पवार को समझना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन है? पीएम से भेंट में लिखी स्क्रिप्ट!

0

मुंबई/नयी दिल्ली : शनिवार की सुबह महाराष्ट्र में आये सियासी भूकंप से समूचा देश चकित है। क्या सबकुछ अचानक हुआ? यह मानने को कोई तैयार नहीं। सारे प्यादे भूकंप को अंजाम देने के बाद फिर अपने—अपने स्टैंड पर कायम दिखने की कोशिश कर रहे हैं। लेकिन बात पच नहीं रही कि यह सब एनसीपी में टूट का नतीजा है। आइए जानते हैं कि मराठा सियासत की ताजा स्क्रिप्ट किसने और कैसे रची।

मराठा रामदास अठावले का पटना में लालू स्टाइल! दंग हुए बिहारी

प्रधानमंत्री से मुलाकात का राज क्या?

यदि महाराष्ट्र में सरकार गठन के लिए पिछले कुछ दिनों की राजनीतिक मेल—मुलाकातों पर नजर डालें तो यह स्पष्ट हो जाता है कि फाइनल स्क्रिप्ट की रूपरेखा गुरुवार को ही रख दी गई थी। तब एनसीपी प्रमुख शरद पवार किसानों की समस्या की आड़ में पीएम मोदी से मिले थे। शायद पवार और मोदी की मुलाकात का मुख्य मुद्दा शिवसेना और कांग्रेस को बड़ा झटका देना ही था।

उद्धव नहीं दिखा पाये रामविलास की सूझ, सियासी भूकंप पर किसने क्या कहा?

अठावले का खुलासा, राउत की आशंका

जैसा कि केंद्रीय मंत्री और महाराष्ट्र से ताल्लुक रखने वाले रामदास अठावले ने आज पटना में खुलासा किया, उसके अनुसार प्रधानमंत्री मोदी और शरद पवार की बैठक का मुख्य कारण ही महाराष्ट्र में एनसीपी और बीजेपी के गतिरोध को खत्म करना था। यह और बात है कि फड़नवीस के सीएम पद की शपथ लेने के बाद से ही शरद पवार लगातार कह रहे हैं कि इस संबंध में उन्हें कुछ नहीं पता था। अजीत का बीजेपी के साथ जाना पूरी तरह से उनका निजी फैसला है। इसमें एनसीपी का कोई लेना देना नहीं।

संजय राउत और प्रशांत किशोर ने किया उद्धव का बंटाधार, पढ़ें कैसे?

कांग्रेस ने दर्ज करवाई थी नाराजगी

लेकिन पीएम मोदी और शरद पवार की बैठक के बाद कांग्रेस में इसके खिलाफ आवाज उठी थी। कांग्रेस का कहना था कि महाराष्ट्र में चल रही सियासी उथल-पुथल के बीच इस तरह से शरद पवार का पीएम से मिलना गलत संदेश देता है। उस वक्त भी शरद पवार ने सफाई दी थी कि वे सिर्फ किसानों की समस्या को लेकर पीएम से मिले हैं।

बीजेपी व एनसीपी ने महाराष्ट्र में बनाई सरकार

यूं हुई फड़नवीस सरकार की राह तय

लेकिन रामदास अठावले द्वारा पवार—मोदी की मीटींग को आज के डेवलपमेंट का आधार बताना और शिवसेना नेता संजय राउत को शरद पवार को लेकर दिया गया बयान कि ‘उन्हें समझना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन है’, से सारी बातें साफ हो जाती हैं। सूत्र भी इसकी पुष्टि कर रहे हैं कि प्रधानमंत्री और पवार की बैठक में ही ‌आज शनिवार के घटनाक्रम की रूपरेखा खींच दी गई थी।

हाजीपुर में देश की सबसे बड़ी लूट, 21 करोड़ का 55 kg सोना ले भागे लुटेरे

बहरहाल, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देवेंद्र फडणवीस को महाराष्ट्र का दोबारा सीएम बनने पर बधाई दी है। पीएम ने कहा, देवेंद्र फडणवीस जी और अजित पवार जी को क्रमशः मुख्यमंत्री और उप मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने पर बधाई। मुझे विश्वास है कि वे महाराष्ट्र के उज्ज्वल भविष्य के लिए लगन से काम करेंगे।

Leave a Reply