एयर इंडिया विनिवेश : एक साल तक नहीं होगी कोई छँटनी

0

पटना : राज्यसभा सदस्य सुशील कुमार मोदी ने ट्वीट कर कहा कि रोजाना 20 करोड़ का नुकसान देने वाले एयर इंडिया का विनिवेश प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में उठाये गए आर्थिक सुधारों की ऐतिहासिक सफलता है। इस विमानन उपक्रम पर कर्ज बढकर 60,000 करोड़ हो गया था। टाटा से इसका अधिग्रहण करने के बाद 60 साल में कांग्रेस न एयर इंडिया को लाभकारी बनाये रख सकी, न विनिवेश कर पायी थी।

सुमो ने कहा कि एयर इंडिया के विनिवेश में इसके कर्मचारियों के हितों का पूरा ध्यान रखा गया है। एक साल तक कोई छँटनी नहीं होगी। एयर इंडिया की 14 हजार करोड़ की भूमि-भवन जैसी सम्पत्ति पर सरकार का स्वामित्व भी बना रहेगा, जबकि विपक्ष सरकारी सम्पत्ति बेचने का दुष्प्रचार कर रहा है। इस नीलामी से करदाताओं के पैसे को घाटा उठाने में बहाने की राजनीति का दौर खत्म होगा।

सुशील मोदी ने अन्य ट्वीट में कहा कि देश की अर्थव्यवस्था और रोजगार सृजन में डेढ सौ साल से महत्वपूर्ण योगदान करने वाली टाटा कंपनी ने जिस एयर इंडिया की शुरुआत की थी, उस पर मोदी सरकार ने भरोसा कर राजस्व घाटे का बड़ा बोझ उतारने का साहस किया। आने वाले दिनों में घाटे में चलने वाले बैंक और बीमा क्षेत्र के उपक्रम भी निजी क्षेत्र को सौंपे जाएंगे। विनिवेश से मिले पैसे गरीबों के लिए योजनाएँ लागू करने में लगेंगे।

विदित हो कि बीते दिन टाटा संस ने एयर इंडिया की सबसे अधिक 18,000 करोड़ रुपये की बोली लगाकर सरकारी एयरलाइन्स को अपने नाम की थी।

swatva

Leave a Reply