दिल्ली में मुस्लिम जमात का ‘कोरोना सेंटर’ India पर बड़ा खतरा

0

नयी दिल्ली : देश की राजधानी दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में स्थित मुस्लिम तिबलीगी मरकज में शामिल करीब 1400 लोगों ने भारत पर कोरोना का बड़ा खतरा डाल दिया है। इस मरकज में करीब 250 विदेशी भी हैं जिनकी जानकारी इस्लामिक सेंटर ने सरकार से छिपाई। इस संबंध में मरकज के मौलाना पर प्राथमिकी के आदेश दिये गए हैं।

अभी तक 250 की जांच में मिले 25 कोरोना पॉजिटिव

चौंकाने वाली बात यह कि प्रशासन ने जानकारी मिलने पर यहां के जिन 250 लोगों को कोरोना जांच के लिए अस्पताल भेजा, उनमें से सोमवार की देर रात तक कुल 25 लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। यह भारत के खिलाफ एक बहुत बड़ी साजिश का संकेत है।

भारत में घूमकर इस्लाम का प्रचार कर बांट रहे मौत

यह भी पता चला है कि मरकज में शामिल होने के बाद तेलंगाना पहुंचे 6 लोगों और श्रीनगर पहुंचे एक शख्स की मौत हो चुकी है। तेलंगाना के मुख्यमंत्री कार्यालय ने इसकी पुष्टि की है। 200 संदिग्ध लोगों में से जिन 25 लोगों में कोरोना वायरस के संक्रमण की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है, उनमें से 6 की जांच रिपोर्ट रविवार और 18 लोगों की रिपोर्ट सोमवार 30 मार्च को आई है।

मरकज में करीब 250 विदेशी, मौलाना ने जानकारी छिपाई

सोमवार की देर रात दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित तिबलीगी जमात के मरकज में दस से अधिक देशों के 250 नागरिकों समेत कई लोगों को दिल्ली के अलग अलग अस्पतालों में जांच के लिए ले जाया गया था। जिन लोगों को जांच के लिए ले जाया गया है, उनमें बांग्लादेश, श्रीलंका, अफगानिस्तान, मलेशिया, सऊदी अरब, इंग्लैंड और चीन के विदेशी नागरिक शामिल हैं।

पटना, रांची में भी पकड़े गए थे मरकज के लोग

विदित हो कि दिल्ली स्थित इस मरकज में 1 से 15 मार्च के बीच एक धार्मिक आयोजन में दो हजार से ज्यादा लोगों ने शिरकत की थी। इनमें इंडोनेशिया और मलेशिया के लोग भी शामिल थे। अधिकारियों ने सोमवार को बताया कि कुछ लोगों के कोरोना वायरस से संपर्क में आने की आशंका के बाद इलाके को सील कर दिया गया है। यह भी पता चला कि यहां से कुछ विदेशी और अन्य इस्लामी प्रचारक पटना, रांची, सहारनपुर के देवबंद, तामिलनाडु समेत भारत के विभिन्न शहरों में घूमते रहे और कोरोना फैलाते रहे। पटना और रांची में तो स्थानीय लोगों के हंगामे के बाद उन्हें पकड़ा भी गया लेकिन वहां की राज्य सरकारों ने इसे ज्यादा गंभीरता से नहीं लिया।

इस्लामी सेंटर से जुड़े सभी घरों, इलाकों को किया सील

फिलहाल इस मुस्लिम संगठन के मुख्यालय और घरों समेत पूरे इलाके को सील कर दिया गया है। दिल्ली पुलिस और सीआरपीएफ की मेडिकल टीमें लोगों की जांच कर रही हैं और उन्हें पृथक रखने के लिए निर्धारित अस्पतालों में भेज रही हैं। देश के कई हिस्सों में सामने आए कोरोना के कुछ मामलों को खंगाला गया तो उनका संबंध इस मुस्लिम मरकज से निकाला। दिल्ली पुलिस इलाके में नजर रखने के लिए ड्रोन का इस्तेमाल कर रही है।

swatva

Leave a Reply