वेबसीरीज पर ‘तांडव’ शुरू, बिफरीं मायावती, लग सकता है बैन

0

अमेज़न प्राइम पर अली अब्बास जफ़र द्वारा निर्देशित तथा सैफ अली खान, डिम्पल कपाड़िया तथा जीशान अयूब अभिनीत तांडव वेबसीरीज को लेकर हंगामा मचा हुआ है। हंगामा इस बात को लेकर मचा हुआ है कि सीरीज में हिन्दू देवताओं को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी की गई है। सोशल मीडिया पर कहा जा रहा है कि इसमें मेकर्स भगवान शिव और राम को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी के है।

डायलॉग्स, जिसको लेकर मचा है बवाल

पहला विवाद सीरीज के पहले एपिसोड में फिल्माए गए एक सीन को लेकर हो रहा है, जिसमें जीशान अयूब भगवान शिव के रूप में विद्यार्थियों के समक्ष नाट्य प्रस्तुति के माध्यम से कुछ कह रहे हैं। इस बीच नारद के किरदार निभा रहे कलाकार कहते हैं नारायण-नारायण, भोलेनाथ, प्रभु, ईश्वर, ये राम जी के फॉलोअर्स दिन-ब-दिन लगातार सोशल मीडिया पर बढ़ते ही जा रहे हैं, मुझे लगता है, हमें भी कोई नई सोशल मीडिया स्ट्रैटजी (योजना) अब बना लेनी चाहिए।

इसके जवाब में शिव का रूप धारण किये जीशान अयूब कहते हैं, क्या करूँ? नई फोटो लगाऊं? इसके जवाब में नारद का किरदार निभा रहा कलाकार कहता है, भोलेनाथ, आप बहुत भोले हैं, कुछ नया कीजिये। इनफैक्ट (असल में) कुछ नया ट्वीट कीजिये, कुछ सेंसेशनल (सनसनीखेज), कुछ भड़कात हुआ शोला। जैसी कि कैंपस के सारे विद्यार्थी देशद्रोही हो गए हैं। आजादी-आजादी के नारे लगा रहे हैं।

इसके जवाब में भगवान् शिव का किरदार निभा रहे जीशान अयूब कहते हैं, आजादी? व्हाट द फ*। इस डायलॉग के बाद सारे दर्शक ख़ुशी से ताली बजाते हैं। इसके बाद आजादी के नारे लगने लगते हैं।

जाति को लेकर विवादास्पद डायलॉग

वहीं, दूसरा डायलॉग जिसको लेकर बवाल मचा हुआ है, वह है जिसमें संवाद के दौरान युवक एक युवती से कहता है कि ‘जब एक छोटी जाति का आदमी, एक ऊंची जाति की औरत को डेट करता है न तो वह बदला ले रहा होता है, सदियों के अत्याचारों का, सिर्फ उस एक औरत से’ ।

बिफरीं मायावती

विवाद बढ़ता देख भाजपा नेताओं के साथ-साथ बसपा सुप्रीमो मायावती ने भी तांडव के मेकर्स पर सवाल उठायी है। मायावती ने ट्वीट कर कहा कि ’ताण्डव’ वेब सीरीज में धार्मिक व जातीय आदि भावना को आहत करने वाले कुछ दृश्यों को लेकर विरोध दर्ज किए जा रहे हैं, जिसके सम्बंध में जो भी आपत्तिजनक है उन्हें हटा दिया जाना उचित होगा ताकि देश में कहीं भी शान्ति, सौहार्द व आपसी भाईचारे का वातावरण खराब न हो।

इस वेब सीरीज को लेकर उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के हजरतगंज थाने में तांडव के निर्देशक व लेखक के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई है।

वहीं, अब धार्मिक भावनाओं को आहत करने के आरोप में वेबसीरीज ‘तांडव’ के निर्माताओं और ओटीटी प्लेटफॉर्म अमेजन प्राइम के एक अधिकारी के खिलाफ हजरतगंज पुलिस स्टेशन में दर्ज प्राथमिकी के बाद चार पुलिसकर्मियों की एक टीम मुंबई के लिए रवाना हो गई है।

भाजपा नेता राम कदम ने कहा कि अब लखनऊ की पुलिस तांडव वेबसीरीज की पूछताछ के लिए महाराष्ट्र में आ रही है। क्या महाराष्ट्र सरकार उन्हें सहयोग करेगी ? या अमेज़न और तांडव के निर्माता निर्देशक एक्टर को बचाने का दुस्साहस करेगी? क्या रिश्ता है सरकार का और इन षड्यंत्रकारिओं ?

swatva

Leave a Reply