नगालैंड में गलत पहचान या कुछ और? अमित शाह ने संसद में बताया हुआ क्या था?

0

नयी दिल्ली : नगालैंड में सेना की फायरिंग में मारे गए लोगों वाले मामले में लोकसभा में गृहमंत्री अमित शाह ने बताया कि यह गलत पहचान का मामला था। सेना को सूचना थी कि वहां से कुछ अतिवादी गुजरेंगे। उसी दौरान एक वाहन वहां से गजरने लगा। सेना ने रुकने का इशारा किया। लेकिन वाहन नहीं रुका। इसके बाद सैन्य टुकड़ी ने विद्रोहियों के शक में उस वाहन पर फायरिंग की जिसमें 6 लोग मारे गए।

गृहमंत्री ने बताया कि सेना क 21 पैरा कमांडो को संदिग्धों के बारे में इनपुट मिला था कि मोन जिले के तिरु इलाके में उनकी आवाजाही हो रही है। संदिग्ध वाहन में 8 लोग सवार थे जिनमें 6 मारे गए। 2 लोगों को सैन्य अस्पताल में भर्ती किया गया। इसके बाद स्थानीय लोग उत्तेजित हो गए और सैन्य टुकड़ी पर हमले करने लगे जिसमें एक जवान की मौत हो गई। कई सैन्य वाहन फूंक दिये गए।

इसके बाद उग्र भीड़ ने सेना को चारों ओर से घेर लिया जिसपर फिर फायरिंग करनी पड़ी। इसमें 7 और लोगों की मौत हो गई। फिलहाल वहां हालात तनावपूर्ण लेकिन नियंत्रण में बने हुए हैं। इससे पूर्व लोकसभा में कांग्रेस ने इस मुद्दे को उठाया जिसके बाद काफी हंगामा भी हुआ। राज्यसभा में भी यह मुद्दा उठाया गया। दोनों जगह मामले पर गृहमंत्री के बयान की मांग की गई। तब गृहमंत्री ने अपना बयान दिया

swatva

Leave a Reply