ष डॉ. कुमारी विभा, पटना विश्वविद्यालय में जनसंचार के शिक्षक डॉ. गौतम कुमार, मुदसिर सिद्दीकी, रवि राजन मुख्य रूप से उपस्थित रहे।

swatva

Leave a Reply