इंटरनेट यूज़ में भारत दूसरे स्थान पर

0

दुनिया में सबसे ज़्यादा इंटरनेट यूज़र चीन में हैं, और भारत का नंबर उसके बाद आता है। लेकिन अगर यह पूछा जाए कि इंटरनेट यूज़रों में से कितने लोगों का गुज़ारा उसके बिना चल ही नहीं सकता, तो भले ही आप यकीन करें या न करें पर भारतीयों को इंटरनेट सबसे ज़्यादा पसंद है। दुनियाभर में करवाए गए एक सर्वे के मुताबिक भारतीय इंटरनेट यूज़रों का सबसे बड़ा हिस्सा ऐसा रहा, जिसका कहना था कि उनका गुज़ारा इंटरनेट के बिना चल ही नहीं सकता।

विदेशी कंपनियों ने करवाया सर्वे

एक विदेशी कंपनियों द्वारा 23 देशों के 18,180 लोगों के बीच करवाए गए इस सर्वे के मुताबिक, सिर्फ 18 फीसदी भारतीयों का काम इंटरनेट के बिना चल पाता है। जबकि 82 फीसदी इंटरनेट के अभाव में ज़िन्दगी की कल्पना ही नहीं कर पाते हैं। इंटरनेट यूज़रों के मामले में दुनिया में दूसरे स्थान पर मौजूद चीन की 77 प्रतिशत आबादी इंटरनेट के बिना गुज़ारा करने में अक्षम है। जबकि यूके में यह प्रतिशत 78 है।

प्रौद्योगिकी कंपनी सिस्को (Cisco) ने जारी कि अपनी रिपोर्ट

प्रौद्योगिकी कंपनी सिस्को (Cisco) ने कहा है कि 2023 तक इंटरनेट का इस्तेमाल करने वालों की संख्या बढ़ कर 90.7 करोड़ तक पहुंच जाएगी ।वर्ष 2018 में देश मेंइसमें से एक चौथाई मशीन से मशीन (एम2एम) माड्यूल वाले यंत्र होंगे ।रिपोर्ट के अनुसार उस समय तक देश में मोबाइल उपयोगकर्ताओं की संख्या 96.6 करोड़ हो जाएगी जो कुल आबादी का 68 प्रतिशत है ।2018 में यह संख्या 76.3 करोड़ (56 प्रतिशत) थी।

उस समय तक हर 20 में से 1 कनेक्शन 5जी वाला होगा  रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत में इंटरनेट से जुड़े उपकरणों और कनेक्शन की वृद्धि (7 प्रतिशत वार्षिक) की दर से हो रही है। जो आबादी में वृद्धि दर से अधिक है 39.8 करोड़ लोग इंटरनेट का उपयोग कर रहे थे ।सिस्को की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि 2023 तक देश में इंटरनेट से जुड़े उपकरण 2.1 अरब तक पहुंच जाएंगे।

swatva

Leave a Reply