29 जून : सारण की मुख्य ख़बरें

0
chhapra news

जेपीयू ने स्नातक द्वितीय खंड सहित अन्य परीक्षाएं की स्थगित

सारण : जयप्रकाश विश्वविद्यालय ने यूजीसी के निर्देश व छात्र संगठनों की मांग पर आगामी 13 जुलाई से होने वाली स्नातक द्वितीय खंड सहित अन्य सभी परीक्षाएं अगले आदेश तक स्थगित कर दी गई हैं। परीक्षा नियंत्रक डॉ अनिल सिंह के हवाले से मिली जानकारी। यूजीसी के निर्देश व छात्र संगठन के माँग पर कोरोना संक्रमण को देखते हुए उक्त निर्णय जेपीविवि प्रशासन द्वारा लिया गया है।

कोरोना संकट : घर-घर जा आंगनबाड़ी सेविकाएं कर रही आयरन की गोली का वितरण

सारण : किशोरावस्था स्वस्थ जीवन की बुनियाद होती है। इस दौरान बेहतर शारीरिक एवं मानसिक विकास से स्वस्थ जीवन की आधारशिला तैयार होती है। किशोरियों में खून की कमी भविष्य में सुरक्षित मातृत्व के लिए ख़तरनाक साबित होती है। इसे ध्यान में रखते हुए स्वास्थ्य विभाग द्वारा साप्ताहिक आयरन फॉलिक एसिड अनुपूरण कार्यक्रम की शुरुआत की गयी है। जिसके तहत 10 से 19 वर्ष तक के किशोर एवं किशोरियों को सप्ताह में आयरन की एक नीली गोली वितरित करने का प्रावधान किया गया है। कोरोना संकट काल में स्कूल व आंगनबाड़ी केंद्र बंद कर दिया गया है। ऐसे में आगनबाड़ी सेविका और आशा कार्यकर्ता घर-घर जाकर किशोर-किशोरियों के बीच आयरन गोली का वितरण कर रही हैं।

साप्ताहिक आयरन फॉलिक एसिड अनूपुरण कार्यक्रम:

साप्ताहिक आयरन फॉलिक एसिड अनूपुरण(विफ़्स) कार्यक्रम के तहत विद्यालय जाने वाले तथा विद्यालय नहीं जाने वाले किशोर-किशोरियों को आशा कार्यकर्ताओं द्वारा घर-घर जाकर आयरन की गोली उपलब्ध करायी जा रही है। आशा की जिम्मेदारी दी गयी है कि वह अपने पोषक क्षेत्र में शिक्षक, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के सहयोग से प्रति किशोर-किशोरियों को प्रथम चरण में आई स्ट्रीप्स 15 गोली देने के लिए आंकलन कर एएनएम से मांग करेंगी। 10 से 19 वर्ष अथवा कक्षा 6 से 12वीं तक विद्यालय नहीं जाने वाली किशोरियों को पूर्व की तरह आंगनबाड़ी कार्यकर्ता घर-घर जाकर आई स्ट्रीप्स आईएफए ब्लू गोली (15) उपलब्ध करा रहीं है तथा खाने की विधि को विस्तार से बता रही हैं। यह व्यवस्था तब तक रहेगी जब तक स्कूलों में पूर्व की तरह संचालित नहीं हो जाये। आंगनबाड़ी केंद्रों को बंद रखने के लिए जब तक आपेक्षित है तब आंगनबाड़ी कार्यकर्ता विद्यालय नहीं जाने वाले किशोर-किशोरियों को आयरन की गोली उपलब्ध करायेंगी। यह बताया जायेगा कि सप्ताह के प्रत्येक बुधवार को नीली गोली ताजा पानी के साथ खाना खाने के बाद लेना है।

लक्षित समूह:

• स्कूल जानेवाले सभी किशोर व किशोरी जो की छठी कक्षा से लेकर बारहवीं कक्षा के बीच हों.
• सभी बच्चे जो 10 वर्ष से 19 वर्ष की आयु के बीच हों.
• ऐसी किशोरी जो की स्कूल नहीं जाती हो.

किशोरियों में खून की कमी गंभीर स्वास्थ्य समस्याएँ :

सिविल सर्जन डॉ. माधवेश्वर झा ने बताया एनीमिया को लेकर लोगों के व्यवहार परिवर्तन के लिए सामुदायिक स्तर पर अनेकों प्रयास भी किए जा रहे हैं। किशोरियों में खून की कमी गंभीर स्वास्थ्य समस्याएँ खड़ी करती है। किशोरी ही भविष्य में माँ बनती है। इसलिए किशोरावस्था में उनका बेहतर स्वास्थ्य सुखद एवं स्वस्थ मातृत्व के लिए जरूरी हो जाता है। विफ़्स कार्यक्रम के तहत इस समस्या को दूर करने की अच्छी पहल की गयी है।

आयरन की कमी गंभीर समस्याओं का संकेत:

• शरीर में आयरन की कमी से कई गंभीर समयाएँ उत्पन्न होती है।
• आयरन की कमी से किशोरों में स्मरण शक्ति, पढ़ाई में अच्छे प्रदर्शन एवं सक्रियता में कमी आ जाती है
• सम्पूर्ण मानसिक एवं शारीरिक विकास में बाधा
• रोग प्रतिरोध क्षमता में कमी के कारण संक्रमण फैलने का अधिक ख़तरा
• मातृ एवं शिशु मृत्यु दर में बढ़ोतरी
• प्रसव के दौरान स्वास्थ्य जटिलताओं में वृद्धि

प्लांट लवर्स ने पौधरोपण पर शहीद जवानों को दी श्रद्धांजलि

सारण : शहर के सामाजिक कार्यकर्ताओं की टीम प्लांट लवर्स ने पिछले दिनों लद्दाख में हुए चीन और भारत के बीच संघर्ष में शहीद 20 जवानों को श्रद्धांजलि देते हुए उनके याद में कार्यकर्ताओं के द्वारा थाना चौक और नगरपालिका चौक के बीच डिवाइडर पर पेड़ लगाकर याद किया तथा सच्ची श्रद्धांजलि दी वही इस अवसर पर मुख्य रूप से सामाजिक कार्यकर्ता पूर्व विधानसभा प्रत्याशी डॉ प्रीतम यादव, ओम प्रकाश गुप्ता, लवर्स संस्था के संस्थापक यासिर अंसारी, अक्षिता राशिद अली, तारिक अनवर, चितरंजन सिंह, अली अहमद, तनवीर हसन, फुरकान अहमद, सहित कई सदस्य मौजूद रहे।

राजेंद्र स्टेडियम खोलने के लिए डीएम को लिखा आवेदन

सारण : भारतीय जनसेवा युवा मोर्चा के प्रमुख संरक्षक सह वरिष्ठ छात्र नेता शेख नौशाद ने जिलाधिकारी सारण को लिखित आवेदन देकर छात्र हित में राजेंद्र स्टेडियम को खोलने की मांग की है, उन्होंने आवेदन में कहा है कि पिछले दिनों बिहार पुलिस का रिज़ल्ट आया जिसमें शहर से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों में हजारों महिला पुरूष अभ्यर्थी बिहार पुलिस परीक्षा में सफल हुए हैं। लेकिन, फिजिकल के तैयारी के लिए राजेंद्र स्टेडियम छोड़ कर कोई जगह अनुकूल नहीं है। वहीं छात्र युवानेता ने कहा कि जब शहर के सभी चिज़ खुल गया है तो स्टेडियम बंद रखना उचित नहीं है सफल अभ्यर्थियों के उज्जवल भविष्य को देखते हुए जिलाधिकारी महोदय को स्टेडियम खोलने का आदेश देना चाहिए।

कोरोना संकट में गर्ववती महिलाओ का रखा जा रहा विशेष ख्याल

सारण : कोरोना संकटकाल के बीच मातृत्व स्वास्थ्य सेवाओं को व्यवस्थित एवं सुदृढ करने के लिए स्वास्थ्य विभाग की ओर से तमाम प्रयास किये जा रहें है। इसी कड़ी में छपरा सदर अस्पताल में कोविड-19 से संक्रमित या संदिग्ध गर्भवती महिलाओं के लिए विशेष प्रसव वार्ड का निर्माण किया गया है। ताकि प्रत्येक माता व शिशु को सुरक्षित किया जा सके। विशेष वार्ड का संचालन शुरू कर दिया गया है। सदर अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में ही विशेष वार्ड बनाया गया है। इस वार्ड में सभी जरूरी दवा व उपकरणें की उपलब्धता सुनिश्चित करा दी गयी है।

सिविल सर्जन डॉ. माधवेश्वर झा ने बताया अगर किसी गर्भवती महिला को कोविड 19 संक्रमण के लक्षण हो तो प्रसव के दौरान सभी संलग्न स्वास्थ्य कर्मी भारत सरकार द्वार बताये गये इंफेक्शन प्रीवेंशन एंड कंट्रोल गाइडलाइन में निहित प्रावधान का अनुसरण करना है। इसके लिए गर्भवती माताओं के प्रसव के लिए अस्पताल में विशेष वार्ड बनाया गया है। इन गर्भवती माताओं के प्रसव कार्य में कम से कम चिकित्सा कर्मियों का उपयोग किया जायेगा। साथ हीं आवश्यकतानुसार कोरोना संक्रमित गर्भवती महिलाओं को रेफर भी किया जायेगा। इस मौके पर हेल्थ मैनेजर राजेश्वर प्रसाद, लेबर रूम इंचार्ज जागृति सिंह, जीएनएम ममता रानी, केयर इंडिया के डीटीओ-एफ रविश्वर कुमार, केयर के डीएमटी गुंजन क्षेत्री, केयर इंडिया के बीएम अमितेश कुमार, लेखापाल बंटी कुमार रजक, सीफार के प्रमंडलीय कार्यक्रम समन्वयक गणपत आर्यन समेत अन्य स्वास्थ्य कर्मी मौजूद थे।

सुरक्षा के दृष्टि से बनाया गया अलग वार्ड:

कोविड- 19 संक्रमण का प्रसार तेजी से हो रहा है. लेकिन इस दौर में भी प्रसव सेवाएं को निरंतर गुणवत्ता पूर्वक बनाए रखना जरूरी है. कोविड- 19 से ग्रसित गर्भवती महिलाओं का सुरक्षित प्रसव एवं संक्रमित शिशुओं की सुरक्षा के मद्देनजर अलग से कोविड- 19 पॉजिटिव प्रसूताओं के लिए अलग लेबर रूम की जरूरत बढ़ जाती है। इसे ही ध्यान में रखते हुए विशेष वार्ड निर्मित किया गया है।

वार्ड में साफ-सफाई का विशेष ध्यान:

इस वार्ड में साफ-सफाई का विशेष ख्याल रखा जा रहा है। आवश्यकतानुसार दिन में तीन से चार बार सफाई की जा रही है। साथ ही पूरे वार्ड को सेनिटाईज भी किया जा रहा है। इस वार्ड में लाइट-पानी टेबल, कुर्सी, बेड, अलमीरा, समेत अन्य जरूरी सेवा उपलब्ध करायी गयी है। इस वार्ड में भर्ती गर्भवती महिलाओं के स्वास्थ्य का विशेष ख्याल रखा जायेगा।

मरीज को छोड़कर अटेंडेंट की एंट्री नहीं:

इस वार्ड में कोविड-19 से बचाव को लेकर विशेष सर्तकर्ता बरती जा रही है। वार्ड में आने वाली गर्भवती महिलाओं के साथ किसी भी परिजन को अंदर जाने की इजाजत नहीं दी गयी है। परिजनों के बैठने के लिए बाहर वेंटिंग हॉल बनाया गया है, जहां वे बैठकर इंतजार करेंगे। साथ ही गर्भवती महिलाओं के बेहतर स्वास्थ्य सेवाओं के साथ खाने की भी सुविधा मुहैया करायी गयी है।

कोरोनावायरस से खुद को कैसे बचाएं प्रेग्नेंट महिलाएं:

कोरोनावायरस के संक्रमण से बचने के लिए प्रेग्नेंट महिलाओं को कुछ खास बातों का ध्यान रखना चाहिए। खांसी के दौरान अपने मुंह को ढक कर रखें। टिश्यू ना होने पर खांसी के समय अपने हाथ की बाजू से मुंह ढकें। बीमार लोगों से बिल्कुल भी न मिलें। भीड़ वाली जगहों पर ना जाएं। समय-समय पर हाथ धोते रहें और सैनिटाइजर का इस्तेमाल करते रहें। सावधानी रखें लेकिन घबराएं नहीं क्योंकि स्ट्रेस आपके बच्चे के लिए घातक हो सकता है।

आगामी विधानसभा चुनाव को ले वैश्य महासभा की हुई अहम बैठक

सारण : वैश्य समाज की बैठक हीरा पैलेस में आयोजित की गई। बैठक में वैश्य समुदाय ने एक स्वर में यह निर्णय लिया, जो भी राष्ट्रीय पार्टी वैश्य समाज के व्यक्ति को अपना प्रत्याशी बनाएँगी, वैश्य समाज उसे हीं अपना समर्थन देगा। वैश्य समाज के व्यक्ति को किसी भी राजनीतिक राष्ट्रीय पार्टी द्वारा टिकट नहीं देने पर वैश्य समाज एकजुट होकर अपना प्रत्याशी खड़ा करेगा। छपरा जिला के दश विधानसभा सीट में कम से तीन सीट पर राजनीतिक दलों से वैश्य समाज का प्रत्याशी बनाने की मांग की हैं। यदि किसी भी राजनीतिक दल द्वारा वैश्य समाज का प्रत्याशी नहीं बनाएँ जाने की स्तिथि में दशों विधान सभा में वैश्य समाज अपना प्रत्याशी उतारने में सक्षम हैं।

कार्यक्रम में भाजपा द्वारा जिले और प्रदेश में वैश्य समाज से पदाधिकारी बनाये जानें पर भारतीय जनता पार्टी के प्रति आभार व्यक्त किया गया तथा धन्यवाद प्रेसित किया गया। धर्मेंद्र साह, श्याम बिहारी अग्रवाल,वरुण प्रकाश, आदित्य अग्रवाल, राजेश फैशन आदि को पुष्प गुच्छ तथा अंगवस्त्र देकर सम्मानित किया गया।

कार्यक्रम की अध्यक्षता शत्रुघ्न प्रसाद गुप्त चतुरी जी ने किया। आगत अतिथियों का स्वागत वैश्य शिरोमणि गंगोत्री प्रसाद अधिवक्ता ने किया। कार्यक्रम का संचालन श्याम बिहारी अग्रवाल ने किया। धन्यवाद ज्ञापन दीन दयाल प्रसाद अधिवक्ता ने किया।

कार्यक्रम को मुख्य रूप से वरूण प्रकाश राजा, धर्मेंद्र साह, राजेश फैशन, कृष्ण कुमार वैष्णवी, प्रोफेसर सिया शरण प्रसाद, बैद्यनाथ प्रसाद, संतोष कुमार एलआईसी, राजेश गोल्ड, सोहन कुमार गुप्ता, अजय कुमार गुप्ता, आदित्य अग्रवाल, सुनिल कुमार ब्याहुत, श्याम सुन्दर प्रसाद रौनियार, ब्रह्मदेव नारायण ज्ञानी, राजेश डाबर, सुषमा सोनी, पंकज कुमार जायसवाल आदि ने सम्बोधित किया। इस अवसर पर सैकड़ो वैश्य उपस्थित हुए।

समीर कुमार सिंह के विधानं पार्षद बनाने पर कार्यकर्ताओं में ख़ुशी

सारण : डाक्टर समीर कुमार सिंह का विधान पार्षद बनाना जमीनी कार्यकर्ताओं को सम्मान है, उक्त बातें सारण जिला कांग्रेस सोशल मीडिया व आईटी सेल के जिला अध्यक्ष नदीम अख्तर अंसारी ने बिहार प्रदेश कांग्रेस कमिटी के कार्यकारी अध्यक्ष डाक्टर समीर सिंह के बिहार विधान परिषद के सदस्य निर्विरोध निर्वाचित होने पर कही। सांथ ही उन्होंने राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीमती सोनिया गांधी व जननायक राहुल गांधी काआभार व धन्यवाद देते हुए कहा की आलाकमान के इस निर्णय से कि पार्टी जमीन कार्यकर्ता को ये सम्मान दिया।

डॉक्टर समीर सिंह को बधाई व केंद्रीय नेतृत्व को धन्यवाद देने वालों में सारण जिला कांग्रेस कमिटी सोसल मीडिया व आईटी सेल के जिला अध्यक्ष नदीम अख्तर अंसारी, पूर्व जिला अध्यक्ष अनिल कुमार सिंह, प्रदेश प्रतिनिधि रविशंकर सिंह मुन्ना, सोसल मीडिया जिला उपाध्यक्ष फिरोज अहमद, मेराज आलम, अशशुददिन समस, मुमताज़ अंसारी मिनटु कुमार, रवि सिंह, आलोक कुमार, जावेद अहमद एजाज खान, इत्यादि प्रमुख हैं ।

swatva

Leave a Reply