एनडीए की सरकार ने नॉर्थ ईस्ट राज्यों को विकास की मुख्यधारा से जोड़ने का किया काम: अश्विनी चौबे

0

सिक्किम के राज्यपाल गंगा प्रसाद ने भी संवाद कार्यक्रम को किया संबोधित

पटना: केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने कहा कि नॉर्थ ईस्ट राज्यों को एनडीए की सरकार ने विकास के माध्यम से मुख्यधारा में जोड़ने का काम किया है। कोरोना के संक्रमण काल में हर संभव मदद उपलब्ध कराई गई है। बिहार एवं नॉर्थ ईस्ट राज्यों के बीच मजबूत संबंध है। बिहार के लोगों ने इन राज्यों को अपनी मेहनत एवं कर्मठता से आगे बढ़ाने का काम किया है।

मंत्री चौबे शुक्रवार को पूर्वोत्तर संवाद कार्यक्रम को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संबोधित कर रहे थे। पूर्वोत्तर संवाद वेबीनार कार्यक्रम के मुख्य अतिथि सिक्किम के राज्यपाल गंगा प्रसाद थे। इस संवाद कार्यक्रम में नॉर्थ ईस्ट राज्यों के सांस्कृतिक गतिविधि व विकास आदि विषय पर वक्ताओं ने अपनी बात रखी।

केंद्रीय मंत्री चौबे ने कहा कि इन राज्यों के समग्र विकास एवं प्रगति के लिए केंद्र सरकार कटिबद्ध है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में पिछले 6 सालों में इन राज्यों का शिक्षा, स्वास्थ्य उद्योग, सड़क निर्माण सहित सभी क्षेत्रों में सार्वजनिक विकास हुआ है। सभी मंत्रालयों का विशेष ध्यान इन राज्यों के सर्वांगीण विकास पर होता है। इसके तहत हर माह एक केंद्रीय मंत्री का दौरा भी इन राज्यों में होता है। कोविड-19 के मुश्किल दौर में इन राज्यों के बेहतर कार्य की प्रशंसा की। कोविड-19 की तैयारी के लिए फाइनेंशियल इयर 2019-20 में 8 राज्यों को 111.34 करोड़ एवं फाइनेंशियल ईयर 2020-21 के लिए 124. 25 करोड़ की राशि उपलब्ध कराई गई है।

सिक्किम की चर्चा करते हुए कहा कि पूर्वोत्तर राज्यों में सिक्किम राज्य का अपना एक विशिष्ट स्थान है। यहां की लोक कला, समृद्ध संस्कृति एवं प्राचीन इतिहास अत्यंत गौरवशाली है। यहां के सभी नागरिक अपने धर्म, संस्कृति एवं देशभक्ति में सदैव तल्लीन रहते हैं। यहां के लोगों का जीवन सरल है। इस राज्य में कई प्रजातियां अलग-अलग भाषा परिवारों और भिन्न संस्कृतियों का संगम स्थल है। यहां की भाषाई, सांस्कृतिक और लोकजीवन की विविधता से ऐसा लगता है कि यहां एक लघु भारत ही नहीं, लघु विश्व बसा हुआ है।

संवाद कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री चौबे ने कहा कि नॉर्थ ईस्ट राज्यों की सीमाएं दूसरे देशों से भी मिलती है। भारत शांति एवं अहिंसा को सर्वोपरि मानता है। इसमें विश्वास रखता है। लेकिन कोई अगर भारत की तरफ आंख उठाने का काम करता है, तो उसे मुंहतोड़ जवाब देने की क्षमता भी रखता है।

swatva

Leave a Reply