हुस्न हाजिर है..याद है? मजनूं को बचाने वाली ‘लैला’ ने पति को क्यों दी सजा?

0

पटना डेस्क : 1970 से 1980 के दशक में एक फिल्म आई थी—लैला मजनूं। इसका एक गाना बहुत मशहूर हुआ था। बोल थे—’हुस्न हाजिर है, मुहब्बत की सजा पाने को। कोई पत्थर से ना मारे मेरे दिवाने को’। यह गाना मशहूर एक्ट्रेस रंजीता पर फिल्माया गया था। बीते जमाने की इस मशहूर एक्ट्रेस रंजीता पर आज एक बेहद ही संगीन आरोप लगा है। बताया गया कि रंजीता ने अपने पति को पहले तो बहुत बेरहमी से पीटा, फिर उसने उसे अपने अपार्टमेंट के चौथे तल्ले से धक्का देकर मारने की कोशिश की। रंजीता का पूरा नाम रंजीत कौर है और उसने लैला मजनूं के अलावा अंखियों के झरोखे से, सत्ते पे सत्ता समेत कई ब्लॉक बस्टर फिल्मों में काम किया।

मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक़ रंजीता के ख‍िलाफ उनके पत‍ि राज समंद ने पुणे पुल‍िस में शिकायत की है। हालांकि मामला खुलने के बाद अब समंद और रंजीता का परिवार सबकुछ ठीक होने की बात कह रहा है। राज समंद ने सीन‍ियर स‍िटीजन हेल्पलाइन के जर‍िए अपनी पत्नी रंजीता के ख‍िलाफ श‍िकायत किया जिसमें जिक्र है कि रंजीता और दोनों का बेटा मिलकर राज समंद को अक्सर प्रताड़ित करते रहते हैं। राज समंद ने इससे पहले भी पुल‍िस में कई शिकायतें की थी जिसमें इनमें रंजीता पर उनके साथ मारपीट करने और जान से मारने की कोशिश करने का आरोप ल्रगाया गया है। श‍िकायत में कहा गया कि रंजीता और बेटे ने उन्हें चौथे तल्ले से धक्का देने की भी कोश‍िश की। बताया जाता है कि परिवार में कलह की वजह पैसा है, जो राज समंद ने देना बंद कर दिया है। इसी के बाद उनकी मुश्किलें बढ़ गईं। इस बारे में रंजीता ने पहले तो मीडिया से बात करने से मना कर दिया पर बाद में उन्होंने कहा कि हर घर में ऐसे झगड़े होते हैं। मेरे पत‍ि अमेर‍िका में काम करते हैं। बेटा भी उनके साथ काम करता है। बस ब‍िजनेस को लेकर बहस हुई थी। पुल‍िस ने इस मामले में परिवार की काउंसलिंग की जिसके बाद मामला सामान्य हुआ।

Leave a Reply