चुनावी दंगल में बॉलीवुड से ज्यादा असरदार भोजपुरी सिने स्टार

0

पटना : फिल्मी सितारों की राजनीति में इंट्री कोई नई बात नहीं। यह परिपाटी दक्षिण भारत में एमजी रामचंद्रन, एनटी रामाराव और जयललिता से शुरू हुई। फिर इसमें राजेश खन्ना, अमिताभ बच्चन, बिनोद खन्ना, हेमा मालिनी आदि बॉलीवुड सितारों की इंट्री हुई। फिलहाल बॉलीवुड अभिनेता सनी देओल और जयाप्रदा इसबार भी चुनाव लड़ रहे हैं। लेकिन इस बार के चुनाव में बॉलीवुड से ज्यादा भोजपुरी सितारों की धमक दमदार दिखाई दे रही है। मनोज तिवारी, निरहुआ, रविकिशन समेत इस लोकसभा चुनाव में भोजपुरी सिनेमा के तमाम बड़े चेहरे चुनावी मैदान में हैं। इस चुनाव में भोजपुरी इंडस्ट्री, अन्य किसी भी इंडस्ट्री चाहे बॉलीवुड हो या साउथ इंडस्ट्री, सब पर बढ़त बनाये हुए है।

निरहुआ, मनोज तिवारी और रविकिशन का जलवा

2019 के लोकसभा चुनाव में भोजपुरी सिने स्टारों का जलवा मंच से देखने को तो मिल ही रहा है, साथ-साथ बिहार और यूपी में संभावित वोटरों को अपने पाले में करने का एक बहुत बड़ा जरिया भी बना हुआ है। इन भोजपुरी सितारों में अधिकतर भाजपा से चुनाव लड़ रहे हैं। 2014 में भाजपा के टिकट पर उतरे और पूर्वी दिल्ली से चुनाव जीतने के बाद मनोज तिवारी को दिल्ली में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी मिली। इसके बाद का काम भाजपा के लिए काफी आसान हो गया। स्टार प्रचारकों की सूची में भोजपुरी सितारों को जोड़ मतदाताओं को आकर्षित करने का जिम्मा मनोज तिवारी ने अपने कन्धों पर उठा लिया। भोजपुरी के पहले सुपरस्टार मनोज तिवारी भोजपुरी इंडस्ट्री के रसूखदार व्यक्ति माने जाते हैं। इतने रसूखदार की, फिर चाहे वो दिनेशलाल यादव निरहुआ हों या भोजपुरी गायक पवन सिंह, सभी को राजनीति में ला पाने के लिए थोड़ी-बहुत मशक्कत करनी पड़ी। भोजपुरी इंडस्ट्री के लगभग सभी बड़े चेहरे भाजपा के पाले में हैं। जहां एक ओर आजमगढ़ से सपा के अखिलेश यादव के विरूद्ध दिनेश लाल यादव निरहुआ मैदान में हैं, तो वहीं दूसरी और उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गढ़ गोरखपुर से चुनावी मैदान में उतारे गए अभिनेता रवि किशन न सिर्फ भोजपुरी बल्कि बॉलीवुड और साउथ इंडस्ट्री में भी अपनी पहचान बना चुके हैं। इसके अलावा भोजपुरी गायक और अभिनेता पवन सिंह भी भाजपा में शामिल हुए हैं और स्टार प्रचारक बनाये गए हैं।

सनी, हेमा, उर्मीला ने रखी बॉलीवुड की लाज

ऐसा नहीं है कि सिर्फ भोजपुरी स्टार ही चुनावी मैदान में हैं। बॉलीवुड के अभिनेता सनी देओल भाजपा की ओर से अमृतसर से तो वहीं उर्मिला मातोंडकर मुंबई उत्तर से कांग्रेस की ओर से मैदान में हैं। इसके अलावा आसनसोल से गायक बाबुल सुप्रियो दूसरी बार मुकाबले में उतारे गए हैं तो वहीं लम्बे समय से भाजपा के शत्रुघ्न सिन्हा इस बार पाला बदल चुके हैं और पटना साहिब से ही कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं। रामपुर से जयाप्रदा भाजपा की ओर से तो लखनऊ से सपा के टिकट पर शत्रुघ्न सिन्हा की पत्नी पूनम सिन्हा भाजपा उम्मीदवार राजनाथ सिंह से भिड़ रही हैं। इसके अलावा कांग्रेस की और से उत्तर प्रदेश कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर एक बार फिर चुनावी मैदान में हैं।

लोकसभा चुनाव हो या विधानसभा चुनाव, चुनावी मैदान में उम्मीदवारी दिखानी हो या प्रचार में स्टार प्रचारक की भूमिका, फिल्मी सितारे समय-समय पर राजनीति में हाथ आजमाते आये हैं। ये अलग बात है कि फिल्मी दुनिया छोड़, राजनीति में भविष्य बनाने और सेवा देने में कुछ ही खुद को सफल साबित कर पाए हैं। इस लोकसभा चुनाव में कौन से सितारे संसद भवन तक का रास्ता तय कर पाते हैं, यह देखना काफी दिलचस्प होगा।
सत्यम दुबे

Leave a Reply