Corona के कारण मजाक बन गया यूपी का ‘कोरौना’गांव, पढ़ें क्यों?

0

लखनऊ : भारत समेत सारी दुनिया इस वक्त कोरोना के आतंक से ग्रस्त है। लेकिन यूपी की राजधानी लखनऊ से 90 किलोमीटर दूर बसे एक गांव के लोग एक दूसरे ही संकट में फंसे हैं। रातों-रात यह गांव और यहां के निवासी बाहरी लोगों के लिए मजाक का विषय बन भेदभाव का शिकार हो रहे हैं। दरअसल, इस गांव का नाम ही यहां के निवासियों के लिए मुसीबत का सबब बन गया है। क्योंकि इस गांव का नाम ही कोरौना है।

यूपी के कोरौना गांव के हो, फिर जिंदा कैसे हो?

कुछ लोग नाम के कारण इस गांव के निवासियों का मजाक भी उड़ा रहे हैं। ग्रामीणों को अलग—अलग नंबर से अनजान व्यक्ति फोन कर पूछते हैं कि कहां से बोल रहे हो। जब ग्रामीण गांव का नाम कोरौना बताते हैं तो कॉल करने वाला मौज लेते हुए बोलता है कि ‘कोरौना गांव से हो! फिर आप अभी भी जीवित कैसे हो?’

गांव का नाम सुनते ही भागने लगते हैं लोग

यूपी के सीतापुर जिले में स्थित इस कोरौना गांव का नाम कोरोनावायरस से मिलता जुलता होने के कारण एक तो यहां कोई आने को तैयार नहीं होता। जब गांव वाले किसी को बताते हैं कि वे कोरौना गांव के रहने वाले हैं, तो वे उनसे दूर भागने लगते हैं। बीमारी फैलने के बाद से इस गांव के लोगों को समाज के भेदभाव का सामना करना पड़ रहा है।

पुलिस भी हो जा रही बेचैन, मुसीबत में लोग

कोरौना के ग्रामीणों की मुसीबत की बानगी देखिये कि जब वे किसी जरूरत के लिए कहीं फोन करते हैं और बताते हैं कि वे कोरौना के रहने वाले हैं तो लोग टेलीफोन काट देेते हैं। यहां तक कि पुलिस भी उन्हें देख बेचैन हो जाती है। जब यहां के किसी ग्रामीण से पुलिस पूछती है कि कहां जा रहे हो, और जब वह बताता है कि हम कोरौना जा रहे हैं तो उनके भी कान खड़े हो जाते हैं।ग्रामीण पूछते हैं कि अगर हमारे गांव का नाम ही इस तरह का है तो हम क्या कर सकते हैं?

swatva

Leave a Reply