14 फ़रवरी : सारण की मुख्य ख़बरें

0
chhapra news

 इनरविल क्लब के 6 सदस्यीय बोर्ड का हुआ गठन

chhapra news सारण : इनरविल क्लब सारण के आगामी सत्र 20-21 के पदाधिकारी के चुनाव क्लब की संस्थापक एवं अध्यक्ष अनु जायसवाल की अध्यक्षता में सदस्य रीना गुप्ता के आवास पर सम्पन्न हुआ। एवं सत्र 20-21 के लिऐ 6 सदस्यीय बोर्ड का गठन किया गया।

जिसमे सभी सदस्यो ने सर्व सम्मति से क्लब की आगामी 20-21 की बागडोर रूपा गुप्ता को अध्यक्ष पद के लिए और पूर्व अध्यक्ष अनु जायसवाल, अनीता राज, उपाध्यक्ष, सुषमा गुप्ता, सचिव  तनु जायसवाल, कोषाध्यक्ष  शिल्पी कुमारी, ISO एवं अंजू फैशन को संपादक पद की जिम्मेवारी दी गई। इस बैठक मे क्लब की सभी सदस्यो ने उपस्थित होकर सफल बनाया, आगामी सत्र 20-21के सभी पदाधिकारीगण को ताली बजा कर बधाई एवं शुभकामनायें दी।

किसानों के लिए सहकारी प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन

chhapra news सारण : एकमा प्रखण्ड मुख्यालय अवस्थित व्यापार मंडल में किसानों के लिए सहकारी प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसका उद्घाटन दीप प्रज्वलित कर इफको के माहप्रबंधक वाई पीसिंह ने किया।

इस अवसर पर मिट्टी की जांच कराकर खेती करने की सलाह दी गई तथा जैविक उर्वरक के इस्तेमाल करने पर बल दिया। मौके पर सचिन प्रताप सिंह, अभिषेक कुमार सिंह, अनिल कुमार सिंह, दीपक कुमार सिंह, भरत सिंह, अमित कुमार, राजू कुमार, अमिटेश्वर सिंह आदि लोग मौजूद थे।

‘हमारा संविधान’ सेमिनार में शरीक होंगे पूर्व न्यायाधीश

chhapra news सारण : राहुल सांकृत्यायन विचार मंच द्वारा आयोजित होने वाले हमारा संविधान विषयक सेमिनार की तैयारी की समीक्षात्मक बैठक की गयी। मंच के अध्यक्ष राकेश रंजन की अध्यक्षता में बैठक  सम्पन्न हुई। बैठक को संबोधित करते हुए सचिव उमेश प्रसाद यादव ने यह जानकारी दिया कि सेमिनार में कम से कम 200 वुद्दिजिवियों एंव छात्र-नौजवान भाग लेगें।

इस सेमिनार के मुख्य वक्ता पटना उच्च न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश मा० राजेन्द्र प्रसाद ने आने की स्वीकृति दे दी है। इनके अलावा वीरेन्द्र नाथ मिश्रा और योगेश चन्द्र वर्मा, जो पटना उच्च न्यायालय के वरीय अधिवक्ता है, को भी इस संविधान चर्चा में आमंत्रित किया गया है।

उन्होंने, वरिष्ठ नागरिक कल्यान समिति के परिसर को सेमिनार स्थल के लिये प्रस्तावित किया जो सर्वसम्मत पारित किया गया। बैठक को सम्बोधित करते हुए मंच के कोषाध्यक्ष लक्ष्मण कुमार ने कहा कि आज के राजनैतिक परिवेश में संविधान पर चर्चा विल्कुल ही सामयिक है।केन्द्र सरकार ने जो मौजूदा कानून बनाये हैं, जिस पर पूरे देश में आन्दोलन चरम पर है, इसने भी अपने सविंधान को चर्चा के केन्द्र में ला दिया है।आज आवश्यकता है कि हर शिक्षित व्यक्ति को संविधान की मूल भावनाओं से अवगत कराया जाय। मंच के संरक्षक अहमद अली ने इस कार्यक्रम में नौजवानों को अधिक से अधिक जोड़ने पर बल देते हुए कहा कि भीमराव अम्बेडकर द्वारा रचित हमारे देश का संविधान समरसता , धर्मनिरपेक्षता और कौमी एकता का एक जलता हुआ चिराग है।

आज आवश्यकता है कि इसकी रौशानी को हम और प्रज्वलित करें। सेमिनार आयोजन के लिये मंच के सदस्यों को धन्यवाद देते हुए आग्रह भी किया कि ऐसे ही सामयिक विषयों पर चर्चाओं की एक श्रृंखला चलाएँ। बैठक को मुख्य रुप से कैलाश पंडित, रविकान्त जी, इन्साफ अली, व्रजकिशोर शर्मा, शैलेन्द्र यादव, शादाब मजहरी, शहजाद मजहरी, वीरेन्द्र सिंह, म० असगार अली, म० सलीम आदि ने भी सम्बोधित किया।

सीएए के समर्थन में चलाया गया हस्ताक्षर अभियान

chhapra news सारण : सदर प्रखण्ड के पूर्वी तेलपा, लोहरी एवं बदलु टोला पंचायत में भाजपा नेताओं ने नागरिकता संशोधन विधेयक के समर्थन में हस्ताक्षर अभियान चलाया। इस अवसर पर अपने संबोधन में पूर्व विधायक ज्ञानचन्द माँझी ने कहा कि इस विधेयक मे ऐसा कोई प्रावधान नहीं है कि किसी की नागरिकता को छीना जाए।

यह विधेयक केवल नागरिकता देने के लिए लाया गया है। विपक्ष द्वारा झुठा प्रचार कर लोगों को भ्रमित किया जा रहा है। इस अवसर पर तीनों पंचायतों मे कार्यकर्ता सम्मेलन किया गया साथ ही ग्रामीणों को नागरिकता संशोधन विधेयक की सच्चाई से अवगत कराया गया और समर्थन में हस्ताक्षर अभियान भी चलाया गया।

इस अवसर पर मुख्य रुप से जिला महामंत्री सह गरखा विधानसभा प्रभारी धर्मेन्द्र सिंह , प्रखण्ड अध्यक्ष हरेश्वर सिंह, अरुण यादव, डॉ लालबाबू राम, अवधेश पंडित, राज कशोर पंडित, सत्येंन्द्र सिंह, मनु प्रताप सिंह, पूर्व मुखिया रामविनोद सिंह, श्रवण राय, कृष्णा सिंह, प्रवीण कान्त सहित अनेक गणमान्य लोग उपस्थित थे।

अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाएंगे सभी शिक्षक

chhapra news सारण : बिहार शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति के आह्वान पर सोमवार से सभी शिक्षक अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाएंगे। सभी प्राथमिक तथा मध्य विद्यालय में तालाबंदी कर दी जाएगी। उक्त बातें चर्चित शिक्षक नेता जाहिर हुसैन अहमद ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान कही।

उन्होंने कहा कि सरकार जब तक सभी नियोजित शिक्षको को नियमित (सहायक) शिक्षको के समान सेवाशर्त तथा राज्यकर्मी का दर्जा नही देती है, तब तक हड़ताल जारी रहेगा। इसकी तैयारी को लेकर 14 फरवरी को दरियापुर बाजार स्थित मध्य विद्यालय में सभी शिक्षको की एक आवश्यक बैठक बुलाई गई है। जिसमे हड़ताल को लेकर योजना बनाई जाएगी।

वहीं शिक्षक नेता प्रमोद कुमार पप्पू ने कहा कि सभी कोटी के शिक्षको की चट्टानी एकता के कारण हड़ताल शत-प्रतिशत सफल होगा। शिक्षक नेता कुमार शैलेश ने भी सभी संघो को एक बैनर के तहत हड़ताल में शामिल होना ही शिक्षको की जीत बताया। इसके साथ ही शिक्षक नेता उपेन्द्र यादव ने भी इस हड़ताल को ऐतिहासिक बताते हुए कहा कि इस बार सभी संघो की एकजुटता ही शिक्षको की जीत की गारंटी दे रहा है। इस मौके पर कई अन्य संघ के नेतागण भी मौजूद थे।

कैस एप्लीकेशन से जुड़े एक लाख आंगनबाड़ी केंद्र

chhapra news सारण : अब जिले के आंगनबाड़ी सेविकाओं को रजिस्टर संभालने से मुक्ति मिल गई है। पहले उन्हें 11 रजिस्टरों को मैनुअली भरना होता था। लेकिन अब 11 रजिस्टरों में 10 रजिस्टरों को ऑनलाइन ऑनलाइन कर दिया गया है। इसके लिए राज्य के 1 लाख से अधिक आंगनबाड़ी सेविकाओं को आईसीडीएस-कैस (कॉमन एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर) एप्लीकेशन के साथ स्मार्टफोन दिए गए हैं। साथ ही एप्लीकेशन के इस्तेमाल में आने वाली समस्याओं को सुलझाने के लिए राज्य के साथ सभी जिलों में हेल्प डेस्क का निर्माण भी किया गया है।

राज्य से लेकर प्रखंड स्तर पर बनाये गए हेल्पडेस्क :

पोषण अभियान के सलाहकार मंत्रेश्वर झा ने बताया पोषण अभियान के तहत प्रदान की जाने वाली सभी सुविधाओं में गुणवत्ता लाने के मकसद से राज्य के सभी जिलों के आंगनबाड़ी केन्द्रों को कैस एप्लीकेशन के साथ जोड़ा गया है। इसके लिए राज्य के 1 लाख से अधिक आंगनबाड़ी सेविकाओं को कैस एप्लीकेशन इन्सटाल्ड स्मार्टफोन दिए गए हैं। नयी एप्लीकेशन होने के कारण एप्लीकेशन के इस्तेमाल में तकनीकी समस्याएँ संभावित है। इसको लेकर राज्य में 4 हेल्प डेस्क एवं सभी जिलों सहित प्रखंडों पर हेल्प डेस्क बनाये गए हैं।  इनकी सहायता से एप्लीकेशन इस्तेमाल में आने वाले किसी भी तकनीकी समस्याओं को सुलझाया जाएगा।

तकनीकी समस्या की रियल टाइम होगी ट्रैकिंग :

आईसीडीएस के डीपीओ वंदना पांडेय ने बताया कि कैस एप्लीकेशन में किसी भी तरह की तकनीकी समस्या होने पर आंगनबाड़ी सेविकाएँ समस्या को प्रखंड स्तर पर निर्मित हेल्प डेस्क को ऑनलाइन जानकारी देगी। प्रखंड स्तर पर निर्मित हेल्प डेस्क इस समस्या को सुलझाएंगे। प्रखंड स्तर पर समस्या का प्रबंधन नहीं होने पर इसे जिला स्तरीय हेल्प डेस्क को भेज दिया जाएगा। डिस्ट्रिक्ट स्तर पर बने हेल्प डेस्क फिर समस्या का निदान करेंगे। जटिल समस्या होने पर इसे राज्य स्तरीय हेल्प डेस्क को भेजने की भी व्यवस्था बनायी गयी है। इस तरह कैस एप्लीकेशन की तकनीकी समस्या की रियल टाइम ट्रैकिंग कर इसका समाधान किया जाएगा।

कैस एप्लीकेशन कार्यकर्ता के साथ लाभार्थी को करेगा अलर्ट :

कैस एप्लीकेशन आईसीडीएस सुविधाओं के सही समय पर प्रदायगी को लेकर भी आंगनबाड़ी सेविका के साथ संबंधित लाभार्थी को मेसेज के जरिए अलर्ट भेजेगा। जैसे यदि किसी बच्चे का टीकाकरण का समय होगा तब कैस एप्लीकेशन मेसेज भेजकर इसकी जानकारी आंगनबाड़ी सेविका के साथ लाभार्थी को भी देगा। इस तरह आईसीडीएस के तहत प्रदान की जाने वाली सभी सुविधाओं की सही समय पर जानकारी लाभार्थी को भी मिल सकेगी।

कैस एप्लीकेशन के फ़ायदे :

  • ऑनलाइन रजिस्टर भरने से सेविकाओं के समय में बचत होगी
  • इससे आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं पर कार्य का बोझ कमेगा
  • इससे रियल टाइम प्रबंधन आसन हो सकेगा
  • लाभार्थियों की ऑटोमेटिक ड्यु लिस्टिंग हो सकेगी
  • शत-प्रतिशत सेवाओं का कवरेज सुनिश्चित हो सकेगा

Leave a Reply