12 मई : सारण की मुख्य खबरें

0

सी एन गुप्ता ने रिविलगंज नगर पंचायत ऑफिस में पदाधिकारियों के साथ बैठक कर कोविड 19 पर किये चर्चा

छपरा : स्थानीय विधायक डॉ सी एन गुप्ता द्वारा रिविलगंज नगर पंचायत में ऑफिस में पदाधिकारियों के साथ बैठक कर कोविड 19 पर चर्चा किया जिसमें नगर कार्यालय पदाधिकारी रिविलगंज तो सुझाव दिया कि प्रत्येक वार्ड में सैनिटाइजर कराया जाए, वार्डो का साफ सफाई को ध्यान पर दयान दिया जाय एवं रिविलगंज के शमशान घाट के सफाई होता रहना चाहिये।

प्रखंड विकास पदाधिकारी को सुझाव दिए कि प्रत्येक पंचायतों में मार्क्स का वितरण एवं टीकाकरण पर प्रचार प्रसार कर लोगों को जागरूक किया जाए । रिविलगंज सी ओ द्वारा चलाए जा रहे गौतम ऋषि हाई स्कूल में सामुदायिक किचन का जायजा भी विधायक डॉ सी एन गुप्ता ने लिया।

वहां खाना खा रहे लोगों से जानकारी प्राप्त किए कि व्यवस्था में कोई कमी तो नही है। रिविलगंज पीएचसी में टीकाकरण का भी जायजा लिया वहां लोगों से टिकट करन पर जागरूक करने का आग्रह किया । साथ ही रिविलगंज चिकित्सा पदाधिकारी द्वारा विधायक जी को बताया कि रिविलगंज में डॉ कि कमी है इस पर विधायक जी ने सिविल सर्जन से फोन पर बात करके डॉक्टर बढ़ाने को बोले। विधायक जी ने कहा कि सभी पदाधिकारी इस महामारी में कार्य कर रहे है बधाई के पात्र है।

केरला माडल को सबसे बेहतरीन माडल : अहमद अली

छपरा : अस्पतालों में आक्सीजन, ऐम्बुलेंस, दवा, बेड और आई० सी० यु० की समुचित व्यवस्था, दवा की कालाबाजारी पर रोक, इन्कमटैक्स से बाहरी हर व्यक्ति को प्रति माह 7500 रुपया, प्रत्येक व्यक्ति को छः माह तक प्रत्येक महीना 10 किलो अनाज, प्रत्येक गाँव का सेनेटाईजेशन, बैक्शीनेशन और जाँच में तेजी, आदि माँगों को लेकर आज माकपा ने राज्य कमिटी के आह्वान पर हर स्तर पर माँग दिवस का आयोजन किया गया। माँग दिवस वर्चुअल और कोरोना प्रोटोकौल का पालन करते हुए सम्पन्न किया गया।

माँग दिवस कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए माकपा राज्य सचिवमंडल सदस्य अहमद अली ने केरला माडल को सबसे बेहतरीन माडल बताया। उन्होनें इस बात की ओर ध्यान आकृष्ट किया कि कई महीना पहले स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने इस कोरोना की दूसरी लहर की भयावहता सम्बन्धित सरकार को आगाह करने के बावजूद सरकार लापरवाह बनी रही।

जिसका खामियाजा आज जनता को भुगतना पर रहा है। लोग आक्सीजन बगैर दम तोड़ रहे हैं, इससे भी शर्मनाक बात कुछ हो सकती है क्या? इस महामारी में दवा कालाबाजारियों पर अंकुश लगाने में भी सरकार पूरी तरह असफल है। नतीजा यह है कि पीड़ित को कही कहीं दसगुणा कीमत चुकाना पड़ रहा है। केवल केरल ने स्थिति की गम्भीरता को समझते हुए आक्सीजन का इतना उत्पादन किया कि दूसरे राजय भी उससे लाभान्वित हो रहे हैं। सरकार को निसंकोच उस माडल को अपनाना चाहिये।

जिले के दर्जनों शाखाओं में माँग दिवस आयोजित हुआ। माकपा के माँझी विधायक डा० सत्येंद्र यादव ने अपने आवास पर माँगों को दर्शाते हुए माँग दिवस का समर्थन किया। एकमा में अरुण कुमार, रवीन्द्र गुप्ता, रोहित सिंह, सोनपुर में नथूनी राम, अवधेश सिंह, जलालपुर में जिला सचिवमंडल सदस्य बच्चा प्रसाद राय, दलन यादव, बटेसर प्रसाद, के अलावा देवानन्द प्रसाद, प्रशुराम महतों, पंचम चौहान, सिकन्दर महतो, पिन्टू कुमार आदि ने भाग लिया।

18 से 44 वर्ष तक लाभार्थियों का किया जा रहा टीकाकरण

छपराः जिले में वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण से सुरक्षा प्रदान करने के लिए कोविड टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है। अब 18 से 44 वर्ष तक लाभार्थियों का टीकाकरण किया जा रहा है। इसी कड़ी स्वास्थ्य विभाग ने एक अहम निर्णय लिया है।

अब निजी सुरक्षा कर्मियों और अग्निशमन कर्मियों को फ्रंटलाइन वर्कर के रूप में टीकाकरण किया जायेगा। इसको लेकर राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक मनोज कुमार ने पत्र जारी कर आवश्यक निर्देश दिया है। विभिन्न सरकारी एवं निजी कार्यालयों आदि में निजी संस्थानों द्वारा सुरक्षा कर्मी / गार्ड की सेवा प्रदान की जा रही है। जारी पत्र के माध्यम से निर्देश दिया गया है कि निजी सुरक्षा गार्ड तथा अग्निशमन सेवाऐं से संबंधित कर्मचारी का को भी कोविड 19 के संक्रमण से बचाव टीकाकरण कराया जाना आवश्यक है।

अब अस्पतालों के बजाय कॉलेज व स्कूलों में बनाया गया टीकाकरण केंद्र :

कोरोना को लेकर लगातार सतर्कता बरती जा रही है। टीकाकरण केंद्रों पर भीड़ की वजह से संक्रमण नहीं फैले, इस वजह से यह कदम उठाया गया है। काफी तादाद में युवावर्ग टीकाकरण के लिए आ रहे हैं। इसके अलावा 45 से अधिक उम्र के लोगों के अलावा छूटे हुए स्वास्थ्यकर्मियों और फ्रंटलाइन वर्कर्स को भी कोरोना के टीके दिए जा रहे हैं। अब स्वास्थ्य संस्थानों से टीकाकरण केंद्रों को अलग कर दिया गया है। चिन्हित स्कूल एवं कॉलेजों में टीकाकरण केंद्र बनाये गये हैं।

30 मिनट तक की गई निगरानी :

सिविल सर्जन डॉ. जर्नादन प्रसाद सुकुमार ने बताया कि कोरोना टीका लेने वाले लाभुकों की 30 मिनट तक निगरानी की गई। टीका पड़ने के बाद स्वास्थ्यकर्मी 30 मिनट तक स्वास्थ्यकर्मियों की देखरेख में रहे। सभी कुछ सामान्य रहने के बाद लाभुकों को छोड़ दिया गया। जो टीका का पहला डोज लेने आ रहे हैँ उन्हें दूसरे डोज समय पर आकर अवश्य लेने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। साथ ही जिन लोगों ने बूस्टर डोज लिया, उनका टीकाकरण पूरा हो गया। इस दौरान लाभुकों से टीका का बूस्टर डोज अवश्य लेने की अपील की गई। जो लोग ऐसा नहीं करेंगे, उनका टीकाकरण पूरा नहीं होगा।

वैश्विक महामारी में चिकित्सकों व स्वास्थ्य कर्मियों की भूमिका महत्वपूर्ण फिर भी कर्मी हड़ताल पर

छपराः वैश्विक महामारी कोरोना संकटकाल में चिकित्सकों व अन्य स्वास्थ्य कर्मियों की भूमिका काफी महत्वपूर्ण हो चुकी है। ऐसे में इस आपदा की घड़ी में संविदा स्वास्थ्य कर्मी पूरे बिहार में हड़ताल पर चले गए हैं। लेकिन सारण जिला के संविदा स्वास्थ्य कर्मियों ने मानवता की मिसाल को पेश करते हुए हड़ताल पर जाने से इनकार कर दिया है और वे अपने कर्तव्यों का बखूबी निर्वहन कर रहे हैं।

इस संबंध में जानकारी देते हुए संविदा स्वास्थ्य कर्मी संघ के जिला अध्यक्ष सह जिला स्वास्थ समिति के डीपीसी रमेश चंद्र कुमार ने बताया कि इस संकट काल में जब मरीजों को हमारी आवश्यकता है, मरीज इलाज के लिए तड़प रहे हैं ऐसे समय में हड़ताल पर जाना कहीं से भी उचित नहीं है। उन्होंने कहा कि सरकार हमारी मांगे पूरी करें या नहीं करे, लेकिन इस समय हमारा कर्तव्य है कि मरीजों की पूरी निष्ठा के साथ सेवा करें।

नौ सूत्री मांगों के लिए अन्य जिले में हड़ताल :

नौ सूत्री मांगों को लेकर सभी संविदा स्वास्थ्यकर्मी सामूहिक होम आइसोलेशन में जाने का निर्णय लिये है। इस दौरान संविदा स्वास्थ्यकर्मी कार्य का बहिष्कार करेंगे। बताया कि मांगों में मानदेय का पुनरीक्षण कर बढ़ोत्तरी करने, कोरोना के इस काल में ड्यूटी कर रहे कर्मियों को 50 लाख रुपये का बीमा की सुविधा देने और मौत पर आश्रितों को तत्काल संबंधित राशि का भुगतान करने, कोरोना की ड्यूटी में मौत होने पर पारिवारिक पेंशन, आश्रितों को नौकरी एवं लाभ देने समेत अन्य मांग शामिल है।

संकटकाल में संविदा स्वास्थ्य कर्मियों की भूमिका महत्वपूर्ण :

सारण के सिविल सर्जन डॉ जनार्दन प्रसाद सुकुमार ने कहा कि इस महामारी के दौर में प्रत्येक कर्मियों की भूमिका महत्वपूर्ण है। चिकित्सकों, नियमित कर्मियों के साथ साथ संविदा कर्मियों भी अपने कर्तव्यों को बखूबी निभा रहे है। वे सभी लोग बधाई के पात्र है जो इस महामारी में अपने जिम्मेदारी को समझते हुए हड़ताल में शामिल नहीं हुए है।

कोरोना गाइड लाइन मुताबिक ही ईद की नमाज अदा करें

छपरा: बिहार में कोरोना का कहर जारी है इसमे दिन बदिन बढती जा रही है। मौत की तादाद भी बढ़ती जा रहीं है इसको रोकने के लिए बिहार में लॉक डाउन को लागू किया गया है। इस दौरान 13 या 14 मई को ईद ऊल फितर की नमाज अदा की जाएगी इस लिए छपरा समेत जिले के तमाम मुस्लमान से गुजारिश है कि कोरोना गाइड लाइन मुताबिक ही ईद की नमाज अदा करें।

जितने लोगों को हुकूमत की तरफ से मस्जिद या ईदगाह में नमाज पढ़ने की इजाजत दी गई है उतने ही लोग मस्जिद और ईदगाह में नमाज अदा करें बाकी लोग अपने अपने घरों में ही ईद ऊल फितर के दिन चाशत की नमाज अदा करें। चाशत की नमाज कम से कम दो रेकाअत और ज्यादा से ज्यादा बारह रेकात है।

ये अपील दारुल कजा के एदार ए शरीया छपरा सबंध एदारा ए शरीया पटना के काजी ए शरीरत मुफ्ती मोहम्मद वली उल्लाह कादरी मंगल को जारी प्रेस विज्ञपति करते हुए कहीं। उन्होंने कहा कि ईद के दिन अल्लाह ताला रोजेदार की दुआ खुसीयत से कुबूल करता है इसलिए उन्होने मुसलमानो से अपील की है कि कोरोना वायरस से निजात के लिए दुआ करें करें ताकि हमारे मुल्क ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया से कुरूना वायरस से निजात मिल सके और जो माली नुकसान हुआ है।

अल्लाह तआला उसका खुब खुब बदला दे।मुफ्ती मोहम्मद वली उल्लाह कादरी ने अपने बयान में कहा कि रमजान उल मुबारक का महीना खत्म होने वाला है इसलिए जिला के तमाम मुसलमानों से गुजारिश है कि 12 मई 2021 की शाम में ईद उल फितर का चांद देखने की कोशिश करें और चांद नजर आने के बाद दूसरे लोगों को भी दिखाएं और इसकी इत्तला एदारा को दे ताकि वक्त जरूरत शहादत लेकर ईद उल फितर का ऐलान किया जा सके। चांद नज़र आने पर इन नम्बरों पर खबर दें. 9852234311, 9431455799, 9693499606

कोविड नियमों का पालन करने में सख्ती दिखाएं जिससे कोरोना पर काबू पाया जा सके

छपरा: कोरोना पर काबू पाने वाले देश के अन्य जिलों का उदहारण देते हुए भाजपा सारण जिला के वरिष्ठ उपाध्यक्ष एवं सीवान जिला के प्रभारी सर्वश्री रणजीत कुमार सिंह, सारण भाजपा के पूर्व जिला अध्यक्ष रमेश प्रसाद, अशोक सिंह, वेदप्रकाश उपाध्याय एवं वंशीधर तिवारी ने आज बयान जारी कर सारणवासियों से भी इसी तर्ज पर आगे बढ़ने की अपील की।

उन्होंने आज कहा कि सरकार के प्रयासों और जनता के सहयोग से कोरोना के मामलों में गिरावट का दौर प्रारंभ हो गया है। हालिया प्राप्त आंकड़ों के मुताबिक देश के 180 जिलों में सप्ताह भर से कोई नया मामला सामने नहीं आया है। इसी तरह 18 जिलों में 14 और 54 जिलों में 21 दिन से नए मामले नहीं मिले हैं। जबकि रेड जोन से बाहर के 32 जिले ऐसे हैं जहां बीते 28 दिनों से कोई भी व्यक्ति कोरोना संक्रमित नहीं हुआ है. यह दिखाता है कि कोरोना पर काबू पाने के लिए सरकार द्वारा किये जा रहे प्रयास सही दिशा में जा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि देश के इन हिस्सों की तर्ज हम सारणवासियों को भी कोविड नियमों का पालन करने में और सख्ती दिखानी चाहिए, जिससे सारण का नाम भी कोरोना पर काबू पाने वाले जिलों में शुमार हो जाए. जिस प्रकार कोरोना की पिछली लहर को हमने रोकने में सफलता पायी थी, आज वक्त उसी प्रदर्शन को दोहराने का है।

उपर्युक्त नेताओं ने कहा कि सरकार द्वारा बार-बार चेतावनी देने के बाद भी कई जगहों पर कोविड प्रोटोकॉल का पालन नहीं किया जा रहा है. मीडिया में ऐसी कितनी ही तस्वीरें तैर रही हैं, जिसमें लोग बिना मास्क लगाए भीड़ लगा रहे हैं. ऐसे में हमारी आम लोगों से अपील है कि अगले कुछ महीनों के लिए सावधानियों का दामन बिल्कुल न छोड़ें. मास्क, गमछे का प्रयोग और दो गज की दुरी का पालन अवश्य करें. हाथों को साबुन या सेनीटाईजर से साफ़ किये बिना चेहरे को न छुएं. इसके अलावा बहुत जरूरी होने पर ही घर से बाहर से निकलें तथा अपनी बारी आने पर टीका जरुर लें. आपसी एकजुटता और सहयोग से ही कोरोना के खिलाफ चल रही इस जंग को जीता जा सकता है।

उन्होंने कहा कि लॉकडाउन लगने के बाद बिहार के संक्रमण दर में भी कमी आने लगी है, वहीँ रिकवरी दर में बढ़ोतरी देखी जा रही है. स्थिति को देखते हुए यह जरूरी हो गया है कि सावधानियों का पालन और सख्ती से किया जाए, जिससे जल्द से जल्द कोरोना पर काबू पाया जा सके. सरकार इसके लिए अपनी तरफ से हरसंभव प्रयास कर रही है।

अस्पताल प्रशासन को लापरवाही बरतने पर होगी कठोर कार्रवाई : जितेंद्र राय

छपरा : मढ़ौरा कोविड माहामारी के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए मढ़ौरा के राजद विधायक जितेंद्र राय ने राजद के प्रदेश सचिव नेता जिलानी मोबिन एवं अमरजीत राय सागर नौशेरेवान के साथ मढ़ौरा रेफरल अस्पताल का निरीक्षण के साथ हीं बन रहे 100 बेड के कोविड आइसोलेशन वार्ड के प्रगति की समीक्षा की। विधायक श्री राय ने अविलंब कोबिड आइसोलेशन वार्ड शुरू करने का निर्देश दिया। उन्होंने अस्पताल प्रशासन को लापरवाही बरतने पर कठोर कारवाई की भी बाते कहीं।

निरीक्षण के दौरान उपस्थित लोगों ने विधायक से कहा की मढ़ौरा प्रखंड में केवल पॉलीटेक्निक में ही कोविड का टीकाकरण किए जाने की बातें कहीं जिसपर विधायक ने कहा की आज ही डीएम से बात कर सभी पंचायतों में टीकाकरण कार्यक्रम शुरू कराया जाएगा। साथ ही उन्होंने कहा की जिला प्रशासन अविलंब मढ़ौरा एवं नगरा के सभी पंचायतों में होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों को मेडिकल कीट उपलब्ध करावे। निरीक्षण के बाद प्रेस से बात करते हुए उन्होंने कहा कि राज्य सरकार पूरी तरह फेल हो चुकी है हरमोर्चे पर नाकाम है।

सत्ताधारी दल के मंत्री से लेकर सांसद तक बिहार की जनता को भगवान भरोसे छोड़ दिए है ।बिहार की जनता कभी इनलोगों को माफ नही करेगी। उन्होंने कहा की सेवा करने वाले को जेल भेज रही है सरकार ताकि उनकी करतूतें कोई उजागर नहीं कर सके।उन्होंने कहा की पप्पू यादव को जेल भेज सरकार भ्रम में है राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव एवं हमारे नेता तेजस्वी यादव का आदेश है सरकार ही हर नाकामी का राजद पुरजोर विरोध करेगी ।उन्होंने अविलंब पप्पू यादव की रिहाई की मांग करते हुए इस पूरे घटना क्रम की जांच निष्पक्ष कराने की मांग की । विधायक श्री राय ने कहा की हिम्मत है तो एन डी ए के नेता सरकार की कमियां को भी उजागर करें। निरीक्षण के दौरान गुड्डू यादव अनिल यादव विपिन सिंह सहित अन्य थे ।

swatva

Leave a Reply