5 नवंबर : सारण की प्रमुख ख़बरें

0

जयप्रकाश विश्वविद्यालय में व्याख्यानमाला का आयोजन किया गया

सारण : छपरा जयप्रकाश विश्वविद्यालय के सीनेट हॉल में कुलपति प्रोफेसर हरकेश सिंह के अध्यक्षता में एक व्याख्यानमाला का आयोजन किया गया। जहां मुख्य अतिथि के रूप में वक्ता व कार्यक्रम के मुख्य अतिथि पूर्व कुलपति वीर कुंवर सिंह विश्वविद्यालय सुरेंद्र प्रसाद सिंह सहित कई अतिथियों ने सीनेट हॉल में लगे जयप्रकाश नारायण की तैल चित्र के सामने पुष्पांजलि अर्पित कर दीप जलाते हुए कार्यक्रम का उद्घाटन किया वही कार्यक्रम के मुख्य अतिथि को बुके देकर सम्मानित किया गया।
जहां व्याख्यानमाला में उन्होंने कहा कि मानव विकास में सतत प्रयास के बाद मानव जगत एवं वनस्पति जगत में किस प्रकार वर्तमान में विकास एवं भविष्य विकास हेतु संसाधनों को सुरक्षित रखना होगा ताकि भविष्य में समय अनुकूल एवं आवश्यकता अनुसार संसाधनों का उपयोग हो सके वही उन्होंने कई बिंदुओं पर प्रकाश डाला जहां आर्थिक उन्नति का पुनरुत्थान अत्यावश्यक संसाधनों की उपयोगिता सतत् विकास को मजबूती प्रदान करना। जबकि उन्होंने विश्व प्रसिद्ध गांधीजी की कथन का पुनरावृति की विकास करना ही सतत विकास है जिससे भारत की उन्नति और भारत विकाशशील हो सके जबकि इस मौके पर कुलसचिव परीक्षा नियंत्रक सभी विभागों के विभागाध्यक्ष शोधार्थी छात्र साथ एव कई महाविद्यालयों के प्राचार्य तथा प्राध्यापक मौजूद रहे जिसकी सूचना जनसंपर्क पदाधिकारी प्रोफेसर केदारनाथ ने दी।

हे छपरा में निशुल्क शिक्षा केन्द्र का उदघाट्न किया गया

सारण : छपरा रोटरी क्लब ऑफ छपरा और इंस्टाग्राम पेज ‘हे छपरा’ के संयुक्त तत्वावधान में गड़खा रामपुर वीरभान गांव में निशुल्क शिक्षा केन्द्र का उदघाट्न किया गया। इस मौके पर मौजूद रोटरी क्लब के सचिव अमरेंद्र सिंह ने शिक्षा के महत्व पर प्रकाश डाला और कहा कि समाज के सभी वर्गों को शिक्षित होना अति आवश्यक है। उन्होंने कहा कि अभी भी ग्रामीण इलाकों में लोग शिक्षा के महत्व को नहीं समझते लिहाजा रोटरी क्लब लगातार ग्रामीण इलाकों में शिक्षा का अलख जगा रहा है। इस मौके पर रालोसपा के राष्ट्रीय छात्र अध्यक्ष राहुल सिंह ने दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का उद्घाटन किया इस मौके पर रालोसपा के जिला अध्यक्ष अशोक सिंह , अमनोर प्रखण्ड अध्यक्ष पप्पु यादव ,गड़खा प्रखंड अध्यक्ष अशोक कुमार सिंह , हे छपरा परिवार के शशि उर्फ सावन ,अंकित कुमार सहित कई गणमान्य लोग मौजूद थे ।

सास एवं बहू के माध्यम से परिवार नियोजन पर जागरूकता फैलाई जाएगी

सारण : छपरा परिवार नियोजन पर अलख जगाने की नई पहल की गयी है। सास एवं बहू के माध्यम से परिवार नियोजन पर जागरूकता फैलाई जा रही है। इसको लेकर जिले के सभी आंगनबाड़ी केंद्रों पर प्रत्येक बुधवार या शुक्रवार को सास-बहू सम्मेलन का आयोजन को किया जा रहा है। सम्मेलन के कुशल क्रियान्वयन की जिम्मेदारी एएनएम को सौंपी गई है। जिले के कई प्रखंडो में सास-बहू सम्मेलन कराने की तैयारी चल रही है।

दस जोड़ियों का चयन करती है एएनएम

एएनएम सास-बहू की कम से कम दस जोड़ियों का चयन करती हैं और उन्हें आंगनबाड़ी केंद्रों पर बुलाती हैं। बुधवार या शुक्रवार को होने वाले इस सम्मेलन में आशा कार्यकर्ता और आंगनबाड़ी सेविकाएं भी शामिल होती हैं। ग्रामीण स्वास्थ्य, स्वच्छता एवं पोषण दिवस के अवसर पर इस सम्मेलन का आयोजन किया जाता है। इसके माध्यम से सुरक्षित मातृत्व के साथ परिवार नियोजन पर चर्चा की जाती है।

बैलून के माध्यम से दी जाती है संदेश:

केयर इंडिया के परिवार नियोजन के जिला समन्वयक प्रेमा कुमारी ने बताया कि सास-बहू सम्मेलन के दौरान सास और बहू को चार पांच बैलून गोद में दिया जाता है और उसे संभालकर रखने को कहा जाता है। लेकिन चार पांच में से एक-दो बैलून हाथ से छूट कर गिर जाता है। फिर एक जोड़ी सास-बहू को दो बैलून दिया जाता है जिसे वह असानी से पकड़ लेती हैं और नीचे नहीं गिरता है। इससे यह संदेश दिया जाता है कि अगर ऐसे हीं चार पांच बच्चे होंगे तो संभालना मुश्किल होगा। इससे आर्थिक स्थिति भी खराब होगी। दो बच्चों को बाद परिवार नियोजन के साधनों का प्रयोग करने के लिए प्रेरित किया जाता है।

सास-बहू करती है काना-फूसी:

सास-बहू सम्मेलन के दौरान स्वास्थ्य विभाग के टीम के द्वारा सास-बहू के जोड़ियों के साथ खेल खेला जाता है। जिसमें सास-बहू काना-फूसी करती हैं। इसके माध्यम से यह संदेश दिया जाता है कि काना-फूसी व परिवार नियोजन के बारे में अफवाहों पर ध्यान न दें। बल्कि आशा या एएनएम के द्वारा बताये गये परिवार नियोजन के साधनों का इस्तेमाल करें।

परिवार नियोजन के इन साधनों पर चर्चा:

सास-बहू सम्मेलन में परिवार नियोजन के स्थायी एवं अस्थायी साधनों के बारे में जानकारी दी जाती है। स्थायी साधनों में महिला नसबंदी एवं पुरुष नसबंदी एवं अस्थायी साधनों में कॉपर टी, गर्भ-निरोधक गोली(माला-एम एवं माला-एन), कंडोम एवं इमरजेंसी कंट्रासेपटीव पिल्स के बारे में बताया जा रहा है। नवीन गर्भनिरोधक ‘अंतरा एवं ‘छाया’ के इस्तेमाल पर ज़ोर दिया जा रहा है। ‘अंतरा’ गर्भ निरोधक इंजेक्शन का इस्तेमाल एक या दो बच्चों के बाद गर्भ में अंतर रखने के लिए दिया जाता है। साल में इंजेक्शन का चार डोज दिया जाता है। वहीं ‘छाया’ गर्भ निरोधक एक साप्ताहिक टेबलेट है।

एएनएम देती हैं ये जानकारी:

• विवाह के सही उम्र, लड़के के 21 एवं लड़की की 18 वर्ष
• शादी के बाद कम से कम दो वर्ष बाद पहला बच्चा
• पहले एवं दूसरे बच्चे में कम से कम तीन साल का अंतराल
• छोटा परिवार एवं समिति परिवार के लाभ
• परिवार नियोजन के स्थाई एंव अस्थाई साधन के बारे में जानकारी

क्या कहते हैं सिविल सर्जन
सास-बहू सम्मेलन परिवार नियोजन में सार्थक साबित हो रहा है। सम्मेलन के माध्यम से सास और बहू दोनों को परिवार नियोजन के बारे में जानकरी दी जा रही है। जिस वे दोनों आपस में राय विचार कर परिवार नियोजन के साधनों को अपना रही है।

छपरा सारण महोत्सव में सम्मान गोष्ठी का आयोजन

सारण : छपरा सारण महोत्सव के तत्वावधान में राणा यसवंत सम्मान गोष्ठी का आयोजन स्थानीय वात्सल्य स्कूल के सभागार में शिक्षाविद् रामदयाल शर्मा की अध्यक्षता में आयोजित किया गया। इस अवसर पर सम्मान गोष्ठी को संबोधित करते हुए देश के सुख्यात पत्रकार राणा यसवंत ने कहा कि अपने सारण्य की सभ्यता संस्कृति पर हमें गर्व है। पुरातनकाल से ही हमारा इतिहास गौरवशाली रहा है। सोनपुर हरिहर क्षेत्र से लेकर गौतम स्थान स्थित गौतम ऋषि का आश्रम सहित दर्जनों स्थान हमें आज भी उर्जा प्रदान करती है।
हमारे पूर्वज प्रथम राष्ट्रपति देशरत्न राजेंद्र प्रसाद , मौलाना मजहरुल हक , लोकनायक जयप्रकाश नारायण वहीं लोकसंस्कृति के क्षेत्र में भोजपुरी के शेक्सपियर भिखारी ठाकुर व पूर्वी के जनक पंडित महेंद्र मिश्र आज भी हमे प्रेरणा प्रदान करते हैं। इस अवसर पर सम्मान गोष्ठी को संबोधित करने वालों में सारण्य महोत्सव के आयोजन संयोजक चन्द्र प्रकाश राज, जेपी विवि के पूर्व कुल सचिव प्रो अशोक कुमार यादव , जेपी विवि के पूर्व विधि पदाधिकारी प्रो जयराम सिंह, पूर्व प्राचार्य राजेन्द्र सिंह, छपरा विधि मंडल के महासचिव रवि रंजन सिंह, रोटरी सारण के संस्थापक अध्यक्ष श्यामबिहारी अग्रवाल, प्राइवेट स्कूल असोसिएशन की अध्यक्ष सीमा सिंह,शिक्षाविद् जटी विश्वनाथ, शंकर शरण शिशिर, सुप्रशांत सिंह मोहित, प्रियंका कुमारी सिंह, आरती सहनी, धर्मेन्द्र कुमार सिंह, संजय भारद्वाज, संजीव चौधरी, रोहित प्रधान, कुंवर जयसवाल, सहित दर्जनों वक्ताओं ने अपने अपने विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम में सारण महोत्सव , रोटी बैंक , फेस ऑफ फ्यूचर के सदस्यों ने अपनी अपनी संस्था की ओर से मोमेन्टो व अंग वस्त्र देकर सम्मानित किया। श्री यशवंत के सम्मान में भोजपुरी के प्रसिद्ध गायक रामेश्वर गोप ने कई गीत प्रस्तुत कर श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर दिया।

आक्रोशित लोगों ने सड़क को जाम किया

सारण : छपरा रिविलगंज थाना क्षेत्र स्थित मेथवलिया जलालपुर गांव में मारपीट में जख्मी युवक की इलाज के दरमियान हुई मौत के बाद आक्रोशित ग्रामीणों ने शव को सड़क पर रखकर जाम कर दिया. इस दौरान करीब तीन घंटे सड़क जाम रहा. सैकड़ों आक्रोशित लोग छपरा – सीवान मार्ग पर शव को रखकर प्रदर्शन करते रहे और मृतक के आश्रितों को सरकारी नौकरी देने की मांग पर अड़े रहे. बाद में पुलिस प्रशासन तथा जनप्रतिनिधियों के हस्तक्षेप से सड़क जाम हटाया गया और मृतक के शव का अंतिम संस्कार कराया गया. बताया जाता है कि छठ पूजा की रात को सब्जी दुकानदार सोहराब अली (45 वर्ष) को उसी गांव के लगभग आधा दर्जन लोगों ने मारपीट कर गंभीर रूप से घायल कर दिया था. जिसे इलाज के लिए परिजनों के द्वारा सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया।

गंभीर अवस्था में चिकित्सकों ने पीएमसीएच रेफर कर दिया, जहां इलाज के दौरान रविवार की रात को सोहराब अली की मौत हो गयी. बताते चलें कि रविवार को पीएमसीएच,पटना में सोहराब अली की मौत के बाद पोस्टमार्टम कराकर पुलिस ने परिजनों को शव को सौंप दिया. इसकी सूचना पाकर मौके पर डीएसपी रहमत अली, सदर पुलिस निरीक्षक हीरालाल प्रसाद, पुलिस निरीक्षक बालेश्वर राय, रिविलगंज थानाध्यक्ष प्रशांत कुमार, रसुलपुर थानाध्यक्ष रामसेवक रावत आदि पुलिस बलों के जवान मौजूद थे।
पहले से भी गांव में पुलिस तैनात थी. वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के पहुंचने के बाद ग्रामीणों को समझा-बुझाकर मामले को शांत कराया गया. मामला पुरी तरह नियंत्रण में है ऐहतियातन पुलिस कैंप कर रही है।

सोनपुर मेले को समीक्षा बैठक

सारण : छपरा जिलाधिकारी सुब्रत कुमार सेन के द्वारा विश्व प्रसिद्ध हरिहर क्षेत्र सोनपुर मेला 2019 के तैयारियों का जायजा सोनपुर स्थित निरीक्षण भवन में पदाधिकारियों के साथ लिया गया। जिलाधिकारी ने कहा कि सभी तैयारियों को अंतिम रूप देते हुए 8 नवम्बर तक पूर्ण करा लिया जाय। तैयारी में कोई कमी नहीं रहे। मेला को बेहतर ढंग से लगाते हुए इसे भव्य रूप दिया जाय। जिलाधिकारी के द्वारा सफाई के लिए चयनित दोनों एजेंसियों मानस एवं सुगम इंडिया के प्रोपराईटर को निर्देश दिया गया कि तीन शिफ्ट में कार्यो को बांट कर चैबीस घंटे सफाई करायी जाय। दुकान के सामने सभी पथों, मुख्य मेला क्षेत्र और घाटों पर कहीं भी गंदगी नहीं दिखनी चाहिए।
इसके अतिरिक्त नजर परिषद और पीएचईडी भी स्वच्छता की व्यवस्था रखेगी। जिलाधिकारी ने कहा कि बहार से मेले की ओर आने वाली सड़क के दोनों ओर 8 नवम्बर तक पूर्ण सफाई की व्यवस्था करायी जाय। पथ निमा्रण विभाग के कार्यपालक अभियंता को बरबहा मोड़ से डाकबंगला की ओर जाने वाली सड़क को ठीक कराने तथा मेला क्षेत्र के पथों को दो दिनों के अंदर मरम्मत कराने का निर्देश दिया गया। कार्यपालक अभियंता पीएचईडी के द्वारा बताया गया कि मेला क्षेत्र में पेयजल की व्यवस्था हेतु चापालक लगा दिया गया है और पाईप भी बिछाया जा रहा है। अभी तक 20 शोख्ता बनाया गया है। जिलाधिकारी के द्वारा जरूरत के अनुसार सभी जगह पनशोखन बनवाने का निर्देश दिया।
जिलाधिकारी ने कहा कि मेले मंे स्वच्छ जल उपलब्ध कराने की व्यवस्ािा करायी जाय। कार्यपालक अभियंता भवन को निर्देश दिया गया कि सभी सरकारी भवनों और चाहरदीवारी की रंग रोगन कराये और कहा कि दीवाल डैम्प नहीं दिखना चाहिए। जिलाधिकारी ने कहा कि कार्तिक पूर्णिमा के दिन बड़ी संख्या में स्नानार्थी पधारते ह। उन्हें कोई परेशानी नहीं हो इस पर ध्यान दिया जाय। सभी स्नान घाटों पर आठ से नौ तक बैरिकेटिंग का कार्य पूर्ण करा लिया जाय। जिलाधिकारी के द्वारा सभी स्टाॅलों को एकरूपता प्रदान करने का निर्देश देते हुए कहा गया कि स्टाॅलों में सफेद और नीले रंग के कपड़ा का प्रयोग किया जाय। जिलाधिकारी के पशुचिकित्सा का व्यापक प्रबंध करने का निर्देश देते हुए कहा कि मेला के आने वाले पशुओं का निःशुल्क इलाज, दवा और टीकाकरण किया जाय। घोड़ा बाजार, गाय बाजार और बैल हट्टा में पशुचकित्सा कैम्प लगाया जाय।
जिलाधिकारी के द्वारा समीक्षा बैठक के बाद संपूर्ण मेला क्षेत्र का भ्रमण किया गया और निर्माणाधीन कार्यो को देखा गया और इस सम्बंध मं निर्देश दिया गया। जिलाधिकारी ने कहा िकइस बार सांस्कृतिक कार्यक्रमों में ख्याति प्राप्त कलाकार भाग लेंगे और नया लुक देने के लिए बहिरंगी खेल प्रतियोगिताओं के साथ सथ पुुस्तक मेला और फैशन शो भी कराया जाएगा। इस अवसर पर जिलाधिकारी के साथ एडीएम, डीडीसी सहित सभी जिला स्तरीय पदाधिकारी, एडीओ, डीसीएलआर, बीडीओ, सीओ सहित सोनपुर अनुमंडल के पदाधिकारी उपस्थित थे।

sdo का औचक निरिक्षण

सारण : छपरा सदर एसडीओ अभिलाशा शर्मा द्वारा मांझी प्रखंड के कौरु धौरु पंचायत में जन वितरण प्रणाली के दुकानो कि जाँच की गई। कुल पांच दुकानो कि जाँच में 2 दुकान बन्द पाए गयें। बन्द पाए गये दुकान कि अनुज्ञप्ती जवाहर लाल चौधरी एवं वीरेंद्र कुमार सिंह के नाम से हैं। साथ ही अन्य 3 दुकानो में अनियमितता पाई गईं, जिनकी अनुज्ञप्ती शम्भुनाथ सिंह, चन्द्रावती देवी एवं बृज किशोर सिंह के नाम से है। सभी से स्पष्टीकरण कि मांग कि जा रही है। स्पष्टीकरण प्राप्त होने के बाद कार्रवाई कि जायेगी।

ऑवला वृक्ष पूजन सहभोज कार्यक्रम का आयोजन

सारण : छपरा अक्षय नवमी के पावन अवसर पर युवा ब्राह्मण चेतना मंच , छपरा के तत्वावधान में स्थानीय भारतेश्वरी मारवाड़ी संस्कृत महाविद्यालय के परिसर में ऑवला वृक्ष पूजन सहभोज कार्यक्रम का आयोजन किया गया।ऑवला वृक्ष का पूजन वैदिक मन्त्रों के सस्वर पाठ के मध्य श्री धर्मनाथ मन्दिर के महन्थ श्री विन्देश्वरी पर्वत जी महाविद्यालय के प्राचार्य डाॅ0गजानन पाण्डेय एवम् मंच के संयोजक डाॅ0 सुभाष पाण्डेय ने किया। वैदिक परम्परा से प्रकृति पूजन आचार्य पं0 विनय कुमार मिश्र,आचार्य पं0 श्री नारायण शुक्ला,आचार्य पं0 वीरेंद्र नाथ पाण्डेय, पं0 हरेराम शास्त्री,आचार्य पं0कमलेश मिश्रा,आचार्य पं0 ध्रुव कुमार मिश्र ,आचार्य पं0 नरेन्द्र मिश्रा,आचार्य पं0 अमरेन्द्र ओझा ऊर्फ पिन्टु जी, आचार्य डाॅ0 कृष्ण कुमार मिश्र ऊर्फ बन्टी बाबा ,आचार्य पं0 शशि प्रकाश मिश्र मनोज,पं0 प्रभाष पाण्डेय,पं0 बबलू तिवारी,सहित महाविद्यालय के सभी शिक्षक एवम् छात्र गण थे।इस अवसर पर डाॅ0 गजानन पाण्डेय,डाॅ0 सुभाष पाण्डेय एवम् जिला अध्यक्ष आचार्य पं0 हरेराम शास्त्री ने कहा कि ऑवला वृक्ष पूजन एवम् सहभोज कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य कार्तिक मास में ऋषि परम्परा अनुसार ऑवला वृक्ष पूजन कर प्रकृति एवम् वनस्पति का संरक्षण एवम् संवर्धन करना है। सहभोज के माध्यम से सामाजिक समरसता स्थापित करने की संदेश दिया जाता है। वहीँ धन्यवाद ज्ञापन भारतेश्वरी मारवाड़ी संस्कृत महाविद्यालय के साहित्य विभागाध्यक्ष डाॅ0 चन्द्रभान त्रिपाठी ने दिया।

जितेंद्र

Leave a Reply