23 सितंबर : सारण की मुख्य ख़बरें

0
chhapra news

 

विभिन्न गांव में संगम बाबा का जनसंपर्क अभियान जारी

सारण : छपरा, इसुआपुर विभिन्न गांवो में मुखिया संगम बाबा का लगातार डोर टू डोर जनसंपर्क जारी है। वहीं बुधवार को पानापुर के कोंध, रामपुर रुद्र, मोरिया, भोरहां समेत आधा दर्जन गांवों में मुखिया संगम बाबा ने डोर-टू-डोर जनसंपर्क किया। वहीं जनसम्पर्क के दौरान संगम बाबा ने बताया कि पानापुर की धरती बहूत ही ऐतहासिक धरती है, और हमेशा इतिहास रचती है, इस बार भी पानापुर की जनता इतिहास रचने के मिजाज में हैं। वहीं मंगलवार को कोंध पंचायत के बी. डी. सी. सदस्य मंसूर अंसारी के पिता शबीब अंसारी की अचानक मृत्यु हो गई जहाँ संगम बाबा ने पहूँच कर शोक व्यक्त किया। और कहा कि शबीब अंसारी बहूत ही नेक दिल इंसान थे। उनके जाने से गाँव का माहौल गमगीन है।

इसी दौरान इसुआपुर के रामचौरा पंचायत के बंगरा गाँव के लालू प्रसाद की पत्नी की बीते दिनों साँप के काटने से मृत्यु हो गई थी। परिजनों के बीच पहुँच मुखिया संगम बाबा ने लालू प्रसाद को आर्थिक मदद की। मौके पर मो० नाज, सहवाज अलाम, विवेक राय, अभिषेक सिंह, टूटू सिंह, अनुज सिंह, रॉकी सिंह, दीपक सिंह, आकाश सिंह, राजू सिंह, नीरज सिंह, चन्दन गुप्ता, अरविंद यादव, मुकेश राम, अभिजीत सिंह, विशाल यादव, प्रेमचंद कुमार, अम्बुज श्रीवास्तव, बिट्टू यादव, दिलीप यादव मौजूद थें।

रोटरी व रोटरेक्ट क्लब ने आयोजित की एक दिवसीय कबड्डी प्रतियोगिता

सारण : छपरा, रोटरी क्लब छपरा और रोटरेक्ट क्लब ऑफ छपरा सिटी के संयुक्त तत्वावधान में इसुआपुर के अटौली गांव में एक दिवसीय कबड्डी मैच का आयोजन किया गया जिसमें 6 टीमों ने हिस्सा लिया। मैच के फाइनल में टेढ़ा को हराकर बजरहीया की टीम ने ट्रॉफी पर कब्जा जमा लिया। मैच को देखने के लिए बड़ी संख्या में दर्शक भी अटौली मध्य विद्यालय के मैदान में मौजूद रहे।

मैच का उद्घाटन रोटरी क्लब के पास्ट प्रेसिडेंट वह कबड्डी संघ के प्रदेश सचिव सुरेश प्रसाद सिंह और समाजसेवी प्रमोद कुमार ओझा ने संयुक्त रूप से किया वहीं इस मौके पर बतौर मुख्य अतिथि रोटरी के वाइस प्रेसिडेंट सह रोट्रेक्ट के चेयरमैन अमरेंद्र कुमार सिंह मौजूद रहे। समारोह को संबोधित करते हुए सुरेश प्रसाद सिंह ने कबड्डी के महत्व पर प्रकाश डाला वहीं अमरेंद्र कुमार सिंह ने कहा कि खेल युवाओं में नई ऊर्जा का संचार करते हैं लिहाजा हर एक गांव में युवाओं के लिए खेल प्रतियोगिता का आयोजन होना चाहिए।

इस मौके पर रोटरेक्ट पास्ट प्रेसिडेंट आजाद खान ने भी खिलाड़ियों को संबोधित किया और कहा कि खेल के मैदान में खेल भावना का विकास होता है जो आगे चलकर खिलाड़ियों की जिंदगी में आगे बढ़ने में मदद करता है। प्रतियोगिता में शिरकत करने वाली टीमों में विजेता उपविजेता टीम के अलावे बिशनपुरा,चकहन नवादा और हकरपुर की टीम शामिल है।

विधायक सीएन गुप्ता के प्रयाशों से नहीं आया दोबारा बाढ़

सारण : छपरा, पिछले वर्षों में बाढ़ की विभीषिका इस क्षेत्र ने देखी है जिससे काफी क्षति हुई थी वह समस्या दोबारा न हो इसका निवारण काफी जरूरी था,जिसके लिए मैं प्रयासरत था और मेरा प्रयास सफल हो गया है। उक्त बातें कहीं छपरा विधायक डॉ सी एन गुप्ता ने मुकरेरा सोंधी नदी से नहर बांध तक पुल एवं पथ निर्माण के शिलान्यास करते हए विधायक ने कही।

उन्होंने कही कि इस मुद्दे को मैंने सदन में भी उठाया था काम करने का जो मैंने बीड़ा उठाया था वह आज पूरा होते हुए देखकर काफी खुशी हुई.ग्रामीण लोगों को इससे भविष्य में काफी लाभ मिलने वाला है यूं कहें कि बहुत बड़ी समस्या यहां से दूर होने वाली है सतत विकास का एजेंडा मेरा ऐसे ही जारी रहेगा.मैं धन्यवाद देता हूं माननीय मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार जी का उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी जी का ग्रामीण विकास मंत्री शैलेश कुमार जी,सारण के लोकप्रिय सांसद राजीव प्रताप रूडी जी का जिन्होंने गांववासियों के इस दिक्कत को समझा और मेरी मांग को अविलंब पूरा किया. केंद्र और राज्य सरकार विकास के कार्यों में लगातार प्रयासरत रहती है जिसका सीधे लाभ आमजन को मिलता है.इस दौरान राजेश फैशन,पूर्व भाजपा प्रवक्ता धर्मेंद्र सिंह चौहान, रिविलगंज प्रखंड प्रमुख राहुल राज,अभिनव सिंह, गामा सिंह समेत स्थानीय ग्रामीण मौजूद थे।

कुपोषण मिटाने के लिए पौष्टिक आहार के साथ-साथ टीकाकरण बेहद जरूरी

सारण : छपरा, समाज को कुपोषण से मुक्त करने के लिए 30 सितम्बर तक राष्ट्रीय पोषण माह मनाया जा रहा है। इस दौरान आंगनबाड़ी सेविका घर-घर जाकर यह संदेश दे रहीं है कि अपने बच्चों को दें प्यार और दुलार, कराएं संर्पूण टीकाकरण व नियमित वजन जांच कराएं और दें पौष्टिक आहार। कुपोषण मिटाने के लिए पौष्टिक आहार के साथ-साथ टीकाकरण भी बेहद जरूरी हो जाता है। इसको ध्यान में रखते हुए आरोग्य दिवस सत्र का आयोजन कर गर्भवती महिलाओं व बच्चों को टीका लगाया गया। आरोग्य दिवस पर प्रशिक्षित एएनएम के माध्यम से टीकाकरण का कार्य किया गया। शिशुओ का वजन मापा गया एवं टीकाकरण किया गया। हैण्डवॉश स्वच्छता के गुर भी बताए गये। इस का मुख्य उद्देश्य 0 से 6 वर्ष तक के बच्चों, किशोरियों, गर्भवती एवं धात्री माताओं के स्वास्थ्य एवं पोषण स्तर में सुधार लाना है। साथ ही 0-6 वर्ष के बच्चों में बौनापन से बचाव एवं इसमें कमी लाना, 0 से 6 वर्ष के बच्चों का अल्प पोषण से बचाव एवं इसमें कमी लाना है।

टीकाकरण से कई तरह की बीमारियों से होता है बचाव:

आईसीडीएस के जिला कार्यक्रम पदाधिकारी वंदना पांडेय ने बताया शिशुओं व गर्भवती महिलाओं के रूटीन इम्यूनाइजेशन उन्हें कई तरह की बीमारियों से बचाता है। इनमें कई बीमारियां शामिल है। टीकाकरण से बच्चों के शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाया जाता है ताकि उनके रोग से लड़ने की क्षमता विकसित हो सके। गर्भवती व नवजात को डिप्थीरिया से बचाने के लिए टीडी के दो टीके दिए जाते हैं। टीबी से बचाने के लिए बीसीजी, हेपेटाइटिस से बचाने के लिए हेप-बी, पोलियो से बचाव के लिए ओपीवी एवं आईपीवी, डिप्थीरिया, परट्यूसिस, टिटनेस, हेपेटाइटिस बी व हिमोफिलेस इंफ्लुएंजी से बचाव हेतु पेंटावेंट, डायरिया से बचाव हेतु रोटा वायरस का टीका, न्यूमोकोकस के संक्रमण से बचाव हेतु पीसीवी, खसरे व रुबेला से बचाव हेतु एमआर और जापानी बुखार से बचाव के लिए जेई का टीका लगाया जा रहा है।

व्यक्तिगत दूरी का रखा जा रहा ख्याल:

टीकाकरण के दौरान सभी स्वास्थ्य कर्मियों लाभार्थियों को कोविड-19 के संक्रमण से बचाव के लिए सुरक्षात्मक यथा सभी स्तर पर व्यक्तिगत दूरी, कम से कम 6 फीट की दूरी, मुंह को ढक कर रखने, हाथ धोने एवं स्वास्थ्य संबंधित दिशा निर्देशों का पालन किया जा रहा है।

लाभार्थियों को किया जा रहा है आमंत्रित:

पोषण अभियान के जिला सिद्धार्थ सिंह ने बताया प्रत्येक टीकाकरण सत्र के पूर्व सभी लक्षित लाभार्थियों को टीकाकरण सत्र स्थल समय की सूचना आशा एवं आंगनबाड़ी सेविकाओं के द्वारा दी जा रही है। लाभार्थियों को एक तय समय सारणी के अनुसार सत्र स्थल पर आने के लिए सूचित किया जा रहा है। ताकि किसी भी परिस्थिति में 5 से अधिक व्यक्ति एकत्र ना हो पाए। इसके साथ ही सत्र स्थल पर निश्चित दूरी पर घेरा का प्रतीक चिन्ह बना कर लाभार्थियों को रखा जा रहा है। लाभार्थी को लेकर आने वाले परिवार के सदस्य भी निश्चित रूप से अपने मुंह एवं नाक को कपड़े मास्क से ढककर आने के लिए प्रेरित कर रही है।

एनसीसी में नामांकन के लिए कराया फिजिकल जाँच

सारण : छपरा, 7 बिहार बटालियन के तत्वधान में शहर के जिला स्कूल छात्रों के लिए एनसीसी में नामांकन की प्रक्रिया के तहत शिशु पार्क में छात्रों का फिजिकल जांच कराया गया। जिसमें दौड़ हाई जंप लॉन्ग जंप तथा लिखित परीक्षा ली गई जिसके बाद छात्रों का नामांकन का रास्ता साफ हो गया वही मौके पर जिला स्कूल के एनसीसी 3 पदाधिकारी मनोज कुमार ने जानकारी दी।

मेयर के ख़िलाफ़ लाया गया अविश्वास प्रस्ताव हुआ पारित

सारण : छपरा, नगर निगम मेयर प्रिया देवी पर लाया गया अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के बाद पारित हो गया। अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में कुल 23 मत पड़े। जबकि प्रिया देवी के पक्ष में दो मत पड़े। वहीं चार मत रद्द कर दिया गया। प्राप्त जानकारी के अनुसार 45 सदस्यों में नगर निगम बोर्ड के 29 पार्षदों द्वारा महापौर प्रिया देवी पर अविश्वास प्रस्ताव लाया था। नगर निगम प्रशासन अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के लिए 22 सितम्बर की तिथि निर्धारित किया गया था। हालांकि 29 पार्षदों द्वारा मेयर प्रिया देवी के खिलाफ खुलकर पार्षदों की उपेक्षा करने तथा योजनाओं की चयन मे मनमानी का आरोप लगायागया था। निगम प्रशासन द्वारा निर्धारित समयानुसार नगर निगम के सभागार में बैठक का आयोजन हुआ जिसमें कुल 30 पार्षद ही उपस्थित रहे।

अविश्वास प्रस्तार पर चर्चा के बाद मत पत्र देने की प्रक्रिया का शुभारंभ हुआ। जिसमें अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में कुल 23 पार्षदों ने मत दिया। वहीं विपक्ष में मात्र दो मत प्राप्त हुए। जबकि चार मत पत्र को नियमानुकुल नहीं होने के कारण रद्द कर दिया गया। जबकि 15 वार्ड पार्षदों ने अपनी उपस्थिति ही दर्ज नहीं करा पाये। इस तरह महीनों से चल रहा अविश्वास प्रस्ताव का पटापेक्ष हो गया।

अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में जिन पार्षदों ने मतदान किया उनमें कृष्णा कुमार शर्मा, मुकेश कुमार विजय कुमार, फूल कुमारी देवी, विष्णु गुप्ता, अमिताजंलि सोनी, अनिल बैठा, शोभा देवी, मीरा देवी, संजीव रंजन, सरीता देवी, गायत्री देवी, मुन्ना अंसारी, योगेन्द्र भगत, अनिता देवी, उर्मिला देवी तथा प्राण कुमार चंद्रवंशी आदि प्रमुख थे। जबकि रामकांत सिंह डब्लू एवं उदय प्रताप सिंह ने प्रिया देवी के पक्ष में मत दिया। वहीं उप मेयर ने बोर्ड की अध्यक्षता की। नियमानुसार अध्यक्षता कर रहे पार्षद को वोट नहीं देने का प्रावधान है।

swatva

Leave a Reply