11 अगस्त : सारण की मुख्य ख़बरें

0
chhapra news

डीएम ने अधिकारियों के साथ बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का किया दौरा

सारण : जिलाधिकारी सुब्रत कुमार सेन पुलिस अधीक्षक हर किशोर राय तथा सदर एसडीओ अभिलाषा शर्मा के टीम में जिले के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया इस दौरान चलाए जा रहे रसोई व सरकार के द्वारा की गई व्यवस्थाओं का जायजा लिया। मौके पर कई सुविधाओं को लेकर अंचल अधिकारियों को निर्देश दी। इसी क्रम में उन्होंने यह भी बताया कि जिले के मढौरा मशरख अमनौर परसा सहित कई क्षेत्रों के बाढ़ से प्रभावित लगभग 30000 परिवारों को 6000 प्रति परिवार के दर से सहायता राशि लगभग ₹18 करोड़ रुपया पीड़ित परिवारों को दी गई। साथ ही उन्होंने जिला प्रशासन के द्वारा लगाए गए एनडीआरएफ की टीम नाव वह अधिकारियों की प्रतिनियुक्ति के बारे में भी बताया। उन्होंने यह भी बताया कि बाढ़ पीड़ितों के लिए प्रखंड स्तर पर हेल्पलाइन नंबर जारी की गई है जिससे पीड़ित कॉल कर सुविधा ले सकते हैं।

जय प्रकाश विश्विद्यालय परिसर में किया गया पौधरोपण

सारण : प्रकृति की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए एवं पर्यावरण को बढ़ावा देने के उद्देश्य से जय प्रकाश विश्वविद्यालय परिसर में वृक्षारोपण किया गया, अमनौर विधायक शत्रुघ्न तिवारी उर्फ चोकर बाबा ने बताया कि पूरे माह वृक्षारोपण का कार्यक्रम किया जाएगा, जिससे प्रकृति और पर्यावरण के बीच संतुलन बना रहे, मौके पर मुख्य रूप से भाजपा के जिलाध्यक्ष रामदयाल शर्मा, भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के जिलाध्यक्ष सरदार राजू सिंह, व्यापार प्रकोष्ठ के तरफ से आदित्य अग्रवाल, आई टी सेल के जिला संयोजक निशांत राज,अधिवक्ता गंगोत्री प्रसाद, अधिवक्ता दीन दयाल कुमार,संतोष ब्याहुत, राकेश सिंह सहित विश्वविद्यालय के कर्मी उपस्थित रहे।

बाढ़ प्रभावित लोगों के बीच खाद्य सामग्री का किया गया वितरण

सारण : दरियापुर प्रखंड के महमदपुर मुस्लिम टोला के पास और ककरहट पंचायत के गांव में बाढ़ से प्रभावित लोगों के बीच सांसद राजीव प्रताप रुडी के निर्देश पर भाजपा नेता सांसद प्रतिनिधि राकेश कुमार सिंह के द्वारा बाढ़ के पानी में गांव में जाकर पानी में राहत सामग्री चूड़ा मीठा साबुन बिस्कुट आदि का वितरण दरियापुर पूर्वी मंडल अध्यक्ष रामानंद सिंह की अध्यक्षता में हुआ।

कोई गरीब भूखा नहीं रहने के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आह्वान पर कोरोना महामारी या बाढ़ से प्रभावित लोगों के बीच खाद्य सामग्री का आज वितरण हुआ इस मौके पर पैक्स अध्यक्ष नागेन्द्र सिंह, महामंत्री रंजीत ओझा, उपाध्यक्ष मुकेश सिंह, युवा मोर्चा धनंजय चौबे, अल्पसंख्यक मोर्चा पप्पू खान, अनुसूचित जनजाति मोर्चा जवाहर शर्मा, चँदन सिंह, सोनू सिंह, रविन्द्र राय, सोनू कुमार, आईटी सेल मोनू सिंह, सुमंत बाबा, बीरेंदर मल बालकृष्ण शर्मा, राजेश, आदि लोग उपस्थित रहे।

ज्ञातृ हो कि भाजपा नेता राकेश कुमार सिंह हमेसा सामाजिक कार्यो में लगे रहते हैं इससे पहले भी बाढ़ प्रभावित लोगों से मिल कर उनके समस्या का समाधान करा रहे हैं वही सांसद राजीव प्रताप रूडी जी भी जिला अधिकारी और अपदा विभाग के प्रधान सचिव पर्त्य अमृत से रोज बात कर जानकारी ले रहे है और भाजपा कार्यकर्ता को भी लोगो के घर जाकर मदद करने के बोल रहे हैं और जमीन पर भी दिख रहा है वहीं भाजपा नेता राकेश सिंह ने बताया कि जिलाध्यक्ष रामदयाल शर्मा भी इस आपदा में कार्यकर्ताओं से लगातार संपर्क में है और लोगो को मदद करने के लिए आग्रह कर रहे हैं सभी ग्रामीणों ने इस कार्य के लिए सांसद राजीव प्रताप रूडी के साथ साथ भाजपा नेता राकेश सिंह को भी धन्यवाद दिया।

पानी के तेज़ बहाव में बही सड़क, कई गांव में बाढ़ का खतरा गहराया

सारण : अमनौर प्रखंड के रायपुरा पंचायत अंतर्गत महरुआ गांव में रायपुरा-रसूलपुर को जोड़ने वाली सड़क पानी के तेज बहाव में बह गई है। साथ ही नहर भी 15 फीट तक टूट चुकी है। पानी इस कदर बढ़ रहा है कि 1 से 2 दिनों में पूरा गड़खा प्रखंड बाढ़ की चपेट में आ सकता है। पानी के बहाव काफी तेज होने के कारण ग्रामीणों को गांव से उचित स्थान पर जाने में काफी परेशानी हो रही थी। लोगों ने सीओ एवं जनप्रतिनिधियों को सूचना दिया, परंतु कोई भी मदद को आगे नहीं आया। ऐसे में ग्रामीणों ने खुद चंदा इकट्ठा करके रस्सी खरीद कर सड़क के दोनों तरफ बांधकर सैकड़ों युवक खड़े हैं। जिससे राजगीर महिलाएं बच्चे सड़क पार कर रहे हैं।

महरुआ में सड़क और नहर टूट जाने के बाद दर्जनों गांव के आवागमन बाधित हो चुकी है। परंतु अमनौर सीओ,बीडीओ तथा स्थानीय जनप्रतिनिधियों द्वारा किसी प्रकार की राहत मुहैया नहीं कराई गई।यहां तक कि बेघर बाढ़ पीडि़तों की भोजन तक की व्यवस्था नहीं की गई। इससे नाराज ग्रामीणों ने जिला प्रशासन, अमनौर सीओ, बीडीओ और विधायक के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। जय प्रकाश सिंह, विश्व मोहन सिंह, संतोष सिंह, वकील सिंह,बृजनाथ सिंह,सनी प्रकाश अनीता देवी दीपक महतो, विनोद महतो अशोक महतो सरिखन महतो, अनिल कुमार महिपाल महतो आदि ने बताया कि प्रशासन को पहले से ही सूचना दिया गया परंतु कोई व्यवस्था नहीं कराई गई। जिस कारण सड़क और नहर टूट गई। फिर भी सूचना देने के बाद अभी भी कोई आने को तैयार नहीं है। सडक टूटने से चैनपुर,बेडवलिया, डुमरिया बांसडीह मदारपुर लहेर छपरा मलाही, रसूलपुर समेत दर्जनों गांव के लोगों को अस्पताल एवं जिला मुख्यालय से संपर्क टूट चुका है। ग्रामीणों की काफी परेशानी बढ़ गई है।

मोबाइल लूट में दो आरोपी गिरफ़्तार

सारण : मोबाइल लूटने के दो आरोपियों को मांझी थाना की पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। जिसमें दाउदपुर थाना क्षेत्र मोबाइल लूटने के मामले में फरार थे। गिरफ्तार दोनों अपराधियों के पास से पुलिस ने मोबाइल बरामद कर लिया है। गिरफ्तार किए गए तीनों अपराधियों को जेल भेज दिया गया। गिरफ्तार दोनों अपराधी मांझी थाना क्षेत्र के जयपुर गांव निवासी अंकुर श्रीवास्तव तथा सूरज बरनवाल है।

होम आइसोलेशन में बरते सावधानी, लापरवाही से बढ़ सकती है परिजनों की परेशानी

सारण : कोविड-19 के बहुत हल्के या बिना लक्षण वाले उपचाराधीन और उनकी देखभाल करने वाले व्यक्ति को होम आइसोलेशन के दौरान कुछ खास सावधानी बरतनी चाहिए ताकि वह जल्द से जल्द कोरोना को मात दे सकें । होम आईसोलेशन का अर्थ यह नहीं है कि आप पूरी तरह सुरक्षित हैं. इस दौरान भी चिकित्सकीय सलाह के पालन करने के साथ सतर्कता बरतनी जरुरी है. किसी भी तरह की लापरवाही आपके साथ घर वालों को भी खतरे में डाल सकता है । कोरोना संक्रमण बढ़ता जा रहा है। ऐसे में यदि घर पर कोई व्यक्ति संक्रमित है तो परेशान होने या घबराने की जरूरत नहीं है। थोड़ी सी सावधानी बरतें और खानपान पर ध्यान दें तो मरीज भी जल्दी स्वस्थ होगा और परिवार के अन्य सदस्य भी सुरक्षित रहेंगे।

उपचाराधीन व्यक्ति के साथ-साथ परिवार के लोग भी सकारात्मक सोंच रखें:

प्रभारी सिविल सर्जन डॉ. अजय कुमार शर्मा ने बताया कि घर के सदस्य कोविड उपचाराधीन व्यक्ति की सोच को सकारात्मक रखने में मदद करें तथा परिवार के लोग स्वयं भी सकारात्मक रहें। उसके साथ सहानुभूति रखें और बताएं कि यह किसी को भी हो सकता है। घर के सभी सदस्य दोबारा उपयोग में लाए जाने वाले सूती कपड़े के तीन लेयर वाले मास्क का उपयोग करें और संक्रमित से 6 फीट की दूरी बनाकर रखें। अगर किसी को उपचाराधीन व्यक्ति के पास जाना है तो बगैर मास्क के न जाएं। उपचाराधीन और तीमारदार तीन लेयर वाले मेडिकल मास्क का प्रयोग करें। मास्क को निश्चित समय के बाद 1 फीसद हाइपोक्लोराइड के घोल में डुबोकर बंद डस्टबिन में डाल दें। उपचाराधीन को गंभीर बीमारियों से ग्रस्त व्यक्तियों, बुजुर्गों, गर्भवती महिलाओं एवं छोटे बच्चों के संपर्क में नहीं आना है। उन्होंने बताया कि परिवार के सदस्यों को सतर्क रहना बहुत जरूरी है।

नियमित रूप से हाइपोक्लोराइड के घोल से करें सफाई:

घर के सभी ऐसी जगह, सतह और चीजें जो बार-बार छुई जाती हैं उन्हें भी नियमित रूप से हाइपोक्लोराइड के घोल से पोछकर विसंक्रमित करें। इसके अलावा उपचाराधीन व्यक्ति और परिवार के सदस्यों को संतुलित और प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाले भोज्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए। इसमें आप विटामिन सी युक्त फल, हरी पत्तेदार सब्जियां, हल्दी वाला दूध, मौसमी फल व सब्जियां आदि ले सकते हैं। जहां तक संभव हो घर के सभी सदस्य गुनगुने पानी का उपयोग करें। गुनगुने पानी में नींबू का रस मिलाकर उसका सेवन करें।

अपने स्वास्थ्य की नियमित निगरानी रखें:

होम आईसोलेशन में रहने वाले उपाचाराधीन व्यक्तियों को अपनी स्वास्थ्य की निगरानी करते रहना चाहिए। हल्का बुखार है तो डॉक्टर को बताएं। घर पर पल्स ऑक्सीमीटर, थर्मामीटर, मास्क, ग्लव्स, प्रतिरक्षा क्षमता बढ़ाने वाली वस्तुएं रखें। संक्रमित का दिन में दो बार ऑक्सीजन सेचुरेशन लेवल और तापमान लेना है। कोविड उपचाराधीन मरीज एवं तीमारदार अपने स्वास्थ्य की नियमित निगरानी की जिम्मेदारी लेते हुए स्वास्थ्य कर्मियों को इसकी नियमित सूचना देते रहें.

टेली मेडिसीन की मिलेगी सुविधा:

आशा कार्यकर्ता मरीज एवं उनके परिजनों को टेली मेडिसीन की सुविधा उपलब्ध कराएगी। घर बैठे 8010111213 पर मिस्ड कॉल देकर चिकित्सीय सलाह प्राप्त कर सकते हैं। 102 नंबर पर कॉल कर एंबुलेंस की सुविधा प्राप्त कर सकते हैं। 104 नंबर पर कॉल कर चिकित्सीय परामर्श प्राप्त कर सकते हैं।

मरीजों से बात करेंगे चिकित्सक:

होम आइसोलेशन में रहने वाले मरीजों के स्वास्थ्य की देखभाल प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के चिकित्सक प्रतिदिन दूरभाष के माध्यम से कर रहे है। मरीजों का हालचाल जानने के बाद चिकित्सीय सुविधा उपलब्ध कराया गया है।

होम आइसोलेशन की शर्ते:

• घर में होम आइसोलेशन की सुविधा उपलब्ध हो।
• दो कमरा और दो शौचालय होना चाहिए।
• नियमित रूप से अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखना होगा।
• कोरोना से संबंधित किसी भी प्रकार का लक्षण आने पर नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र से संपर्क करना होगा। ताकि इलाज की समुचित व्यवस्था की जा सके।
• सैंपल देने के दस दिनों बाद होम आइसोलेशन समाप्त हो जाएगा। बशर्ते उनमें कोरोना का कोई लक्षण नहीं हो।
• होम आइसोलेशन में रह रहे व्यक्ति को निर्धारित प्रपत्र में एक घोषणा पत्र जिलाधिकारी को देना होगा।

स्वयंसेवी संस्थाओं ने बाढ़ पीड़ितों के बीच खाद्य सामग्री का किया वितरण

सारण : भारतीय जनता पार्टी की जिला अध्यक्ष रामदयाल शर्मा की अध्यक्षता में स्वयंसेवी संस्थाओं ने बाढ़ पीड़ितों के लिए चिउरा मीठा तथा अन्य जरूरतमंद सामानों के लगभग 1500 पैकेट का वितरण किया। खाद्य सामग्रियों का वितरण जिले के मकेर थाना क्षेत्र के आसपास के बाढ़ से प्रभावित मुसहर टोला भटोली थाना के पास लगे कैंप सहित कई स्थानों को चिन्हित कर बाढ़ पीड़ितों की मदद की गई। वही इस कार्यक्रम में जिला के वरीय नेता अरुण सिंह महिला मोर्चा की जिला महिला मोर्चा अध्यक्ष अनु सिंह मंडल अध्यक्ष सुचीत साह रंजीत शर्मा मीरा शर्मा लाइंस लियो से कुवंर और कबीर का महत्वपूर्ण भूमिका रही।

swatva

Leave a Reply